नीतीश कुमार ने दिल्ली में प्रदूषण के लिए आसपास के राज्यों को जिम्मेदार ठहराया

नीतीश कुमार ने साफ लहजे में कहा कि इसमें कोई शक नहीं है कि दिल्ली में प्रदूषण की स्थिति पड़ोसी राज्यों के कारण हुई हैं।
नीतीश कुमार
नीतीश कुमारWikimedia

दिल्ली (Delhi) में प्रदूषण (Pollution) के मामले में चल रही बयानबाजी में शनिवार को बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) भी कूद गए हैं। नीतीश कुमार ने साफ लहजे में कहा कि इसमें कोई शक नहीं है कि दिल्ली में प्रदूषण की स्थिति पड़ोसी राज्यों के कारण हुई हैं।

पटना (Patna) में एक कार्यक्रम में भाग लेने पहुंचे मुख्यमंत्री से जब पत्रकारों ने दिल्ली में प्रदूषण को लेकर एक प्रश्न पूछा तब उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में हवा की गुणवत्ता में गिरावट मुख्य रूप से पड़ोसी राज्यों के कारण हैं।

नीतीश कुमार
Congress में फिर हुई G-23 की अनदेखी

उन्होंने कहा कि हम सभी जगह लोगों को इसके लिए अलर्ट करते रहते हैं। वर्ष 2018 से ही हम पराली नहीं जलाने के लिए लोगों को समझाते आ रहे हैं। इस बार भी हमने लोगों को पराली न जलाने की सलाह दी हैं।

उन्होंने कहा कि दिल्ली में जो प्रदूषण बढ़ रहा है वह आसपास के क्षेत्रों के कारण हो रहा है, सभी को समझने की जरूरत हैं।

उल्लेखनीय है कि राष्ट्रीय राजधानी में जहरीली हवा ने वायु गुणवत्ता सूचकांक को बहुत गंभीर श्रेणी में पहुंचा दिया है। शनिवार को एक्यूआई 400 के पास पहुंच गया जो कि प्रदूषण का खतरनाक स्तर माना जाता हैं। इस दौरान अब लोगों को आंखों में जलन, सांस लेने में दिक्कत जैसी अन्य समस्याएं भी हो रही हैं।

दिल्ली में प्रदूषण की स्थिति
दिल्ली में प्रदूषण की स्थितिWikimedia

प्रदूषण का स्तर लगातार बढ़ रहा हैं और राजधानी दिल्ली से सटे हुए इलाके यानी नोएडा (Noida) में लोगो का जीना दूभर हो चला है। लगातार बढ़ते हुए दमघोंटू हवा के चलते अस्थमा और आंखों में चुभन जैसी शिकायतें लेकर लोग अस्पतालों में आ रहे हैं। वहीं दूसरी तरफ लोगों का इस धुंध भरी जहरीली हवा में घर से बाहर निकल पाने में काफी जद्दोजहद करनी पड़ रही है।

आईएएनएस/PT

Related Stories

No stories found.
hindi.newsgram.com