पूर्वी यूक्रेन में पहुंचे रूसी सैनिक

0
10
रूसी सैनिकों की प्रतीकात्मक तस्वीर।(Wikimedia Commons)

रूस(Russia) ने विद्रोहियों के कब्जे वाले यूक्रेन(Ukraine) के जिन इलाकों को स्वतंत्र राष्ट्र घोषित किया है, वहां पिछले चंद घंटो के दौरान रूस के हजारों सैनिक पहुंच चुके हैं। ब्रिटेन के समाचार पत्र डेली मेल की रिपोर्ट के मुताबिक यूक्रेन की सेना के खुफिया सूत्रों ने बताया है कि पिछले 12 घंटे के दौरान लुहांस्क में रूस के पांच हजार, दोनेस्क में छह हजार और हॉल्र्विका में डेढ़ हजार सैनिक पहुंचे हैं।

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन(Vladimir Putin) ने पूर्वी यूक्रेन में विद्रोहियों के कब्जे वाले दोनों इलाकों लुहांस्क(luhansk) और दोनेस्क(Donesk) को पृथक देश की मान्यता दी है। पुतिन की इस घोषणा के साथ ही रूस की सैनिकों का इन इलाकों में घुसने का रास्ता साफ हो गया था। इस संबंध में पहले से ही रिपोर्ट आ रही थी कि बख्तरबंद तोपों के साथ रूस की सेना का 200 से अधिक वाहनों का काफिला यूक्रेन के सीमावर्ती इलाकों की ओर बढ़ रहा था। डेली मेल के अनुसार, रूस का कहना है कि दोनेस्क और लुहांस्क के विद्रोहियों के कब्जे वाले इलाके ही नहीं बल्कि पूरे प्रांत को ही पुतिन ने स्वतंत्र राष्ट्र की मान्यता दी है। रूस(Russia) की इस घोषणा ये यह चिंता बढ़ गयी है कि उसने यूक्रेन के साथ सीधी लड़ाई की ठान ली है।

Russia, Ukraine, word news

अब तक यूक्रेन के 2 नागरिक और 12 लोगों के घायल होने की खबर है।

रूस(Russia) की सेना के विद्रोहियों के इलाके में घुसते ही लड़ाई तेज हो गयी है। यूक्रेन(Ukraine) की ओर स्थित एक विद्युम संयंत्र में मंगलवार सुबह को धमाका हुआ, जिसमें यूक्रेन के दो नागरिक मारे गये और 12 अन्य घायल हो गये। रूस के इस कदम से पश्चिमी देशों में काफी रोष व्याप्त है और उन्होंने उस पर प्रतिबंधों की झड़ी लगा दी है। नाटो ने इसी बीच यूक्रेन के राजदूत के साथ आपात बैठक बुलायी है। ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन(Boris Johnson) ने रूस के पांच बैंकों और तीन अमीरों पर प्रतिबंध लगाने की घोषणा की है। उन्होंने साथ ही कहा है कि रूस की कंपनियां अब स्टर्लिग और डॉलर में पूंजी नहीं जुटा पायेंगी।

यह भी पढे- मणिपुर को म्यांमार और थाईलैंड से जोड़ा जाएगा-मोदी

अमेरिका(USA) के राष्ट्रपति जो बाइडेन(Joe Biden) ने अमेरिकी नागरिकों को विद्रोहियों के कब्जे वाले इलाके में कारोबार नहीं करने को कहा है। जर्मनी के चांसलर ओलफ शोल्ज ने रूस के कई अरब डॉलर की नॉर्ड स्ट्रीम 2 गैर पाइप परियोजना को मंजूरी नहीं देने का फैसला किया है।

input : आईएएनएस ; Edited by Lakshya Gupta

न्यूज़ग्राम के साथ Facebook, Twitter और Instagram पर भी जुड़ें!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here