समुद्री तटों से पीएम मोदी के जन्मदिन तक 1,500 टन कचरा हटाने का रखा लक्ष्य

17 सितम्बर 2022 तक समुद्र तटों से 1,500 टन कचरा हटाने का लक्ष्य रखा गया है।
समुद्री तटों से पीएम मोदी के जन्मदिन तक 1,500 टन कचरा हटाने का रखा लक्ष्य
समुद्री तटों से पीएम मोदी के जन्मदिन तक 1,500 टन कचरा हटाने का रखा लक्ष्यIANS

वरिष्ठ सार्वजनिक हस्तियों, फिल्मी हस्तियों, छात्रों और जीवन के सभी क्षेत्रों के लोग अखिल भारतीय तटीय सफाई अभियान में हिस्सा ले रहे हैं। 17 सितम्बर 2022 तक समुद्र तटों से 1,500 टन कचरा हटाने का लक्ष्य रखा गया है। 17 सितम्बर को संयोग से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का जन्मदिन भी है। यह दिन देश में 'सेवा दिवस' के रूप में मनाया जाता है।

केन्द्रीय विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय के मुताबिक 75-दिवसीय इस तटीय सफाई अभियान के पहले 20 दिनों के दौरान 200 टन से अधिक कचरा, मुख्य रूप से सिंगल यूज प्लास्टिक, समुद्र तटों से हटा दिया गया है। 24 राज्यों के 52000 से अधिक स्वयंसेवकों ने 'स्वच्छ सागर, सुरक्षित सागर' के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए 5 जुलाई, 2022 को शुरू किए गए 75-दिवसीय अभियान के लिए पंजीकरण कराया है। इसका समापन 17 सितम्बर 2022 को 'अंतर्राष्ट्रीय तटीय सफाई दिवस' पर होगा।

केन्द्रीय विज्ञान और प्रौद्योगिकी राज्य मंत्री डॉ. जितेन्द्र सिंह इस सफाई मिशन को और बढ़ावा देने के लिए रविवार को एक समर्पित वेबसाइट लॉन्च की। डॉ. सिंह ने देश के युवाओं को समर्पित अभियान लोगो-वासुकी भी लॉन्च किया, क्योंकि स्कूली छात्र तटीय और समुद्र तट की सफाई गतिविधियों में शामिल हो रहे हैं।

अपनी तरह के अब तक के अब तक के इस सबसे लंबे अभियान की प्रगति के बारे में जानकारी देते हुए डॉ. जितेन्द्र सिंह ने कहा कि यह अभियान 'संपूर्ण सरकार' ²ष्टिकोण के मॉडल पर तैयार किया गया है, जिसे अक्सर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा दोहराया जाता है।

उन्होंने कहा कि इसे क्रियान्वित करने वाले पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के अतिरिक्त, पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय, जल शक्ति, स्वास्थ्य और परिवार कल्याण, मत्स्य पालन, पशुपालन और डेयरी, विदेश और सूचना और प्रसारण मंत्रालय इस अभियान में सक्रिय रूप से भाग ले रहे हैं। उन्होंने यह भी कहा कि कई मंत्रियों और सांसदों ने विश्व में अपनी तरह के पहले और सबसे लंबे समय तक चलने वाले तटीय सफाई अभियान को पूरा समर्थन देने का वादा किया है।

डॉ. जितेन्द्र सिंह ने बताया कि केन्द्रीय पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्री भूपेंद्र यादव ने पुदुचेरी के उपराज्यपाल डॉ. तमिलसाई सुंदरराजन और पुदुचेरी के मुख्यमंत्री एन रंगास्वामी के साथ समुद्र तट की सफाई और जागरूकता अभियान का नेतृत्व किया था।

समुद्री तटों से पीएम मोदी के जन्मदिन तक 1,500 टन कचरा हटाने का रखा लक्ष्य
भ्रष्टाचार मामलों में बढ़ रही सरकारी कर्मचारियों की संख्या

प्रोमेनेड तट पर अभियान को स्कूली बच्चों और समुद्र तट उपयोगकतार्ओं द्वारा अंग्रेजी और तमिल में 'आई एम सेविंग माई बीच' पर शपथ लेने के द्वारा चिन्हित किया गया था। इसके बाद इस अवसर पर आयोजित चित्रकला प्रतियोगिता के लिए पुरस्कार वितरण किया गया। गणमान्य व्यक्तियों ने 100 स्कूली छात्रों, साइकिल चालकों द्वारा वॉकथॉन और 'कनेक्टिंग विद द ओशन' पर एक बेड़े को झंडी दिखाकर रवाना किया।

डॉ. जितेन्द्र सिंह ने दोहराया कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने स्वच्छता अभियान में अग्रणी भूमिका निभाई है और पूरे देश को भारत की 7500 किलोमीटर लंबी तटीय रेखा को मानव जाति के लिए स्वच्छ, सुरक्षित और स्वस्थ रखने के लिए प्रेरित किया है।

(आईएएनएस/AV)

Related Stories

No stories found.
hindi.newsgram.com