Never miss a story

Get subscribed to our newsletter


×
देश

पीएम मोदी की कविता में राष्ट्रीय सुरक्षा सहित कई मुद्दों पर छिपे बड़े संदेश

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को नए साल के पहले दिन वर्ष 2021 को लेकर खुद की आवाज में स्वरचित प्रेरणादायी कविता जारी की है। ‘अभी तो सूरज उगा है’-शीर्षक से केंद्र सरकार के ट्विटर हैंडल मॉय जीओवी इंडिया पर शेयर हुई इस कविता में प्रधानमंत्री मोदी कई बड़े संदेश देते नजर आए हैं। प्रधानमंत्री

 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को नए साल के पहले दिन वर्ष 2021 को लेकर खुद की आवाज में स्वरचित प्रेरणादायी कविता जारी की है। ‘अभी तो सूरज उगा है’-शीर्षक से केंद्र सरकार के ट्विटर हैंडल मॉय जीओवी इंडिया पर शेयर हुई इस कविता में प्रधानमंत्री मोदी कई बड़े संदेश देते नजर आए हैं। प्रधानमंत्री मोदी की हर पंक्तियों और उसके बैकग्राउंड में इस्तेमाल हुई तस्वीरों में खास संदेश छिपे हैं। माना जा रहा है कि पीएम मोदी ने वर्ष 2021 को लेकर अपने विजन और प्राथमिकताओं को जनता से साझा किया है। कविता में छिपे हैं ये संदेश-

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कविता में ‘आसमा में सर उठाने’ और ‘आग को समेटने’ की बात की है। इसके बैकग्राउंड में भारतीय सेना के जवानों, लड़ाकू विमानों और इसरो के राकेट लांचिंग की तस्वीरें हैं। इन लाइनों और तस्वीरों के जरिए प्रधानमंत्री मोदी ने राष्ट्रीय सुरक्षा को सरकार की प्राथमिकता होने का संदेश दिया है। कविता में विश्वास की लौ जलाने की बात के दौरान बैकग्राउंड में खेत, खलिहान और ट्रैक्टर चलाते किसान की तस्वीर दिखती है।


यह भी पढ़ें: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत में बौद्ध साहित्य का पुस्तकालय बनाने का प्रस्ताव रखा

माना जा रहा कि इसके जरिए प्रधानमंत्री मोदी ने सरकार के किसान हितैषी होने का संदेश दिया है। मौजूदा समय चल रहे किसान आंदोलन के बीच यह संदेश काफी खास है। प्रधानमंत्री मोदी ने इस वीडियो में दिल्ली के गुरुद्वारे में जाने के दौरान की तस्वीर भी शेयर की है। कुछ तस्वीरों के जरिए सरकार की प्राथमिकता में महिलाओं की बेहतरी की दिशा में कार्य करने का संदेश दिया गया है। इसके अलावा न मेरा न तेरा की बात कहते हुए प्रधानमंत्री ने सबका साथ, सबका विकास का भी संदेश दिया है।

प्रधानमंत्री की पूरी कविता-

आसमा में सर उठाकर

घने बादलों को चीरकर

रोशनी का संकल्प ले

अभी तो सूरज उगा है।।

ढृढ़ निश्चय के साथ चलकर

हर मुश्किल को पार कर

घोर अंधेरे को मिटाने

अभी तो सूरज उगा है।।

विश्वास की लौ जलाकर

विकास का दीपक लेकर

सपनों को साकार करने

अभी तो सूरज उगा है ।।

न अपना न पराया

न मेरा न तेरा

सबका तेज बनकर

अभी तो सूरज उगा है ।।

आग को समेटते हुए

प्रकाश को बिखेरता

चलता और चलाता

अभी तो सूरज उगा है

अभी तो सूरज उगा है।।

(आईएएनएस)

Popular

कश्मीरी पंडित परिवारों को जम्मू-कश्मीर पुलिस ने सुरक्षा की पेशकश की है।(wikimedia commons)

घाटी में रहने वाले कश्मीरी पंडित(Kashmiri Pandits) परिवारों को जम्मू-कश्मीर पुलिस ने सुरक्षा की पेशकश की है, लेकिन जो सुरक्षा नहीं लेना चाहते उन्हें एक हलफनामा देना होगा, जिसमें कहा गया है कि वे इसके लिए खुद जिम्मेदार होंगे। कश्मीरी पंडित(Kashmiri Pandits) नेता संजय टिक्कू ने कहा कि अधिकांश कश्मीरी पंडितों ने यह हलफनामा देने से इनकार कर दिया है।

"हमें सुरक्षा बलों के लिए अपने घरों में दो कमरे देने के लिए कहा गया है, अधिकतम लोगों ने उस प्रस्ताव को अस्वीकार कर दिया है, लेकिन आश्चर्य की बात यह है कि उनसे संबंधित एसएसपी को संबोधित एक वचनबद्धता ली जाती है कि वे सुरक्षा नहीं लेना चाहते हैं।" "अंत में एक पंक्ति है, जिसमें लिखा है कि भगवान ना करे अगर कुछ होता है, तो इसकी जिम्मेदारी पुलिस या सरकार पर नहीं होगी।"

उन्होंने कहा कि उन्होंने आईजी पुलिस और उपराज्यपाल के समक्ष इस मुद्दे को उठाया है, लेकिन अभी तक कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली है।


Keep Reading Show less

भविष्य में कहां-कहां आएंगे चुनौतियां बताएगा आपका राशिफल (Wikimedia commons)

आने वाले सप्ताह में आपका दिन कैसे बीतेगा?, आपको किन किन खतरों से होना है सावधान? तथा आर्थिक क्षेत्र से लेकर सामाजिक क्षेत्र तक कैसा रहेगा आपका प्रभाव? इन सभी प्रश्नों के अलावा भी अनेक प्रश्नों के उत्तर पाएं हमारे साप्ताहिक राशिफल में -

मेष राशि

इस सप्ताह मेष राशि के जातकों को धन का लाभ मिल सकता है। पारिवारिक जीवन में अगर कोई समस्या बनी हुई थी तो वह इस हफ्ते खत्म हो सकती है। कार्यक्षेत्र में आपके लिए स्थिति मजबूत बनेगी। हफ्ते के मध्य भाग में कामकाज की अधिकता आपको परेशान कर सकती है। माता की सेहत का ध्यान रखें। संतान से सुख मिलेगा। छात्र वर्ग को इस हफ्ते शुभ परिणाम प्राप्त हो सकते हैं। आय के नए मार्ग आपको मिल सकते हैं।

Keep Reading Show less

देश के जवानों की शहादत रोकने के लिए एमआईआईटी मेरठ की तरफ से एक बड़ा प्रयास किया गया है। (Wikimedia commons)

देश की सीमाओं की सुरक्षा करते वक्त हमारे देश के वीर सैनिक अक्सर शहीद हो जाते हैं इसलिए कभी ना कभी भारतीयों के मन में यह आता है कि हम अपने वीर जवानों की शहादत को कैसे रोक सकते? लेकिन इस क्षेत्र में अब हमें उम्मीद की किरण मिल गई है। दरअसल, हमारे जवानों की सुरक्षा के लिए मेरठ इंस्टीट्यूट आफ इंजनियरिंग टेक्नोलॉजी (एमआईईटी) इंजीनियरिंग कॉलेज, मेरठ के सहयोग से एक मानव रहित बॉर्डर सिक्योरिटी सिस्टम तैयार किया गया है। इस डिवाइस को मानव रहित सोलर मशीन गन नाम दिया गया है। यह सिस्टम बॉर्डर पर तैनात जवानों की सुरक्षा और सुरक्षित रहते हुए आतंकियों का सामना करने के लिए बनाया गया है। इसे तैयार करने वाले युवा वैज्ञानिक श्याम चौरसिया ने बताया कि यह अभी प्रोटोटाईप बनाया गया है। इसकी मारक क्षमता तकरीबन 500 मीटर तक होगी, जिसे और बढ़ाया भी जा सकता है।

यह मशीन गन इलेट्रॉनिक है। इसे संचालित करने के लिए किसी इंसान की जरुरत नहीं होगी। इसका इस्तेमाल अति दुर्गम बॉर्डर एरिया में आतंकियों का सामना करने के लिए किया जा सकेगा। इसमें लगे सेंसर कैमरे दुश्मनों पर दूर से नजर रख सकतें हैं। आस-पास किसी तरह की आहट होने पर यह मानव रहित गन जवानों को चौकन्ना करने के साथ खुद निर्णय लेकर दुश्मनों पर गोलियों की बौछार भी करने में सक्षम होगा। इस मानव रहित गन को ऑटोमेटिक और मैनुअल भी कर सकते हैं।

Keep reading... Show less