Tuesday, December 1, 2020
Home दुनिया भारत की यूएनएससी सीट को लेकर पाकिस्तान अलग रंग में

भारत की यूएनएससी सीट को लेकर पाकिस्तान अलग रंग में

पाकिस्तान का मानना है कि इससे संयुक्त राष्ट्र में कश्मीर विवाद पर उसका मामला कमजोर होगा और अगर भारत यूएनएससी का स्थायी सदस्य बन जाता है तो उसे नुकसान होगा।

By – हमजा अमीर

पाकिस्तान ने एक बार फिर 15 सदस्यीय संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (यूएनएससी) की एक सीट के लिए भारत की योग्यता के बारे में अपनी असहमति व्यक्त करते हुए कहा है कि जम्मू-कश्मीर में ‘जारी अशांति’ और यूएनएससी के प्रस्तावों के उल्लंघन के कारण भारत इस सीट के लायक नहीं है।

संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान के प्रतिनिधि राजदूत मुनीर अकरम ने यूएनएससी में नए स्थायी सदस्य को शामिल करने पर इस्लामाबाद की चिंता पर प्रकाश डाला।

उन्होंने कहा कि “दक्षिण एशियाई देश (भारत) ने आजादी के बाद से 20 युद्ध छेड़े और पूरे क्षेत्र में आतंकवाद और अस्थिरता को बढ़ावा दिया, विशेष रूप से पाकिस्तान के खिलाफ।”

उन्होंने कहा, “हमारे पास इस देश द्वारा प्रायोजित आतंकवाद के स्पष्ट और पर्याप्त सबूत हैं।”

अकरम ने कहा, “भारत संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्तावों का उल्लंघन करता है, जो संयुक्त राष्ट्र के तत्वावधान में एक स्वतंत्र और निष्पक्ष जनमत संग्रह से राज्य के लोगों द्वारा आत्मनिर्णय के माध्यम से जम्मू और कश्मीर के विवादित राज्य के अंतिम निपटान का अधिकार देता है।”

यह भी पढ़ें – भारत की हिंसा और जातिवाद की छवि दिखाती है ओबामा की किताब

राजदूत अकरम सुरक्षा परिषद सुधार पर एक बहस के दौरान 193 सदस्यीय असेंबली में ये बात कह रहे थे ताकि इसे और अधिक प्रतिनिधित्व वाला, उत्तरदायी, लोकतांत्रिक और पारदर्शी बनाया जा सके।

अवसर का लाभ उठाते हुए राजदूत अकरम ने जम्मू-कश्मीर की स्थिति पर प्रकाश डालते हुए कहा , “भारत ने कश्मीरी लोगों की वैध स्वतंत्रता संघर्ष को कुचलने और बड़े पैमाने पर मानवाधिकारों के उल्लंघन के लिए 900,000 सैनिकों को तैनात किया है।”

उन्होंने कहा, “भारत सुरक्षा परिषद की सदस्यता के लिए लायक नहीं है चाहे यह स्थायी हो या गैर-स्थायी।”

यूएनएससी के स्थायी सदस्य बनने के लिए भारत के निवेदन ने इस्लामाबाद को विचलित कर दिया है क्योंकि उसे यह डर है कि मंच नई दिल्ली के मजबूत प्रभाव में आ जाएगा।

पाकिस्तान का मानना है कि इससे संयुक्त राष्ट्र में कश्मीर विवाद पर उसका मामला कमजोर होगा और अगर भारत यूएनएससी का स्थायी सदस्य बन जाता है तो उसे नुकसान होगा। (आईएएनएस)

POST AUTHOR

न्यूज़ग्राम डेस्क
संवाददाता, न्यूज़ग्राम हिन्दी

जुड़े रहें

6,018FansLike
0FollowersFollow
174FollowersFollow

सबसे लोकप्रिय

धर्म निरपेक्षता के नाम पर हिन्दुओ को सालों से बेवकूफ़ बनाया गया है: मारिया वर्थ

यह आर्टिक्ल मारिया वर्थ के ब्लॉग पर छपे अंग्रेज़ी लेख के मुख्य अंशों का हिन्दी अनुवाद है।

विज्ञापनों पर पानी की तरह पैसे बहा रही केजरीवाल सरकार, कपिल मिश्रा ने लगाया आरोप

पिछले 3 महीनों से भारत, कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहा है। इन बीते तीन महीनों में, हम लगातार राज्य सरकारों की...

भारत का इमरान को करारा जवाब, दिखाया आईना

भारत ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान द्वारा संयुक्त राष्ट्र महासभा में दिए गए भाषण पर आईना दिखाते हुए करारा जवाब दिया...

गाय के चमड़े को रक्षाबंधन से जोड़ने कि कोशिश में था PETA इंडिया, विरोध होने पर साँप से की लेखक शेफाली वैद्य कि तुलना

आज ट्वीटर पर मचे एक बवाल में PETA इंडिया का हिन्दू घृणा खुल कर सबके सामने आ गया है। ये बात...

क्या अमनातुल्लाह खान द्वारा लिया गया ‘दान’, दंगों में खर्च हुए पैसों की रिकवरी थी? बड़ा सवाल!

फरवरी महीने में हुए दिल दहला देने वाले हिन्दू विरोधी दंगों को लेकर दिल्ली पुलिस आक्रमक रूप से लगातार कार्यवाही कर रही...

जब इन्दिरा गांधी ने प्रोटोकॉल तोड़ मुग़ल आक्रमणकारी बाबर को दी थी श्रद्धांजलि

ये बात तब की है जब इन्दिरा गांधी भारत की प्रधानमंत्री हुआ करती थी। वर्ष 1969 में इन्दिरा गांधी काबुल, अफ़ग़ानिस्तान के...

दिल्ली दंगा करवाने में ‘आप’ पार्षद ताहिर हुसैन ने खर्च किए 1.3 करोड़ रूपए: चार्जशीट

इस साल फरवरी में हुए हिन्दू विरोधी दिल्ली दंगों को लेकर आज दिल्ली पुलिस ने कड़कड़डूमा कोर्ट में चार्ज शीट दाखिल किया।...

रियाज़ नाइकू को ‘शिक्षक’ बताने वाले मीडिया संस्थानो के ‘आतंकी सोच’ का पूरा सच

कौन है रियाज़ नायकू? कश्मीर के आतंकवादी संगठन हिजबुल मुजाहिद्दीन का आतंकी कमांडर बुरहान वाणी 2016 में ...

हाल की टिप्पणी