1275 रेलवे स्टेशनों के नवीनीकरण और 7000 किलोमीटर ट्रैक का लक्ष्य:अश्विनी (Wikimedia Commons)

1275 रेलवे स्टेशनों के नवीनीकरण और 7000 किलोमीटर ट्रैक का लक्ष्य:अश्विनी (Wikimedia Commons)

अश्विनी वैष्णव

1275 रेलवे स्टेशनों के नवीनीकरण और 7000 किलोमीटर ट्रैक का लक्ष्य

रेल मंत्रालय ने 1275 रेलवे स्टेशनों के नवीनीकरण और अगले साल के लिए 7000 किलोमीटर में न्यू लाइन, डबलिंग में और गेज कन्वर्जन में, नई पटरियां बिछाने का लक्ष्य तय किया है।

न्यूज़ग्राम हिंदी: रेल मंत्रालय ने 1275 रेलवे स्टेशनों के नवीनीकरण और अगले साल के लिए 7000 किलोमीटर में न्यू लाइन, डबलिंग में और गेज कन्वर्जन में, नई पटरियां बिछाने का लक्ष्य तय किया है।

केंद्रीय रेलमंत्री अश्विनी वैष्णव(Ashwini Vaishnav) ने शुक्रवार को कहा कि अमृत भारत स्टेशन स्कीम के अंतर्गत 1275 रेलवे स्टेशनों के नवीनीकरण का काम किया जायेगा। इसके साथ ही उन्होंने कहा, 48 स्टेशन को हम डबलप कर रहें है जिसकी थीम है विकास भी विरासत भी प्रधानमंत्री मोदी जी की सोच को साथ लेकर चल रहे हैं।

वहीं वन स्टेशन वन प्रोडक्ट योजना के अंतर्गत अब तक 550 स्टेशन्स पर 594 स्टॉल लग चुके हैं। इस साल इस नंबर को 750 स्टेशन तक लेकर जाना है।

इसके साथ ही पिछ्ले एक साल (2022-2023) में 4500 किलोमीटर में न्यू लाइन, डबलिंग में और गेज कन्वर्जन में, नई पटरियां बिछाने का टारगेट तय किया गया था। जिसे पूरा कर लिया जाएगा। वहीं अगले साल के लिए 7000 किमी का लक्ष्य रखा है।

<div class="paragraphs"><p>1275 रेलवे स्टेशनों के नवीनीकरण और 7000 किलोमीटर ट्रैक का लक्ष्य:अश्विनी (Wikimedia Commons)</p></div>

1275 रेलवे स्टेशनों के नवीनीकरण और 7000 किलोमीटर ट्रैक का लक्ष्य:अश्विनी (Wikimedia Commons)

 रेल मंत्रालय



उन्होंने कहा, हम टिकट बुक करने की प्रणाली में भी काम कर रहे हैं। अभी 25,000 प्रति मिनट टिकट बुक करने की क्षमता है, जिसे हम 2.25 लाख तक ले जाएंगे।

अश्विनी वैष्णव ने शुक्रवार को प्रेसवार्त कहा कि रेलवे के लिए एक रिकॉर्ड एलोकेशन इस साल के बजट में किया गया है, वो इसके लिए प्रधानमंत्री और वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण को धन्यवाद देना चाहते हैं कि रेलवे की इन्वेस्टमेंट की रिक्वायरमेंट को पूरा किया गया है।

<div class="paragraphs"><p>1275 रेलवे स्टेशनों के नवीनीकरण और 7000 किलोमीटर ट्रैक का लक्ष्य:अश्विनी (Wikimedia Commons)</p></div>
भारत बनाता है दुनिया का दूसरा सबसे शक्तिशाली रेल इंजन



उन्होनें कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने एक बहुत अच्छा कांसेप्ट दिया है कि हम स्टेशन पर जन सुविधा के लिए कोई ऐसी फैसिलिटी क्रिएट करें जिसमें डे टू डे की चीजें उपलब्ध हों, कुल 2000 स्टेशनों पर इसको क्रिएट किया जाएगा। इससे रेल से सफर करने वाले यात्रियों के लिए जन सुविधा केंद्र से जरूरत का सामान आसानी से उपलब्ध हो जाता है।

उन्होंने कहा, वंदे भारत ट्रेन की तर्ज पर वंदे मेट्रो का कॉन्सेप्ट बहुत ही अच्छा है जिसमें सिटीजंस के लिए एक अच्छी फैसिलिटी क्रिएट हो जाएगी जो कम कॉस्ट में सुगम तरीके से एक कंफरटेबल फैसिलिटी होगी।

--आईएएनएस/VS

logo
hindi.newsgram.com