मैं छापेमारी से नहीं डरता हूं : नेता कमल हासन

 अभिनेता से नेता बने मक्कल नीधि मय्यम (एमएनएम) (MNM) के अध्यक्ष कमल हासन ने कहा कि केंद्रीय एजेंसियां उन्हें धमकी दे रही हैं, लेकिन वे छापेमारी से नहीं डरते। केंद्रीय एजेंसियां छापे मारें भी तो उन्हें उनके घर से कुछ भी नहीं मिलेगा।
 | 
 अभिनेता कमल हासन । ( Wikimedia Commons )
 अभिनेता से नेता बने मक्कल नीधि मय्यम (एमएनएम) (MNM) के अध्यक्ष कमल हासन ने कहा कि केंद्रीय एजेंसियां उन्हें धमकी दे रही हैं, लेकिन वे छापेमारी से नहीं डरते। केंद्रीय एजेंसियां छापे मारें भी तो उन्हें उनके घर से कुछ भी नहीं मिलेगा। यह बात उन्होंने तमिलनाडु के कोयम्बटूर में मीडिया से कही। इस सीट पर भाजपा ( BJP ) , द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (डीएमके) और एमएनएम के बीच त्रिकोणीय मुकाबला है। हासन ने पत्रकारों से कहा कि भाजपा केंद्रीय एजेंसियों का उपयोग कर अपने राजनीतिक विरोधियों को डराने की कोशिश कर रही है, लेकिन वह इनसे नहीं डरेंगे।

कमल हासन के साथ रिलेशनशिप में रह चुकीं और कुछ समय पहले भाजपा में शामिल हुई दक्षिण भारतीय अभिनेता गौतमी ने कहा कि कोयंबटूर दक्षिण विधानसभा क्षेत्र से उनके जीतने की कोई संभावना नहीं है, क्योंकि भाजपा नेता वनाथी श्रीनिवासन राजनीतिक रूप से अधिक परिपक्व हैं और इस विधानसभा क्षेत्र के लोग हासन की तुलना में उन्हें ज्यादा पसंद करते हैं। गौतमी इन दिनों कोयम्बटूर में कमल हासन के खिलाफ मोर्चा खोले हुई हैं। उन्होंने शिकायत की थी कि उनके कैंसर पीड़ित होने के बाद एमएनएम अध्यक्ष ने उनका साथ नहीं दिया और बाद में उनसे अलग हो गए।

यह भी पढ़ें: पहले चंदा गायब और अब 500 रुपए में भीड़ !
 
MNM
एमएनएम का लोगो  ।  ( Wikimedia Commons )

सुपरस्टार ने ये बयान एमएनएम (MNM)  के कोषाध्यक्ष चंद्रशेखरन के घर और दफ्तर में पिछले सोमवार को आयकर विभाग और अन्य केंद्रीय एजेंसियों द्वारा छापे मारे जाने के बाद दिया है। चंद्रशेखरन के पास 11.25 करोड़ रुपये नकद और लगभग 80 करोड़ रुपये की बेहिसाब आय का खुलासा हुआ है।

चंद्रशेखरन यार्न ट्रेडिंग बिजनेस समेत कई बिजनेस करते हैं। इसे लेकर एमएनएम ने आरोप लगाया था कि ये छापे धारापुरम (आरक्षित) विधानसभा क्षेत्र से भाजपा की टिकट पर मैदान में उतरे एल.मुरुगन की मदद के लिए मारे गए थे। बता दें कि चंद्रशेखरन का दफ्तर धारापुरम में है।
( AK आईएएनएस )