क्या आपने कभी सोचा है ईसाई धर्म में सभी देवताओं के कपड़ो का रंग सफेद क्यों?

इस लेख में हम आपको बताएंगे कि ईसाई (Christian) धर्म में सभी देवताओं का कपड़ों का रंग सफेद होता है।
ईसाई धर्म में सभी देवताओं के कपड़ो का रंग सफेद क्यों? (Wikimedia)

ईसाई धर्म में सभी देवताओं के कपड़ो का रंग सफेद क्यों? (Wikimedia)

बाइबिल

न्यूजग्राम हिंदी: इस लेख में हम आपको बताएंगे कि ईसाई (Christian) धर्म में सभी देवताओं का कपड़ों का रंग सफेद होता है।

दरअसल बाइबिल (Bible) के अनुसार सफेद रंग (White Colour) को पवित्रता, ईमानदारी और बेगुनाही के प्रतीक के रूप में चिन्हित किया गया है और सभी देवताओं के वस्त्रों का रंग भी सफेद ही बताया गया है।

जॉन जो ईशु मसीह के पहले शिष्य माने जाते हैं उन्होंने बाइबिल के (4:4) में स्वर्ग के बारे में बात करते हुए कहा कि वहां पर 24 सिंहासन है और सभी पर सफेद रंग के वस्त्र धारण किए हुए देव बैठे हुए है और सभी के सिर के ऊपर सोने का मुकुट है।

जो बाइबिल जेम्स के वर्जन में मौजूद है उसमे 75 बार सफेद रंग का जिक्र किया गया है।

वही न्यू टेस्टामेंट को देखा जाएं तो उसमें 29 बार सफेद रंग का प्रयोग किया गया है।

<div class="paragraphs"><p>ईसाई धर्म में सभी देवताओं के कपड़ो का रंग सफेद क्यों? (Wikimedia)</p></div>
Hindu धर्म कैसे है ईसाई धर्म और इस्लाम से भिन्न: मारिया वर्थ

अगर हम प्राचीन इजिप्ट की बात करें तो इसमें सफेद रंग को देवी इसिस से जोड़कर देखा जाता था। किवदंतियों के अनुसार देवी इसिस ने अपने मरे हुए माता और पिता को जीवित कर दिया था।

वहीं दूसरी ओर प्राचीन रोम में देवी वेस्टा जो आग की देवी मानी जाती है ने भी सफेद रंग के वस्त्र धारण किए हुए हैं और इसे पवित्रता निष्ठा और शुद्धता का प्रतीक माना जाता है।

अगर हम साल 1566 के बारे में जानेंगे तो पाएंगे कि इसी कांसेप्ट को फॉलो किया गया था और पहली बार पॉप रोमन कैथोलिक चर्च के मुखिया ने त्याग और पवित्रता के प्रतीक के तौर पर सफेद रंग के वस्त्र ही पहने थे। पोप के इस रंग को पहनने के बाद से इस रंग को आधिकारिक मान लिया था।

(PT)

Related Stories

No stories found.
hindi.newsgram.com