Saturday, June 12, 2021
Home राजनीति कांग्रेस को बड़ा झटका: जितिन प्रसाद बीजेपी में हुए शामिल

कांग्रेस को बड़ा झटका: जितिन प्रसाद बीजेपी में हुए शामिल

पूर्व केंद्रीय मंत्री और उत्तर प्रदेश से कांग्रेस के वरिष्ठ नेता जितिन प्रसाद केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल की मौजूदगी में भाजपा में शामिल हो गए।

पूर्व केंद्रीय मंत्री और उत्तर प्रदेश से कांग्रेस के वरिष्ठ नेता जितिन प्रसाद बुधवार को केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल और राज्यसभा सदस्य अनिल बलूनी की मौजूदगी में पार्टी मुख्यालय में भाजपा में शामिल हो गए। जितिन प्रसाद का स्वागत करते हुए गोयल ने लोगों की सेवा करने की उनकी प्रतिबद्धता की प्रशंसा की और कहा कि वह (प्रसाद) उत्तर प्रदेश में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे। गोयल ने कहा, “भविष्य में उत्तर प्रदेश की राजनीति में उनकी एक प्रमुख भूमिका होगी। वह ऐसे व्यक्ति हैं जो जमीनी हकीकत से जुड़े हैं और राज्य में एक लोकप्रिय नेता हैं।” प्रसाद ने भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को भगवा पार्टी में स्वीकार करने के लिए धन्यवाद दिया। पार्टी में शामिल होने के बाद प्रसाद ने कहा, “सवाल यह नहीं है कि मैं एक पार्टी क्यों छोड़ रहा हूं बल्कि मैं दूसरी पार्टी में क्यों शामिल हो रहा हूं। अगर आज सही मायने में कोई पार्टी है, एक संस्थागत पार्टी है, तो वह बीजेपी है।”

प्रसाद ने आगे कहा, “मुझे लगता है कि आपके राजनीति करने या किसी राजनीतिक दल में रहने का कोई उद्देश्य नहीं है यदि कोई व्यक्ति अपने लोगों के हितों की सेवा या रक्षा करने में सक्षम नहीं है। मुझे कांग्रेस में होने और सक्षम नहीं होने का एहसास हुआ। इसलिए, मैं भाजपा में शामिल हो गया और मेरा काम केवल अपने लिए बोलेगा।” भाजपा का मानना है कि प्रसाद के भाजपा में शामिल होने से उत्तर प्रदेश में ब्राह्मणों को शांत करने में मदद मिलेगी, जहां अगले साल की शुरूआत में विधानसभा चुनाव होंगे। पार्टी के एक अंदरूनी सूत्र ने कहा कि प्रसाद को पार्टी के ब्राह्मण चेहरे के रूप में पेश किया जा सकता है जो उत्तर प्रदेश में पूरी तरह से गायब है। प्रसाद कभी राहुल गांधी के करीबी हुआ करते थे। ग्रुप -23 (जी -23) हस्ताक्षरकर्ताओं का हिस्सा थे, जिन्होंने कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी को पत्र लिखकर पार्टी में व्यापक सुधारों की मांग की थी। असंतुष्ट होने के बावजूद, उन्हें पश्चिम बंगाल में कांग्रेस के अभियान का जिम्मा सौंपा गया, जो निराशाजनक रहा। पार्टी के खिलाफ एक स्टैंड लेते हुए उन्होंने पश्चिम बंगाल में भारतीय धर्मनिरपेक्ष मोर्चा (आईएसएफ) के साथ कांग्रेस के गठबंधन का विरोध किया था। बता दें उनके पिता जितेंद्र प्रसाद उत्तर प्रसाद में एक प्रमुख ‘ब्राह्मण’ चेहरा थे, जिन्होंने 1999 में सोनिया गांधी के नेतृत्व को चुनौती दी थी और पार्टी प्रमुख के पद के लिए उनके खिलाफ चुनाव लड़ा था। 2002 में उनका निधन हो गया था।

JP Nadda and Jitin Prasada
भाजपा के राष्ट्रिय अध्यक्ष जे पी नड्डा और भाजपा शामिल हुए पूर्व केंद्रीय मंत्री जितिन प्रसाद।(Jagat Prakash Nadda, Wikimedia Commons)

कांग्रेस कमेटी के वरिष्ठ नेता जितिन प्रसाद के बुधवार को भाजपा में शामिल होने के कदम को कांग्रेस की बागी विधायक अदिति सिंह ने पार्टी की बड़ी क्षति बताया है। इसको लेकर कांग्रेस की बागी विधायक ने पार्टी को नसीहत दी है। उन्होंने कहा पार्टी को आत्ममंथन करने की जरूरत है। रायबरेली सदर से विधायक अदिति सिंह को कांग्रेस ने निलंबित कर रखा है। कांग्रेस से विधायक रहे दिवंगत बाहुबली अखिलेश सिंह की बेटी अदिति सिंह ने कहा कि वरिष्ठ नेता जितिन प्रसाद का पार्टी को छोड़कर जाना एक बड़ी क्षति है। अब तो पार्टी को आत्ममंथन करना चाहिए। पार्टी में सुनवाई न होने के कारण युवा नेताओं में निराशा है। जितिन प्रसाद का कांग्रेस से जाना बहुत बड़ा नुकसान है। उनका खमियाजा उन्हें 2022 के चुनाव में भुगतना पड़ेगा।

यह भी पढ़ें: राजद अपनी ‘लालटेन’ से एनडीए में आग भड़काने की जुगाड में!

विधायक अदिति सिंह ने कहा कि हमारी समस्या शीर्ष नेतृत्व नहीं सुनता है। इसका उदाहरण समय-समय पर देखने को मिलता है। जनप्रतिनिधि की बात हाईकामान नहीं सुनता है। जबकि आपको उनकी बात सुननी पड़ेगी। अगर आप नहीं सुनते हैं तो भला आपकी पार्टी में लोग कैसे रहेंगे। इसीलिए धीरे-धीरे करके युवा कांग्रेस छोड़ रहे हैं। ज्योतिरादित्य सिंधिया और कुंवर जितिन प्रसाद जैसे वरिष्ठ नेता क्यों जा रहे हैं। यह तो तय हो गया है कि कांग्रेस एक परिवार की पार्टी बनती जा रही है। भाजपा में जितिन प्रसाद जी का भविष्य काफी उज्‍जवल होगा। अदिति सिंह ने कहा, “जितिन प्रसाद का पार्टी छोड़ना कांग्रेस के लिए समस्या है। अब तो बड़े नेताओं को उत्तर प्रदेश में जमीन पर काम करने की जरूरत है। मंथन करें कि आखिर बड़े नेता पार्टी क्यों छोड़ रहे हैं।” उन्होंने कहा, “उत्तर प्रदेश की सियासत में जमीन पर कांग्रेस को काम करने की जरूरत है। मैं सच और साफ बोलती हूं। मेरी बात अगर किसी को बुरा लगती है तो हम इसका कुछ नहीं कर सकते। मैं प्रियंका गांधी पर कोई टिप्पणी नहीं करती, लेकिन उन्हें खुद देखने की जरूरत है।”(आईएएनएस-SHM)

POST AUTHOR

न्यूज़ग्राम डेस्क
संवाददाता, न्यूज़ग्राम हिन्दी

जुड़े रहें

7,623FansLike
0FollowersFollow
177FollowersFollow

सबसे लोकप्रिय

धर्म निरपेक्षता के नाम पर हिन्दुओ को सालों से बेवकूफ़ बनाया गया है: मारिया वर्थ

यह आर्टिक्ल मारिया वर्थ के ब्लॉग पर छपे अंग्रेज़ी लेख के मुख्य अंशों का हिन्दी अनुवाद है।

विज्ञापनों पर पानी की तरह पैसे बहा रही केजरीवाल सरकार, कपिल मिश्रा ने लगाया आरोप

पिछले 3 महीनों से भारत, कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहा है। इन बीते तीन महीनों में, हम लगातार राज्य सरकारों की...

भारत का इमरान को करारा जवाब, दिखाया आईना

भारत ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान द्वारा संयुक्त राष्ट्र महासभा में दिए गए भाषण पर आईना दिखाते हुए करारा जवाब दिया...

जब इन्दिरा गांधी ने प्रोटोकॉल तोड़ मुग़ल आक्रमणकारी बाबर को दी थी श्रद्धांजलि

ये बात तब की है जब इन्दिरा गांधी भारत की प्रधानमंत्री हुआ करती थी। वर्ष 1969 में इन्दिरा गांधी काबुल, अफ़ग़ानिस्तान के...

दिल्ली की कोशिश पूरे 40 ओवर शानदार खेल खेलने की : कैरी

 दिल्ली कैपिटल्स के विकेटकीपर एलेक्स कैरी ने कहा है कि टीम के लिए यह समय है टूर्नामेंट में दोबारा शुरुआत करने का।...

गाय के चमड़े को रक्षाबंधन से जोड़ने कि कोशिश में था PETA इंडिया, विरोध होने पर साँप से की लेखक शेफाली वैद्य कि तुलना

आज ट्वीटर पर मचे एक बवाल में PETA इंडिया का हिन्दू घृणा खुल कर सबके सामने आ गया है। ये बात...

दिल्ली दंगा करवाने में ‘आप’ पार्षद ताहिर हुसैन ने खर्च किए 1.3 करोड़ रूपए: चार्जशीट

इस साल फरवरी में हुए हिन्दू विरोधी दिल्ली दंगों को लेकर आज दिल्ली पुलिस ने कड़कड़डूमा कोर्ट में चार्ज शीट दाखिल किया।...

क्या अमनातुल्लाह खान द्वारा लिया गया ‘दान’, दंगों में खर्च हुए पैसों की रिकवरी थी? बड़ा सवाल!

फरवरी महीने में हुए दिल दहला देने वाले हिन्दू विरोधी दंगों को लेकर दिल्ली पुलिस आक्रमक रूप से लगातार कार्यवाही कर रही...

हाल की टिप्पणी