Wednesday, May 12, 2021
Home देश पीएम मोदी ने कहा, मधुमक्खी पालन से बढ़ेगी किसानों की आय, जीवन...

पीएम मोदी ने कहा, मधुमक्खी पालन से बढ़ेगी किसानों की आय, जीवन में मिठास भी घुलेगा

प्रधानमंत्री ने अपने 'मन की बात' रेडियो कार्यक्रम के दौरान रविवार को कहा कि मधुमक्खी पालन से किसानों की आय बढ़ेगी और यह उनके जीवन में मिठास भी घोलेगा। प्रधानमंत्री ने कहा, "मैं चाहता हूं कि देश के ज्यादा से ज्यादा किसान अपनी खेती के साथ-साथ मधुमक्खी पालन से भी जुड़ें। ये किसानों की आय भी बढ़ाएगा और उनके जीवन में मिठास भी घोलेगा।"


 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के किसानों से मधुमक्खी पालन से जुड़ने की अपील की है। प्रधानमंत्री ने अपने ‘मन की बात’ रेडियो कार्यक्रम के दौरान रविवार को कहा कि मधुमक्खी पालन से किसानों की आय बढ़ेगी और यह उनके जीवन में मिठास भी घोलेगा। प्रधानमंत्री ने कहा, “मैं चाहता हूं कि देश के ज्यादा से ज्यादा किसान अपनी खेती के साथ-साथ मधुमक्खी पालन से भी जुड़ें। ये किसानों की आय भी बढ़ाएगा और उनके जीवन में मिठास भी घोलेगा।”

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि भारत के कृषि जगत में आधुनिकता समय की मांग है। उन्होंने कहा, “बहुत देर हो चुकी है। हम बहुत समय गवां चुके हैं। कृषि क्षेत्र में रोजगार के नए अवसर पैदा करने के लिए, किसानों की आय बढ़ाने के लिए, परंपरागत कृषि के साथ-साथ नए विकल्पों को, नए-नए नवाचारों को अपनाना भी उतना ही जरूरी है। श्वेत क्रांति के दौरान देश ने इसका अनुभव किया है।”

उन्होंने कहा कि अब मीठी भी ऐसा ही एक विकल्प बन करके उभर रहा है। मधुमक्खी पालन देश में शहद क्रांति या मीठी क्रांति का आधार बना रहा है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि बड़ी संख्या में किसान इससे जुड़ रहे हैं और इनोवेशन (नवाचार)कर रहे हैं।

उन्होंने कहा, “पश्चिम बंगाल के दार्जिलिंग में एक गांव है गुरदुम। पहाड़ों की इतनी ऊंचाई, भौगोलिक दिक्कतें, लेकिन, यहां के लोगों ने मधुमक्खी पालन का काम शुरू किया, और आज, इस जगह पर बने शहद की अच्छी मांग है। इससे किसानों की आमदनी भी बढ़ रही है। पश्चिम बंगाल के ही सुंदरबन इलाके का प्राकृतिक आर्गेनिक शहद को देश-दुनिया में पसंद किया जाता है।”

उन्होंने आगे कहा, “ऐसा ही एक व्यक्तिगत अनुभव मुझे गुजरात ( Gujarat )  का भी है। गुजरात ( Gujarat )  के बनासकांठा में वर्ष 2016 में एक आयोजन हुआ था। उस कार्यक्रम में मैंने लोगों से कहा कि यहां इतनी संभावनाएं हैं। क्यों न बनासकांठा और हमारे यहां के किसान मीठी क्रांति का नया अध्याय लिखें? आपको जानकर खुशी होगी, इतने कम समय में, बनासकांठा, शहद उत्पादन का प्रमुख केंद्र बन गया है। आज बनासकांठा के किसान शहद से लाखों रुपये सालाना कमा रहे हैं।
 

यह भी पढ़ें :- प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना में यूपी पहुंचा नम्बर वन

उन्होंने हरियाणा के यमुना नगर का भी उदाहरण दिया जहां किसान मधुमक्खी पालन से सालाना, कई सौ-टन शहद पैदा कर रहे हैं और अपनी आय बढ़ा रहे हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि किसानों की इस मेहनत का परिणाम है कि देश में शहद का उत्पादन लगातार बढ़ रहा है, और सालाना उत्पादन करीब सवा-लाख टन पहुंच गया है और बड़ी मात्रा में शहद का निर्यात भी हो रहा है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि मधुमक्खी पालन करने से सिर्फ शहद से ही आय नहीं होती, बल्कि मोम भी आय का एक बहुत बड़ा माध्यम है। उन्होंने कहा कि फार्मा इंडस्ट्री ( Pharma Industry ), फूड इंडस्ट्री (Food Industry ) , टेक्सटाइल  ( TEXTILE ) और कॉस्मेटिक इंडस्ट्री, हर जगह मोम की मांग है।

उन्होंने कहा, “हमारा देश फिलहाल मोम का आयात करता है, लेकिन स्थिति तेजी से बदल रही है। हमारे किसान एक तरह से आत्मनिर्भर भारत अभियान में मदद कर रहे हैं। आज तो पूरी दुनिया आयुर्वेद और नेचुरल हेल्थ प्रोडक्ट्स की ओर देख रही है। ऐसे में शहद की मांग और तेजी से बढ़ रही है।” ( AK आईएएनएस ) 

POST AUTHOR

न्यूज़ग्राम डेस्क
संवाददाता, न्यूज़ग्राम हिन्दी

जुड़े रहें

7,638FansLike
0FollowersFollow
177FollowersFollow

सबसे लोकप्रिय

धर्म निरपेक्षता के नाम पर हिन्दुओ को सालों से बेवकूफ़ बनाया गया है: मारिया वर्थ

यह आर्टिक्ल मारिया वर्थ के ब्लॉग पर छपे अंग्रेज़ी लेख के मुख्य अंशों का हिन्दी अनुवाद है।

विज्ञापनों पर पानी की तरह पैसे बहा रही केजरीवाल सरकार, कपिल मिश्रा ने लगाया आरोप

पिछले 3 महीनों से भारत, कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहा है। इन बीते तीन महीनों में, हम लगातार राज्य सरकारों की...

भारत का इमरान को करारा जवाब, दिखाया आईना

भारत ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान द्वारा संयुक्त राष्ट्र महासभा में दिए गए भाषण पर आईना दिखाते हुए करारा जवाब दिया...

जब इन्दिरा गांधी ने प्रोटोकॉल तोड़ मुग़ल आक्रमणकारी बाबर को दी थी श्रद्धांजलि

ये बात तब की है जब इन्दिरा गांधी भारत की प्रधानमंत्री हुआ करती थी। वर्ष 1969 में इन्दिरा गांधी काबुल, अफ़ग़ानिस्तान के...

दिल्ली की कोशिश पूरे 40 ओवर शानदार खेल खेलने की : कैरी

 दिल्ली कैपिटल्स के विकेटकीपर एलेक्स कैरी ने कहा है कि टीम के लिए यह समय है टूर्नामेंट में दोबारा शुरुआत करने का।...

गाय के चमड़े को रक्षाबंधन से जोड़ने कि कोशिश में था PETA इंडिया, विरोध होने पर साँप से की लेखक शेफाली वैद्य कि तुलना

आज ट्वीटर पर मचे एक बवाल में PETA इंडिया का हिन्दू घृणा खुल कर सबके सामने आ गया है। ये बात...

दिल्ली दंगा करवाने में ‘आप’ पार्षद ताहिर हुसैन ने खर्च किए 1.3 करोड़ रूपए: चार्जशीट

इस साल फरवरी में हुए हिन्दू विरोधी दिल्ली दंगों को लेकर आज दिल्ली पुलिस ने कड़कड़डूमा कोर्ट में चार्ज शीट दाखिल किया।...

क्या अमनातुल्लाह खान द्वारा लिया गया ‘दान’, दंगों में खर्च हुए पैसों की रिकवरी थी? बड़ा सवाल!

फरवरी महीने में हुए दिल दहला देने वाले हिन्दू विरोधी दंगों को लेकर दिल्ली पुलिस आक्रमक रूप से लगातार कार्यवाही कर रही...

हाल की टिप्पणी