नाक बहना, छींकना और गले में खराश हैं COVID-19 के ‘XE’ Variant के लक्षण

0
26
भारत में कोविड-19 के 'एक्सई' वैरिएंट का पहला मामला सामने आया(IANS)

देश में बुधवार को कोविड-19(Covid-19) के ‘एक्सई’ वैरिएंट(XE Variant) का पहला मामला सामने आया। मायानगरी मुंबई में नए वैरिएंट का पहला मामला सामने आने के बाद चिंताएं बढ़ गई हैं और लोग इस वैरिएंट के बारे में जानना चाहते हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने पिछले हफ्ते एक नए म्यूटेंट के खिलाफ चेतावनी जारी की थी, जो पहले देखे गए कोविड-19(COVID-19) के किसी भी स्ट्रेन से अधिक संक्रमणीय हो सकता है।

एक्सई वैरिएंट(XE Variant) ओमिक्रॉन वैरिएंट के उपभेदों का एक उत्परिवर्तन (म्यूटेशन ऑफ स्ट्रेन) है, जो दुनिया भर में फैला हुआ है। इसके बारे में पहली बार 19 जनवरी को यूके(UK) में पता चला था और तब से सैकड़ों रिपोर्ट और पुष्टि की जा चुकी है।

शुरुआती संकेत बताते हैं कि यह अन्य ओमिक्रॉन(Omicron) म्यूटेशन की तुलना में लगभग 10 प्रतिशत अधिक तेजी से फैल सकता है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन(WHO) के अनुसार, नया एक्सई वैरिएंट(XE Variant) दो अन्य ओमिक्रॉन(Omicron) वैरिएंट्स, बीए.1 और बीए.2 का एक म्यूटेंट हाईब्रिड है और वैश्विक स्तर पर फैल रहे मामलों के लिए जिम्मेदार है।

यह भी पढ़े:-अब भी चिंता का विषय है कोरोना का वैरिएंट BA.2- W.H.O

हालांकि दुनिया भर में एक्सई के फिलहाल कम ही मामले देखने को मिले हैं, मगर इसकी अत्यधिक उच्च संचरण क्षमता का मतलब यह हो सकता है कि यह निकट भविष्य में सबसे प्रभावशाली स्ट्रेन बन जाता है।

हाल ही में डब्ल्यूएचओ(WHO) की रिपोर्ट में कहा गया है, “एक्सई (बीए.1-बीए.2), पहली बार 19 जनवरी को यूके(UK) में पाया गया था और 600 से कम सीक्वेंस की रिपोर्ट और पुष्टि की गई है।”

इसमें कहा गया है, “शुरूआती दिन के अनुमान बीए.2 की तुलना में सामुदायिक विकास दर में 10 प्रतिशत का संकेत देते हैं, हालांकि, इसके लिए और पुष्टि की आवश्यकता है।”

22 मार्च तक इंग्लैंड में एक्सई के 637 मामलों का पता चला था।(Wikimedia commons)

यूके की स्वास्थ्य सुरक्षा एजेंसी के अनुसार, एक्सई(XE) में नाक बहने, छींकने और गले में खराश जैसे लक्षण होते हैं, जो वायरस के मूल स्ट्रेन के विपरीत होते हैं, क्योंकि मूल स्ट्रेन में आमतौर पर रोगी को बुखार और खांसी की शिकायत रहती है और साथ ही उसे किसी चीज का स्वाद नहीं आता और कोई गंध भी नहीं आती है।

यह भी पढ़े:-कोरोना वायरस के संपर्क में आने के दो दिन के अंदर दिखने लगते हैं कोरोना के लक्षण-अध्ययन

एजेंसी ने कहा कि 22 मार्च तक इंग्लैंड में एक्सई(XE) के 637 मामलों का पता चला था।

थाईलैंड(Thailand) और न्यूजीलैंड( New Zealand) में भी एक्सई वैरिएंट(XE Variant) का पता चला है। डब्ल्यूएचओ ने कहा है कि म्यूटेशन के बारे में और कुछ कहने से पहले और डेटा पर गौर करने की आवश्यकता है।

फोर्ब्स ने की एक रिपोर्ट के अनुसार, यूकेएचएसए के मुख्य चिकित्सा सलाहकार सुसान हॉपकिंस के अनुसार, एक संपूर्ण पुष्टि करने के लिए अधिक डेटा की आवश्यकता है।

हॉपकिंस ने कहा कि संक्रमण, इसकी गंभीरता या टीके की प्रभावशीलता पर कोई भी निष्कर्ष निकालने के लिए अभी अपर्याप्त सबूत हैं।

मुंबई में नए वैरिएंट का पहला मामला पाए जाने के बाद स्वास्थ्य हलकों में चिंता की लहर पैदा हो गई है, क्योंकि महाराष्ट्र अब रिकवरी की राह पर है और चल रही तीसरी लहर अपने अंतिम चरण में है, जो दिसंबर 2021 में शुरू हुई थी।

बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) के एक अधिकारी ने बुधवार को कहा कि बॉलीवुड हस्तियों के साथ काम करने वाली एक महिला कॉस्ट्यूम डिजाइनर कोविड एक्सई वैरिएंट से संक्रमित पाई गई हैं, जो कि देश में इस वैरिएंट का पहला मामला है।

आईएएनएस(DS)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here