Never miss a story

Get subscribed to our newsletter


×
मनोरंजन

2020 के ओटीटी सिनेमा जगत के बड़े नाम जिन्होंने जीता सबका दिल

बॉलीवुड हमेशा से बड़े नामों और सरनेम से चलता आ रहा है, लेकिन इस साल चीजें कुछ अलग रही हैं। जैसा कि 2020 समाप्त होने वाला है, आप नोटिस करेंगे कि यह वर्ष उनलोगों के लिए शानदार रहा, जो एक बड़े पृष्ठभूमि से नहीं आते हैं।

भारत में राजनीति और बॉलीवुड एक फेनोमेना है। लोगों के मन पर इसका प्रभाव कई गुना बढ़ता जा रहा है। (सोशल मीडिया)

बॉलीवुड हमेशा से बड़े नामों और सरनेम से चलता आ रहा है, लेकिन इस साल चीजें कुछ अलग रही हैं। जैसा कि 2020 समाप्त होने वाला है, आप नोटिस करेंगे कि यह वर्ष उनलोगों के लिए शानदार रहा, जो एक बड़े पृष्ठभूमि से नहीं आते हैं। चकाचौंध से दूर, यह एक ऐसा साल रहा है, जब कई छुपे रूस्तमों ने शोबीज में अपना नाम कमाया। इसका का एक बड़ा कारण ओटीटी का आगमन है, एक ऐसा डोमेन जो सभी के लिए समान अवसर मुहैया कराता है।

आईएएनएस ने उन नामों को सूचीबद्ध किया है

प्रतीक गांधी : हंसल मेहता की जीवनी पर आधारित ड्रामा , ‘स्कैम 1992: द हर्षद मेहता स्टोरी’ में उन्होंने शानदार काम किया और शो ने उनके करियर ग्राफ को ऊंचा कर दिया है। जब हर्षद मेहता की बायो-सीरीज रिलीज हुई तब गुजराती स्क्रीन और स्टेज पर प्रतीक अपनी पहचान बना रहे थे। उन्होंने आईएएनएस को बताया कि 2020 निश्चित रूप से उनके लिए एक गेमचेंजर रहा है।


उन्होंने कहा, “इस (श्रृंखला) ने मुझे बहुत सारी चीजें दीं और मैं इस तथ्य को पचाने की कोशिश कर रहा हूं कि शो के बाद जो हो रहा है वह वास्तविक है। इस पूरे साल 2020 ने मुझे व्यक्तिगत स्तर पर बहुत सारी चीजें सिखाई हैं।”

जितेन्द्र कुमार: 2020 उनके लिए गेमचेंजर साबित हुआ। उन्होंने फरवरी में रिलीज ‘शुभ मंगल ज्यादा सावधान’ में आयुष्मान खुराना की ऑन-स्क्रीन समलैंगिक प्रेमी के रूप में प्रसिद्धि पाई। लेकिन जिस शो ने उन्हें घर-घर में लोकप्रिय बना दिया वह , ‘पंचायत है।

उन्हें डिजिटली रिलीज हुई फिल्म ‘चमन बहार’ में भी देखा गया था।जितेंद्र ने आईएएनएस को बताया कि वह फिल्मी दुनिया में बदलाव का हिस्सा रहे हैं। उन्होंने कहा, “इस साल ने मुझे बहुत कुछ दिया है। मैं इस तरह की विविध स्क्रिप्ट के साथ प्रयोग करने में सक्षम रहा हूं। मैंने दर्शकों को कंटेंट देने का आनंद लिया।

मानवी गगरू: उन्हें ‘शुभ मंगल ज्यादा सावधान’ में बेहतरीन रोल में देखा गया था, लेकिन ‘फॉर मोर शॉट्स प्लीज!’ ने उन्हें बड़े पैमाने पर प्रसिद्धी दिलाने में मदद दी और उनके अभिनय कौशल में निखार आया। उन्होंने आईएएनए से कहा, “‘शुभ मंगल ज्यादा सावधान’ से मेरे किरदार के साथ वर्ष की शुरुआत पहले ही एक अच्छे नोट पर शुरू हो चुकी थी। इससे बहुत प्यार मिला है। लॉकडाउन की शुरुआत में ‘सीजन टू फॉर मोर शॉट्स प्लीज’ आया, जब लोग न्यू नार्मल की समझ विकसित करने की कोशिश कर रहे थे।

सिद्धांत चतुर्वेर्दी: पिछले साल ‘गली बॉय’ में एमसी शेर का किरदार निभाकर उन्हें प्रसिद्धी हासिल की। इस साल वह दीपिका पादुकोण और अनन्या पांडे के साथ एक एक अनटाइटल्ड फिल्म में काम कर रहे हैं। साथ ही कैटरीना कैफ के साथ हॉरर कॉमेडी ‘फोन भूत’, रानी मुखर्जी और सैफ अली खान के साथ ‘बंटी और बबली 2’ में भूमिका निभा रहे हैं।

विद्युत जामवाल : किसी ने यह नहीं सोचा था कि वह बाइसेप दिखाने और खतरनाक स्टंट करने के अलावा बेहतरीन एक्ट कर सकते हैं। डिजिटली रिलीज हुई फिल्म ‘खुदा हाफिज’ में उन्होंने शानदार काम किया। एक्शन से प्रेरित इस फिल्म में अभिनय के लिए पर्याप्त गुंजाइश थी, और विद्युत ने अपने अभिनय से प्रभावित किया। फिल्म का एक और सीक्वल रिलीज के लिए तैयार है।

‘खुदा हाफिज’ के निर्देशक फारुख कबीर ने आईएएनएस को बताया, “खुदा हाफिज में इस साल विद्युत के सफल प्रदर्शन ने उन्हें एक एक्शन स्टार के अलावा अभिनेता के रूप में स्थापित किया, जोकि सराहनीय है। उन्होंने काफी प्रयास किए हैं। उन्होंने दर्शकों को वास्तव में आश्चर्यचकित किया है।”

इश्वाक सिंह: उन्होंने ‘वीरे दी वेडिंग’ और ‘तुम बिन 2’ जैसी फिल्मों में अभिनय किया है, लेकिन यह 2020 में वह हिंदी दर्शकों के बीच एक परिचित नाम बन गए। वेब श्रृंखला ‘पाताल लोक’ में उन्होंने सिपाही इमरान अंसारी की भूमिका निभाई, जिससे वह लोकप्रिय हो गए।

यह भी पढ़ें : आयुष्मान खुराना के साथ स्क्रीन साझा करने पर क्या कहा अपारशक्ति खुराना ने

कुणाल केमू: कुणाल केमू बाल कलाकार और उसके बाद वैश्विक स्तर पर सराहे जाने के बावजूद एक छुपे रूस्तम बने रहे। इस साल कुणाल ने ‘मलंग’ में एक साइको कॉप की भूमिका निभाई। उनके किरदार को काफी सराहा गया। उन्हें कॉमेडी फिल्म ‘लुटकेस’ में भी लोगों से काफी प्यार हासिल हुआ। मेगास्टारअमिताभ बच्चन ने इस फिल्म में उनके अभिनय की तारीफ की थी। कुणाल ने आईएएनएस को बताया कि जब काम की बात आती है, तो 2020 उसके लिए रोमांचक और विनम्र रहा है। उन्होंने कहा, “मुझे कछ दिलचस्प भूमिकाओं को निभाने का मौका मिला और प्रत्येक परियोजना के लिए मुझे बहुत प्यार मिला। चाहे वह मलंग, लुटकेस हो या अभय हो। कहना बहुत जल्दबाजी होगी यदि वर्ष एक गेमचेंजर रहा है, लेकिन इसने गेम को बहुत दिलचस्प जरूर बना दिया है।

दिव्येंदु शर्मा: उन्होंने निस्संदेह ‘मिजार्पुर 2’ में मुन्ना भैया और ‘बिच्छू का खिलाड़ी’ में अखिल के रूप में अपने अभिनय से खूब चर्चा बटोरी। दिव्येंदु ने आईएएनएस को बताया कि वह शुक्रगुजार हैं कि उन्हें अपने किरदारों के लिए शानदार प्रतिक्रिया मिली।

उन्होंने कहा, “मुझे पता है कि यह वर्ष महामारी के कारण चुनौतीपूर्ण रहा है, बावजूद इसके मैं आभारी महसूस करता हूं कि मैं इस तरह की अविश्वसनीय कहानियों का एक हिस्सा था। यह एक अद्भुत एहसास है कि इस साल मैंने जिन तीन पात्रों को निभाया, उनमें से तीनों पात्रों को दर्शकों ने अच्छी तरह से स्वीकार किया। (आईएएनएस)

Popular

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Wikimedia Commons)

शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) सम्मेलन को संम्बोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चरमपंथ और कट्टरपंथ की चुनौतियों से प्रभावी ढंग से निपटने के लिए एससीओ द्वारा एक खाका विकसित करने का आह्वान किया। 21वीं बैठक को संम्बोधित करते हुए उन्होंने कहा कि मध्य एशिया में अमन के लिए सबसे बड़ी चुनौती है विश्वास की कमी।

इसके अलावा, पीएम मोदी ने विश्व के नेताओं से यह सुनिश्चित करने का आह्वान किया कि मानवीय सहायता अफगानिस्तान तक निर्बाध रूप से पहुंचे। मोदी ने कहा, "अगर हम इतिहास में पीछे मुड़कर देखें, तो हम पाएंगे कि मध्य एशिया उदारवादी, प्रगतिशील संस्कृतियों और मूल्यों का केंद्र रहा है।
"भारत इन देशों के साथ अपनी कनेक्टिविटी बढ़ाने के लिए प्रतिबद्ध है और हम मानते हैं कि भूमि से घिरे मध्य एशियाई देश भारत के विशाल बाजार से जुड़कर अत्यधिक लाभ उठा सकते हैं"

Keep Reading Show less

ओला इलेक्ट्रिक के स्कूटर।(IANS)

ओला इलेक्ट्रिक ने घोषणा की है कि कंपनी ने 600 करोड़ रुपये से अधिक मूल्य के ओला एस1 स्कूटर बेचे हैं। ओला इलेक्ट्रिक का दावा है कि उसने पहले 24 घंटों में हर सेकेंड में 4 स्कूटर बेचने में कामयाबी हासिल की है। बेचे गए स्कूटरों का मूल्य पूरे 2डब्ल्यू उद्योग द्वारा एक दिन में बेचे जाने वाले मूल्य से अधिक होने का दावा किया जाता है।

कंपनी ने जुलाई में घोषणा की थी कि उसके इलेक्ट्रिक स्कूटर को पहले 24 घंटों के भीतर 100,000 बुकिंग प्राप्त हुए हैं, जो कि एक बहुत बड़ी सफलता है। 24 घंटे में इतनी ज्यादा बुकिंग मिलना चमत्कार से कम नहीं है। इसकी डिलीवरी अक्टूबर 2021 से शुरू होगी और खरीदारों को खरीद के 72 घंटों के भीतर अनुमानित डिलीवरी की तारीखों के बारे में सूचित किया जाएगा।

Keep Reading Show less

अमिताभ बच्चन के साथ बातचीत करते हुए, भारत के गोलकीपर पीआर श्रीजेश (IANS)

केबीसी यानि कोन बनेगा करोड़पति भारतीय टेलिविज़न का एक लोकप्रिय धारावाहिक है । यहा पर अक्सर ही कई सेलिब्रिटीज आते रहते है । इसी बीच केबीसी के मंच पर भारत की हॉकी टीम के गोलकीपर पीआर श्रीजेश पहुंचे । केबीसी 13' पर मेजबान अमिताभ बच्चन के साथ बातचीत करते हुए, भारत के गोलकीपर पीआर श्रीजेश 41 साल बाद हॉकी में ओलंपिक पदक जीतने को लेकर बात की। श्रीजेश ने साझा किया कि "हम इस पदक के लिए 41 साल से इंतजार कर रहे थे। साथ उन्होंने ये भी कहा की वो व्यक्तिगत रूप से, मैं 21 साल से हॉकी खेल रहे है। आगे श्रीजेश बोले मैंने साल 2000 में हॉकी खेलना शुरू किया था और तब से, मैं यह सुनकर बड़ा हुआ हूं कि हॉकी में बड़ा मुकाम हासिल किया, हॉकी में 8 गोल्ड मेडल मिले। इसलिए, हमने खेल के पीछे के इतिहास के कारण खेलना शुरू किया था। उसके बाद हॉकी एस्ट्रो टर्फ पर खेली गई, खेल बदल दिया गया और फिर हमारा पतन शुरू हो गया।"

जब अभिनेता अमिताभ बच्चन ने एस्ट्रो टर्फ के बारे में अधिक पूछा, तो उन्होंने खुल के बताया।"इस पर अमिताभ बच्चन ने एस्ट्रो टर्फ पर खेलते समय कठिनाई के स्तर को समझने की कोशिश की। इसे समझाते हुए श्रीजेश कहते हैं कि "हां, बहुत कुछ, क्योंकि एस्ट्रो टर्फ एक कृत्रिम घास है जिसमें हम पानी डालते हैं और खेलते हैं। प्राकृतिक घास पर खेलना खेल शैली से बिल्कुल अलग है। "

इस घास के बारे में आगे कहते हुए श्रीजेश ने यह भी कहा कि "पहले सभी खिलाड़ी केवल घास के मैदान पर खेलते थे, उस पर प्रशिक्षण लेते थे और यहां तक कि घास के मैदान पर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी खेलते थे। आजकल यह हो गया है कि बच्चे घास के मैदान पर खेलना शुरू करते हैं और बाद में एस्ट्रो टर्फ पर हॉकी खेलनी पड़ती है। जिसके कारण बहुत समय लगता है। यहा पर एस्ट्रो टर्फ पर खेलने के लिए एक अलग तरह का प्रशिक्षण होता है, साथ ही इस्तेमाल की जाने वाली हॉकी स्टिक भी अलग होती है।" सब कुछ बदल जाता है ।

Keep reading... Show less