Thursday, May 13, 2021
Home दुनिया पाकिस्तान-भारत एक और युद्ध नहीं झेल सकते : शाह महमूद कुरैशी

पाकिस्तान-भारत एक और युद्ध नहीं झेल सकते : शाह महमूद कुरैशी

पाकिस्तान (Pakistan) के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी (Shah Mehmood Qureshi) ने कहा है कि भारत और पाकिस्तान एक और युद्ध नहीं झेल सकते हैं क्योंकि दोनों परमाणु हथियारों (Nuclear weapons) से संपन्न देश हैं।

चीनी विदेश मंत्री वांग यी (Wang Yi) के एक बयान पर सवाल उठाने के बाद पाकिस्तान के विदेश मंत्री की यह टिप्पणी आई है, जिन्होंने कहा था कि कुछ देशों ने सिर्फ एक फोन कॉल पर अपनी स्थिति बदल दी। कुरैशी ने कहा कि चीनी विदेश मंत्री द्वारा दिया गया बयान पाकिस्तान की ओर निर्देशित नहीं है।

भारत-पाकिस्तान संबंधों के बारे में टिप्पणी करते हुए कुरैशी ने कहा कि यह पाकिस्तान का दृढ़ विश्वास है कि “सभी मुद्दों को बातचीत के माध्यम से हल किया जा सकता है।” साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि एक अनुकूल वातावरण बनाना भारत की जिम्मेदारी है।

उन्होंने कहा, “पाकिस्तान का भारत के साथ व्यापार पर एक स्पष्ट रुख है। बातचीत के लिए माहौल को अनुकूल बनाने के लिए अब भारत की बारी है।”

पाकिस्तान सरकार का कहना है कि कश्मीर पर उसकी स्थिति नहीं बदल सकती| (सांकेतिक चित्र, Pexel)

उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर (Jammu and Kashmir) की स्थिति के बारे में पाकिस्तान की ‘गंभीर चिंताएं’ हैं। “कश्मीर और विभिन्न राजनीतिक दलों के लोगों ने 5 अगस्त, 2019 के भारत सरकार के फैसले को पहले ही खारिज कर दिया था।”

गौरतलब है कि कुरैशी का बयान ऐसे समय में आया है जब पाकिस्तान में इमरान खान के नेतृत्व वाली सरकार ने भारत के साथ व्यापार खोलने के अपने फैसले पर यू-टर्न लिया है। इसके सारांश को बाद में कैबिनेट की बैठक में खारिज कर दिया गया, जिसमें दोहराया गया था कि भारत के साथ कोई व्यापार नहीं हो सकता जब तक यह 5 अगस्त, 2019 के अपने उस फैसले को पलट नहीं देता, जिसने तत्कालीन जम्मू और कश्मीर राज्य के विशेष दर्जे को बदल दिया और अनुच्छेद 370 और 35 ए को निरस्त करते हुए इसे दो केंद्र शासित प्रदेशों में विभाजित कर दिया।

पाकिस्तान सरकार का कहना है कि कश्मीर पर उसकी स्थिति नहीं बदल सकती, लेकिन विपक्षी पार्टियों ने देश की विदेश नीति से संबंधित बड़े फैसले लेने में सरकार की मंशा और योग्यता पर गंभीर सवाल उठाए हैं।

इसके अलावा, हाल ही में पर्यावरण सम्मेलन के लिए अमेरिका द्वारा अनदेखी किए जाने के बाद देश की विदेश नीति और दृष्टिकोण पर भी सवाल उठाए गए हैं। 

#अब तक भारत – पाक के बीच करीब चार बार युद्ध हुआ है। पहला 1947 – 48 का भारत – पाक युद्ध। भारत की आजादी के कुछ समय बाद ही, कश्मीर को लेकर इस युद्ध की स्थिति बनी थी। कश्मीर पर अपना दावा ठोकने वाले पाकिस्तान के साथ यह युद्ध लगभग 6 महीने तक चला था। जिसके बाद 1948 में संयुक्त राष्ट्र परिषद (United Nations Council) ने रिजॉल्यूशन 47 पारित किया था। जिसे अब हम नियंत्रण रेखा LOC के नाम से जानते हैं।

भारत – पाक के बीच हुए पहले सशस्त्र संघर्ष को कारगिल युद्ध 1999 या ऑपरेशन विजय के नाम से भी जाना जाता है। (सांकेतिक चित्र, Pexel)

इसके बाद दोबारा पाकिस्तान ने 1965 में युद्ध की स्थिति को कायम कर दिया था। पाकिस्तान ने जम्मू कश्मीर में अपनी सेना भेज बड़े सैन्य हमलों को अंजाम दिया था। जिसका जवाब भारत ने भी पाकिस्तान को दिया और करीब 17 दिन तक यह युद्ध चलता रहा था। अंततः तत्कालीन सोवियत संघ (Soviet Union) और संयुक्त राज्य अमेरिका (United States of america) के हस्तक्षेप से इस युद्ध को रोका गया था। 

हम सभी जानते हैं कि, बांग्लादेश (Bangladesh) का एक देश के रूप में गठन 1971 में हुआ था। भारत – पाक के बीच तीसरा संग्राम, पूर्वी पाकिस्तान यानी बांग्लादेश के गठन के साथ ही समाप्त हो गया था। 1971 की हार को पाकिस्तान की सबसे बड़ी हार माना जाता है। 

यह भी पढ़ें :- पाकिस्तान के नापाक मंसूबों का पर्दाफाश!

धीरे – धीरे सम्पूर्ण विश्व परमाणु शक्ति संपन्न बनते गए। जिसमें भारत और पाक देश भी शामिल होते हैं और इनके बीच हुए पहले सशस्त्र संघर्ष को कारगिल युद्ध 1999 या ऑपरेशन विजय के नाम से भी जाना जाता है। 1999 में हुए युद्ध में फिर एक बार LOC पार कर पाकिस्तान ने भारत के क्षेत्रों पर कब्जा करने की कोशिश की थी। लेकिन इस युद्ध में भी पाक को मुंह की खानी पड़ी थी। 
भारत पाक के बीच इन चार युद्धों में दोनों ही देशों को जान और माल की हानि उठानी पड़ी थी। अब पाकिस्तान को अपनी हरकतों पर लगाम कसना जरूरी है। क्योंकि युद्ध की स्थिति बनी तो पाक का हारना फिर तय है। (आईएएनएस-SM)

POST AUTHOR

न्यूज़ग्राम डेस्क
संवाददाता, न्यूज़ग्राम हिन्दी

जुड़े रहें

7,638FansLike
0FollowersFollow
177FollowersFollow

सबसे लोकप्रिय

धर्म निरपेक्षता के नाम पर हिन्दुओ को सालों से बेवकूफ़ बनाया गया है: मारिया वर्थ

यह आर्टिक्ल मारिया वर्थ के ब्लॉग पर छपे अंग्रेज़ी लेख के मुख्य अंशों का हिन्दी अनुवाद है।

विज्ञापनों पर पानी की तरह पैसे बहा रही केजरीवाल सरकार, कपिल मिश्रा ने लगाया आरोप

पिछले 3 महीनों से भारत, कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहा है। इन बीते तीन महीनों में, हम लगातार राज्य सरकारों की...

भारत का इमरान को करारा जवाब, दिखाया आईना

भारत ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान द्वारा संयुक्त राष्ट्र महासभा में दिए गए भाषण पर आईना दिखाते हुए करारा जवाब दिया...

जब इन्दिरा गांधी ने प्रोटोकॉल तोड़ मुग़ल आक्रमणकारी बाबर को दी थी श्रद्धांजलि

ये बात तब की है जब इन्दिरा गांधी भारत की प्रधानमंत्री हुआ करती थी। वर्ष 1969 में इन्दिरा गांधी काबुल, अफ़ग़ानिस्तान के...

दिल्ली की कोशिश पूरे 40 ओवर शानदार खेल खेलने की : कैरी

 दिल्ली कैपिटल्स के विकेटकीपर एलेक्स कैरी ने कहा है कि टीम के लिए यह समय है टूर्नामेंट में दोबारा शुरुआत करने का।...

गाय के चमड़े को रक्षाबंधन से जोड़ने कि कोशिश में था PETA इंडिया, विरोध होने पर साँप से की लेखक शेफाली वैद्य कि तुलना

आज ट्वीटर पर मचे एक बवाल में PETA इंडिया का हिन्दू घृणा खुल कर सबके सामने आ गया है। ये बात...

दिल्ली दंगा करवाने में ‘आप’ पार्षद ताहिर हुसैन ने खर्च किए 1.3 करोड़ रूपए: चार्जशीट

इस साल फरवरी में हुए हिन्दू विरोधी दिल्ली दंगों को लेकर आज दिल्ली पुलिस ने कड़कड़डूमा कोर्ट में चार्ज शीट दाखिल किया।...

क्या अमनातुल्लाह खान द्वारा लिया गया ‘दान’, दंगों में खर्च हुए पैसों की रिकवरी थी? बड़ा सवाल!

फरवरी महीने में हुए दिल दहला देने वाले हिन्दू विरोधी दंगों को लेकर दिल्ली पुलिस आक्रमक रूप से लगातार कार्यवाही कर रही...

हाल की टिप्पणी