Tuesday, May 11, 2021
Home ट्रेंड "अयोध्या तो बस झांकी है, काशी-मथुरा अभी बाकी है"

“अयोध्या तो बस झांकी है, काशी-मथुरा अभी बाकी है”

उन्होंने कहा कि रामराज्य की स्थापना भारत में हो गई। मोदी ने दंडवत प्रणाम संतों को किया है। उनको दिल से आशीर्वाद है। उन्ही के नेतृत्व में ही कृष्ण भगवान मुक्त होंगे। काशी विश्वनाथ भी होंगे। प्रतीक्षा करें।

By: Vivek Tripathi

रामजन्मभूमि पर मंदिर निर्माण के लिए भूमिपूजन करने आए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पूरी तरह राम के रंग में रंगे नजर आए। कार्यक्रम में पधारे संतों में भी काफी जोश देखने को मिला। भूमिपूजन में आये संतों ने एक स्वर में कहा कि अब राममंदिर का निर्माण शुरू हो गया है। इसके बाद काशी और मथुरा की बारी है।

अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष नरेन्द्र गिरी ने कहा कि यह दिन अद्भुत और ऐतिहासिक है। यह उत्सव का दिन है। मोदी और योगी ने इतिहास रच दिया। वह दोबारा कोई रचने वाला नहीं है। हम लोग खुश है।

उन्होंने कहा कि रामराज्य की स्थापना भारत में हो गई। मोदी ने दंडवत प्रणाम संतों को किया है। उनको दिल से आशीर्वाद है। उन्ही के नेतृत्व में ही कृष्ण भगवान मुक्त होंगे। काशी विश्वनाथ भी होंगे। प्रतीक्षा करें। हम लोग अयोध्या की तरह काशी मथुरा ले कर रहेंगे। वह भी न्यायोचित ढंग से। 3 साल में भव्य मंदिर बनेगा उसका भी उद्घाटन मोदी और योगी करेंगे। आज तक किसी प्रधानमंत्री ने संतों को इतना सम्मान नहीं दिया है। चाहे वो नेहरू हो या इंद्रकुमार गुजराल। हां नरसिम्हा राव ने जरूर दिया है। इसीलिए संतों का आशीर्वाद मोदी जी के साथ है।

यह भी पढ़ें: ‘भय बिन होय न प्रीत’, मोदी ने अयोध्या के मंच से चीन व पाकिस्तान को दी चेतावनी

चतुर विरक्त वैष्णव परिषद के महंत फूल डोल बिहारी दास वृन्दावन मथुरा के संत ने कहा कि राममंदिर निर्माण से पूरा विश्व खुश है। जो खुश नहीं है वो चमगादड़ है। वो राम की शरण में आएं उन्हें मुक्ति मिलेगी। विरोधियों को शुभकामनाएं हैं। राममंदिर का काम शुरू हो गया है। राम मंदिर के बाद अगला पड़ाव काशी होगा। सबका समय धीरे-धीरे आएगा।

वाराणसी के जितेंद्रनन्द सरस्वती ने कहा, “मैं 1986 से रामजन्मभूमि से जुड़ा हूं। मैं कोरोनाकाल में भी कामकाज देखने आता था। आज भूमिपूजन के बाद 1 हजार वर्ष की गुलामी का कलंक मिट गया। प्रधानमंत्री ने दिव्य मंदिर का भूमि पूजन किया है। यह मंदिर का पूजन नहीं है बल्कि एक सकारात्मक ऊर्जा का संचार है। इस कार्य के बाद अगला लक्ष्य मथुरा काशी ही है।”

अयोध्या संत समिति के अध्यक्ष कन्हैया दास ने कहा कि आज रामजन्मभूमि में भूमिपूजन के बाद मन प्रसन्न है। जीवन की तपस्या सफल हुई। संघर्ष सफल हुआ। जैसे राम वन से लौटे थे। उनका राज्याभिषेक हुआ था वैसा ही महसूस हो रहा है। धीरे-धीरे आगे बढ़ेंगे। (आईएएनएस)

POST AUTHOR

न्यूज़ग्राम डेस्क
संवाददाता, न्यूज़ग्राम हिन्दी

जुड़े रहें

7,639FansLike
0FollowersFollow
177FollowersFollow

सबसे लोकप्रिय

धर्म निरपेक्षता के नाम पर हिन्दुओ को सालों से बेवकूफ़ बनाया गया है: मारिया वर्थ

यह आर्टिक्ल मारिया वर्थ के ब्लॉग पर छपे अंग्रेज़ी लेख के मुख्य अंशों का हिन्दी अनुवाद है।

विज्ञापनों पर पानी की तरह पैसे बहा रही केजरीवाल सरकार, कपिल मिश्रा ने लगाया आरोप

पिछले 3 महीनों से भारत, कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहा है। इन बीते तीन महीनों में, हम लगातार राज्य सरकारों की...

भारत का इमरान को करारा जवाब, दिखाया आईना

भारत ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान द्वारा संयुक्त राष्ट्र महासभा में दिए गए भाषण पर आईना दिखाते हुए करारा जवाब दिया...

दिल्ली की कोशिश पूरे 40 ओवर शानदार खेल खेलने की : कैरी

 दिल्ली कैपिटल्स के विकेटकीपर एलेक्स कैरी ने कहा है कि टीम के लिए यह समय है टूर्नामेंट में दोबारा शुरुआत करने का।...

जब इन्दिरा गांधी ने प्रोटोकॉल तोड़ मुग़ल आक्रमणकारी बाबर को दी थी श्रद्धांजलि

ये बात तब की है जब इन्दिरा गांधी भारत की प्रधानमंत्री हुआ करती थी। वर्ष 1969 में इन्दिरा गांधी काबुल, अफ़ग़ानिस्तान के...

गाय के चमड़े को रक्षाबंधन से जोड़ने कि कोशिश में था PETA इंडिया, विरोध होने पर साँप से की लेखक शेफाली वैद्य कि तुलना

आज ट्वीटर पर मचे एक बवाल में PETA इंडिया का हिन्दू घृणा खुल कर सबके सामने आ गया है। ये बात...

दिल्ली दंगा करवाने में ‘आप’ पार्षद ताहिर हुसैन ने खर्च किए 1.3 करोड़ रूपए: चार्जशीट

इस साल फरवरी में हुए हिन्दू विरोधी दिल्ली दंगों को लेकर आज दिल्ली पुलिस ने कड़कड़डूमा कोर्ट में चार्ज शीट दाखिल किया।...

क्या अमनातुल्लाह खान द्वारा लिया गया ‘दान’, दंगों में खर्च हुए पैसों की रिकवरी थी? बड़ा सवाल!

फरवरी महीने में हुए दिल दहला देने वाले हिन्दू विरोधी दंगों को लेकर दिल्ली पुलिस आक्रमक रूप से लगातार कार्यवाही कर रही...

हाल की टिप्पणी