Tuesday, December 1, 2020
Home देश भारतीय दस्ता जापान जाकर सीखेगा बाढ़ प्रबंधन की बारीकियां

भारतीय दस्ता जापान जाकर सीखेगा बाढ़ प्रबंधन की बारीकियां

दुनिया में अपने आपदा प्रबंधन (डिजास्टर मैनेजमेंट) के लिए मशहूर जापान अब भारतीय अफसरों को भी इसकी ट्रेनिंग देगा।

By – नवनीत मिश्र

जापान सरकार के सहयोग से देश के विभिन्न मंत्रालयों और राज्यों के अफसर जापान जाकर बाढ़ जैसी आपदा से निपटने की बारीकियां सीखेंगे। जापान इंटरनेशनल कोऑपरेशन एजेंसी के बुलावे पर केंद्र सरकार के डिपार्टमेंट ऑफ पर्सनल एंड ट्रेनिंग ने संबंधित मंत्रालयों और राज्यों से ऐसे अफसरों के नाम मांगे हैं, जो आपदा प्रबंधन से जुड़े हों। ट्रेनिंग के बाद अफसरों की बाढ़ प्रबंधन के मोर्चे पर कार्यकुशलता में इजाफा होगा।

दरअसल, दुनिया के तमाम देश हर साल बाढ़ जैसी आपदा से जूझते हैं। जलवायु परिवर्तन के कारण आपदाओं की संख्या लगातार बढ़ रही है। भारत के कई हिस्सों में हर साल बाढ़ के कारण भारी जान-माल का नुकसान होता है। जापान ने पानी से जुड़ी आपदा के प्रबंधन की दिशा में ट्रेनिंग प्रोग्राम शुरू किया है। यह ट्रेनिंग प्रोग्राम जापान इंटरनेशनल कोऑपरेशन एजेंसी की ओर से शुरू किया गया है। ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरह ट्रेनिंग होगी।

मिनिस्ट्री ऑफ पर्सनल के ट्रेनिंग सेक्शन के अधिकारियों ने आईएएनएस को बताया, “वाटर रिलेटेड डिजास्टर रिस्क रिडक्शन से जुड़ा ट्रेनिंग कार्यक्रम 30 नवंबर 2020 से 22 जनवरी 2021 तक ऑनलाइन चलेगा। ऑनलाइन ट्रेनिंग लेने वाले अफसरों को फिर जापान जाना होगा। वहां 13 मई से 28 मई 2021 तक फील्ड ट्रेनिंग होगी। इस दौरान उन्हें बाढ़ जैसी आपदा से निपटने की विशेष ट्रेनिंग मिलेगी। अफसर वहां साइट पर विजिट करेंगे। जापान सरकार के तकनीकी सहयोग से यह ट्रेनिंग कार्यक्रम चलेगा।”

यह भी पढ़ें- पीएम मोदी ने भारत को आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस का ग्लोबल हब बनाने पर दिया जोर

डिपार्टमेंट ऑफ पर्सनल एंड ट्रेनिंग के अंडर सेक्रेटरी मनोज गुप्ता की ओर से अर्बन अफेयर्स मिनिस्ट्री, जल शक्ति, डिपार्टमेंट ऑफ ड्रिकिंग वाटर एंड सैनिटेशन के सचिवों के साथ सभी राज्यों के मुख्य सचिवों को पत्र भेजकर अफसरों के आवेदन मांगे हैं। आईएएनएस के पास मौजूद पत्र में ट्रेनिंग के लिए आवेदन करने वाले अफसरों के लिए कुछ शर्ते भी रखी गई हैं।

मसलन, अफसरों की उम्र 28 वर्ष से 40 साल के बीच होनी चाहिए। उन्हें अंग्रेजी लिखने और बोलना आता हो। मानसिक और शारीरिक रूप से स्वस्थ होना जरूरी है। इसके अलावा अफसरों को कुछ जानकारियां देनी होंगी। मसलन, बाढ़ जैसी आपदाओं के प्रबंधन में क्या उनके पास कम से कम पांच साल का अनुभव है?

इससे पूर्व कभी विदेश में किसी ट्रेनिंग प्रोग्राम में भाग लेने के बारे में जानकारी देनी होगी। विजिलेंस क्लियरेंस भी करानी होगी। यह भी बताना होगा कि क्या उन्होंने कभी नार्थ-ईस्ट या जम्मू-कश्मीर में काम किया है। 50 से सौ शब्द में अपने आवेदन को सही ठहराने के बारे में लिखना होगा। मंत्रालयों के अफसरों का आवेदन 30 अक्टूबर तक मिनिस्ट्री ऑफ पर्सनल के ट्रेनिंग डिवीजन में उपलब्ध कराना अनिवार्य है। (आईएएनएस)

POST AUTHOR

न्यूज़ग्राम डेस्क
संवाददाता, न्यूज़ग्राम हिन्दी

जुड़े रहें

6,018FansLike
0FollowersFollow
174FollowersFollow

सबसे लोकप्रिय

धर्म निरपेक्षता के नाम पर हिन्दुओ को सालों से बेवकूफ़ बनाया गया है: मारिया वर्थ

यह आर्टिक्ल मारिया वर्थ के ब्लॉग पर छपे अंग्रेज़ी लेख के मुख्य अंशों का हिन्दी अनुवाद है।

विज्ञापनों पर पानी की तरह पैसे बहा रही केजरीवाल सरकार, कपिल मिश्रा ने लगाया आरोप

पिछले 3 महीनों से भारत, कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहा है। इन बीते तीन महीनों में, हम लगातार राज्य सरकारों की...

भारत का इमरान को करारा जवाब, दिखाया आईना

भारत ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान द्वारा संयुक्त राष्ट्र महासभा में दिए गए भाषण पर आईना दिखाते हुए करारा जवाब दिया...

गाय के चमड़े को रक्षाबंधन से जोड़ने कि कोशिश में था PETA इंडिया, विरोध होने पर साँप से की लेखक शेफाली वैद्य कि तुलना

आज ट्वीटर पर मचे एक बवाल में PETA इंडिया का हिन्दू घृणा खुल कर सबके सामने आ गया है। ये बात...

क्या अमनातुल्लाह खान द्वारा लिया गया ‘दान’, दंगों में खर्च हुए पैसों की रिकवरी थी? बड़ा सवाल!

फरवरी महीने में हुए दिल दहला देने वाले हिन्दू विरोधी दंगों को लेकर दिल्ली पुलिस आक्रमक रूप से लगातार कार्यवाही कर रही...

जब इन्दिरा गांधी ने प्रोटोकॉल तोड़ मुग़ल आक्रमणकारी बाबर को दी थी श्रद्धांजलि

ये बात तब की है जब इन्दिरा गांधी भारत की प्रधानमंत्री हुआ करती थी। वर्ष 1969 में इन्दिरा गांधी काबुल, अफ़ग़ानिस्तान के...

दिल्ली दंगा करवाने में ‘आप’ पार्षद ताहिर हुसैन ने खर्च किए 1.3 करोड़ रूपए: चार्जशीट

इस साल फरवरी में हुए हिन्दू विरोधी दिल्ली दंगों को लेकर आज दिल्ली पुलिस ने कड़कड़डूमा कोर्ट में चार्ज शीट दाखिल किया।...

रियाज़ नाइकू को ‘शिक्षक’ बताने वाले मीडिया संस्थानो के ‘आतंकी सोच’ का पूरा सच

कौन है रियाज़ नायकू? कश्मीर के आतंकवादी संगठन हिजबुल मुजाहिद्दीन का आतंकी कमांडर बुरहान वाणी 2016 में ...

हाल की टिप्पणी