एक अध्ययन के मुताबिक दुनिया में शेरों को बचाने के लिए  सवाना अग्नि प्रबंधन राजस्व उत्पन्न कर सकता है

0
12
एक अध्ययन ने बताया है की सवाना अग्नि प्रबंधन शेरों को बचाने के लिए राजस्व उत्पन्न कर सकता है। (Wikimedia Commons)

शोधकर्ताओं ने आग प्रबंधन आधारित कार्बन-वित्तपोषण कार्यक्रमों(Carbon Financing Programs) की संभावनाओं का पता लगाया है, ताकि अफ्रीका में आर्थिक कमी को पूरा किया जा सके और सवाना पारिस्थितिकी तंत्र को नुकसान होने से बचाया जा सके। जैव विविधता अनुसंधान संस्थान (Diversity Research Institute) ने सवाना अग्नि प्रबंधन को लेकर एक पब्लिकेशन की घोषणा की है, जो अफ्रीका के रैंजलैंड को बहाल करने के लिए पर्याप्त कार्बन राजस्व उत्पन्न कर सकता है।

बीआरआई के क्लाइमेट चेंज प्रोग्राम के निदेशक और मुख्य लेखक टिम टियर कहते हैं, “कार्बन राजस्व के लिए अप्रयुक्त क्षमता के बारे में जागरूकता बढ़ाना जरूरी है जो अफ्रीका में संरक्षित क्षेत्रों के प्रबंधन का समर्थन करेगा।”

अफ्रीका(Africa) में कई सवाना(Savannah)-आश्रित प्रजातियां, जिनमें बड़े शाकाहारी और शीर्ष शिकारी शामिल हैं, उनका विलुप्त होने का खतरा बढ़ रहा है। अफ्रीका में संरक्षित क्षेत्रों के प्रभावी प्रबंधन को प्राप्त करने की अनुमानित लागत जहां शेर रहते हैं, सालाना 2 अरब डॉलर तक पहुंच सकता है।

africa savanaah, save animals, save lions

सवाना जंगलों में मौजूद शेर। (Wikimedia Commons)

शोधकर्ताओं ने इस वित्त पोषण अंतर को भरने और सवाना पारिस्थितिक तंत्र को लाभ पहुंचाने के लिए अग्नि प्रबंधन-आधारित कार्बन-वित्तपोषण कार्यक्रमों की संभावनाओं का पता लगाया है।

इस काम के सह-लेखकों ने संबंधित पत्र प्रकाशित किए हैं और उनके शोध को इस नए पेपर में एकीकृत किया गया है।

टीएनसी ऑस्ट्रेलिया के कार्बन क्षेत्र विशेषज्ञ जेफ्री लिपसेट-मूर हैं। वह इस अध्ययन के सह-लेखक और संबंधित अध्ययन के प्रमुख लेखक भी हैं। उन्होंने कहा, “ये चर्चाएं 2012 में शुरू हुई और यह देखना रोमांचक होगा कि अच्छे विचार कैसे गति पकड़कर आगे बढ़ सकते हैं।”

“उत्तरी ऑस्ट्रेलिया में सवाना अग्नि प्रबंधन के कई सालों से आदिवासी समुदायों को सीधे फायदा हुआ है। यह एक स्पष्ट प्रमाण प्रदान करता है कि अग्नि प्रबंधन-आधारित कार्बन परियोजनाएं काम कर सकती हैं। हमें उम्मीद है कि अफ्रीका में भी इसी तरह के फायदे जल्द ही संभव हो सकते हैं।”

डब्ल्यूसीएन के लायन रिकवरी फंड के निदेशक पीटर लिंडसे कहते हैं, “अफ्रीका में कई संरक्षित क्षेत्र खराब हो गए हैं या स्थानीय और अंतर्राष्ट्रीय निगमों द्वारा मानव आबादी और संसाधन के विस्तार के तीव्र दबाव के कारण निकट भविष्य में खराब होने का उच्च जोखिम है।”

इस सहयोगी कार्य के परिणाम प्रदर्शित करते हैं कि सवाना से अफ्रीका में कई संरक्षित क्षेत्रों के लिए कार्बन राजस्व उत्पन्न कर सकते हैं, और जब उन्हें मिट्टी और लकड़ी के कार्बन पूल के साथ जोड़ा जाता है तो क्षमता काफी ज्यादा होती है।

यह भी पढ़ें- वैश्विक स्तर पर नए रंग में दिखेगी काशी की तस्वीर

डब्ल्यूसीएस बिग कैट्स प्रोग्राम के सह-लेखक और कार्यकारी निदेशक ल्यूक हंटर कहते हैं, “अफ्रीकी सवाना को उनके कार्बन मूल्य के संदर्भ में शायद ही कभी सोचा जाता है, लेकिन यह समय है कि उनके बारे में सोचा जाना चाहिए।”

Input-IANS; Edited By- Saksham Nagar

न्यूज़ग्राम के साथ Facebook, Twitter और Instagram पर भी जुड़ें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here