Never miss a story

Get subscribed to our newsletter


×
संस्कृति

अयोध्या में भव्यता और दिव्यता के साथ इकोफ्रेंडली भी होगा दीपोत्सव

नीचे दीयों की जगमग। बीच में हर खम्भे, पुल, गली, मोहल्ले और चैराहों पर बिजली की रोशनी। सबसे ऊपर चांद-तारों से होड़ लेती आसमान को छूती लेजर की सतरंगी आभा।

अयोध्या में आयोजित होगा भव्य दिपोत्सव का कार्यक्रम। (फाइल फोटो)

By: विवेक त्रिपाठी

नीचे दीयों की जगमग। बीच में हर खम्भे, पुल, गली, मोहल्ले और चैराहों पर बिजली की रोशनी। सबसे ऊपर चांद-तारों से होड़ लेती आसमान को छूती लेजर की सतरंगी आभा। और इस सबका शांत भाव से दीदार करता और अयोध्या के अब तक के इतिहास को खुद में समेटे कल-कल करता देश की पंच नदियों में से एक पावन सरयू का जल। कुछ ऐसा होगा ऐतिहासिक साल 2020 में आयोजित होने वाला अयोध्या का दीपोत्सव। इस बार भव्यता और दिव्यता के साथ यह इकोफ्रेंडली भी होगा। लेजर शो के जरिये इस बार मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ इकोफ्रेंडली दीपावली का भी संदेश देंगे।


लेजर शो में प्रभु श्रीराम के विविध स्वरूपों का दर्शन होगा, मसलन अन्याय के प्रतीक रावण से युद्ध करते पराक्रमी राम तो लंका विजय के बाद अपनी जन्मभूमि कोशलपुरी (अयोध्या) पहुंचकर अपनों के बीच प्रफुल्लित राम। त्रेता युग में सीता, राम और लक्ष्मण के वनवास से लौटने पर अयोध्या वासियों ने जिस तरह गाजे-बाजे के साथ उनकी अगवानी की थी और अपने घरों में खुशियों के दीप जलाए थे, वह सब कुछ लेजर शो के जरिये दिखेगा। लेजर शो सबको कायदे से दिखे इसके लिए मुख्य कार्यक्रम स्थल पर सबसे ऊंची जगह से इसका प्रदर्शन होगा।

यह भी पढ़ें: अयोध्या में भक्तों के लिए भगवान राम का लेज़र अवतार

भगवान श्री राम की व्यापकता के मद्देनजर वहां भजन संध्या स्थल पर भारत के प्रमुख नृत्य मसलन कत्थक, ओडिसी, भरतनाट्यम, कुचिपुड़ी, मणिपुरी का भी मंचन होगा। तीन राज्यों की रामलीला से इस आयोजन और बहुरंगी एवं विविधता में एकता की भारत की संकल्पना को और विस्तार मिलेगा। इस क्रम में अलग-अलग दिन लखनऊ, मुंबई और झारखंड के रामलीला दल, राम चरित्र पर आधारित मंचीय प्रस्तुति देंगे। इसके अलावा आल्हा, अवधी और भोजपुरी आदि के लोक कलाकारों को भी मंच और मौका मिलेगा। साकेत पार्क से रामकथा पार्क तक निकलने वाली शोभायात्रा भी खास होगी। इसमें रामायण के सभी प्रमुख प्रसंगों की झलक होगी।

गौरतलब हो कि प्रदूषण मुक्त दीपावली के संदेश को और विस्तार देने के लिए सरकार मुजफ्फरनगर, आगरा, वाराणसी, मेरठ, हापुड़, गाजियाबाद, कानपुर, लखनऊ, मुरादाबाद, नोएडा, ग्रेटर नोएडा, बागपत, बुलंदशहर समेत 13 जिलों में सरकार पहले से पटाखों पर प्रतिबंध लगा चुकी है। साथ ही गाय के गोबर और माटी के दीयों और माटी के लक्ष्मी-गणेश की मूर्तियों को प्रोत्साहन देकर पर्यावरण संरक्षण का संदेश दे रही है। दीपोत्सव के दिन लेजर शो के जरिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा दिया गया संदेश भी उसी की कड़ी होगी।(आईएएनएस)

Popular

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी है दुनिया के सबसे लोकप्रिय नेता ( wikimedia Commons )

अमेरिकी डेटा इंटेलिजेंस फर्म ‘द मॉर्निंग कंसल्ट’ की एक सर्वे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अप्रूवल रेटिंग 71% दर्ज की गई है यह जानकारी 'द मॉर्निंग कंसल्ट' ने अपने ट्विटर हैंडल के जरिए साझा की है। 'द मॉर्निंग कंसल्ट' के सर्वे के मुताबिक अप्रूवल रेटिंग में प्रधानमंत्री मोदी ने अमरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन, ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन समेत दुनिया भर के 13 राष्ट्र प्रमुखों को पीछे छोड़ दिया है।

मॉर्निंग कंसल्ट’ दुनिया भर के टॉप लीडर्स की अप्रूवल रेटिंग ट्रैक करता है। मॉर्निंग कंसल्ट पॉलिटिकल इंटेलिजेंस वर्तमान में ऑस्ट्रेलिया, ब्राजील, कनाडा, फ्रांस, जर्मनी, भारत, इटली, जापान, मैक्सिको, दक्षिण कोरिया, स्पेन, यूनाइटेड किंगडम और संयुक्त राज्य अमेरिका में नेताओं की रेटिंग पर नज़र रख रही है। रेटिंग पेज को सभी 13 देशों के नवीनतम डेटा के साथ साप्ताहिक रूप से अपडेट किया जाता है।

Keep Reading Show less

अल्लू अर्जुन की नई फिल्म 'अला वैकुंठपुरमुलु' हिंदी में जल्द होगी रिलीज ( wikimedia commons )


हाल ही में रिलीज़ हुई अल्लू अर्जुन की फ़िल्म 'पुष्पा: द राइज़' को दर्शकों ने काफ़ी पसंद किया इस फ़िल्म के आने के बाद से तमिल फिल्म के अभिनेता अल्लू अर्जुन के प्रशंसकों की संख्या में काफ़ी इज़ाफ़ा हुआ है। लोग उनकी फिल्म को खूब पसंद कर रहे हैं । अब दर्शकों को अल्लू अर्जुन की नई फिल्म 'अला वैकुंठपुरमुलु' को हिंदी में रिलीज होने का इंतजार है। यह फ़िल्म भगवान विष्णु की पौराणिक कहानी से प्रेरित है।
पुष्पा की तरह फ़िल्म 'अला वैकुंठपुरमुलु' से भी दर्शक जुड़ाव महसूस करें इसके लिए मेकर्स ने इस फ़िल्म के टाइटल के मायने भी बताए।

फिल्म निर्माण कम्पनी ‘गोल्डमाइंस टेलीफिल्म्स’ ने अपने ट्विटर हैंडल पर फ़िल्म 'अला वैकुंठपुरमुलु'का मतलब बताते हुए लिखा की “अला वैकुंठपुरमुलु पोथन (मशहूर कवि जिन्होंने श्रीमद्भागवत का संस्कृत से तेलुगु में अनुवाद किया) की मशहूर पौराणिक कहानी गजेंद्र मोक्षणम की सुप्रसिद्ध पंक्ति है। भगवान विष्णु हाथियों के राजा गजेंद्र को मकरम (मगरमच्छ) से बचाने के लिए नीचे आते हैं। उसी प्रकार फिल्म में रामचंद्र के घर का नाम वैकुंठपुरम है, जहाँ बंटू (अल्लू अर्जुन) परिवार को बचाने आता है। अला वैकुंठपुरमुलू की यही खूबी है।”

Keep Reading Show less

फ़िल्म अभिनेता मनोज बाजपेयी (Wikimedia Commons)

दिग्गज अभिनेता मनोज बाजपेयी(Manoj Bajpai) के लिए ये साल काफी व्यस्त रहने वाला है क्योंकि वह इस साल कई प्रोजेक्ट पर काम कर रहे हैं। उनका कहना है कि उनके पास जो प्रतिबद्धताएं हैं वह 2023 के अंत तक ऐसे ही रहने वाली हैं।

साल 2022 राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता मनोज बाजपेयी(Manoj Bajpai) के लिए बहुत व्यस्त रहने वाला है क्योंकि वह इस साल राम रेड्डी की बिना शीर्षक वाली फिल्म, कानू भेल की 'डिस्पैच', अभिषेक चौबे की फिल्म और राहुल चितेला की फिल्म जैसे नए प्रोजेक्ट के लिए बैक-टू-बैक शूटिंग करेंगे।


मनोज बाजपेयी ने हाल ही में दो प्रोजेक्ट को खत्म किया है, एक रेड्डी की अभी तक बिना शीर्षक वाली फिल्म के साथ, जिसमें दीपिक डोबरियाल भी हैं। फिल्म की शूटिंग उत्तराखंड की खूबसूरत जगहों पर हुई फिर, उन्होंने कानू बहल द्वारा निर्देशित आरएसवीपी के 'डिस्पैच' को समाप्त किया, जो अपराध पत्रकारिता की दुनिया में स्थापित एक खोजी थ्रिलर है।

Keep reading... Show less