दिल्ली में नहीं होगा कोहरे का कहर कम, आईएमडी की रिपोर्ट

सुबह के समय घना कोहरा रहने के आसार है साथ ही बारिश होने की भविष्यवाणी की है।
17 जनवरी तक रात और सुबह के समय घना कोहरा रहने के आसार है। Wikimedia commons)

17 जनवरी तक रात और सुबह के समय घना कोहरा रहने के आसार है। Wikimedia commons)

दिल्ली

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने दिल्ली के साथ-साथ पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़ और उत्तर प्रदेश में शनिवार से 17 जनवरी तक रात और सुबह के समय घना कोहरा रहने के आसार है साथ ही बारिश होने की भविष्यवाणी की है। आईएमडी के अनुसार, राष्ट्रीय राजधानी में शुक्रवार को आंशिक रूप से बादल छाए रहने की उम्मीद है, न्यूनतम तापमान सामान्य से दो डिग्री कम 9.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। अधिकतम तापमान 20 डिग्री सेल्सियस रहने की उम्मीद है।

<div class="paragraphs"><p>17 जनवरी तक रात और सुबह के समय घना कोहरा रहने के आसार है। Wikimedia commons)</p></div>
अजीब रहस्य: आखिर क्यों और कैसे नाचते-नाचते मर गए 400 लोग?

आईएमडी ने कहा कि जम्मू संभाग, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड में 15-17 जनवरी के दौरान और उत्तर मध्य प्रदेश में 16-17 जनवरी के दौरान घने कोहरे की संभावना है। 15-17 जनवरी के दौरान उत्तर प्रदेश के अलग-अलग हिस्सों में और 15-17 जनवरी को बिहार में कोल्ड डे की स्थिति रहने की संभावना है।

इस बीच, राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली का वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) शुक्रवार को थोड़ा सुधर कर 'बेहद खराब' श्रेणी में पहुंच गया।

<div class="paragraphs"><p>उत्तर मध्य प्रदेश में 16-17 जनवरी के दौरान घने कोहरे की संभावना है।(Wikimedia commons)</p></div>

उत्तर मध्य प्रदेश में 16-17 जनवरी के दौरान घने कोहरे की संभावना है।(Wikimedia commons)

कोहरे का कहर

सिस्टम ऑफ एयर क्वालिटी एंड वेदर फोरकास्टिंग एंड रिसर्च (सफर) के अनुसार, शहर का समग्र एक्यूआई 331 दर्ज किया गया था।

शून्य और 50 के बीच एक एक्यूआई को अच्छा, 51 और 100 को संतोषजनक, 101 और 200 को मध्यम, 201 और 300 को खराब, 301 और 400 को बहुत खराब और 401 और 500 को गंभीर श्रेणी में माना जाता है। सफर के आंकड़ों के अनुसार, लोधी रोड पर एक्यूआई 319, पूसा 325 और मथुरा रोड पर 340 था।

मौसम विभाग ने कहा कि अगले चार से पांच दिनों के दौरान उत्तर-पश्चिम भारत में ‘घना’ से ‘बहुत घना’ कोहरा और ‘शीत दिवस ’ की स्थिति जारी रहने की संभावना है। साथ ही कहा, ‘अगले तीन दिनों के दौरान उत्तर-पश्चिम भारत में शीतलहर की स्थिति जारी रहने की संभावना है। इसके बाद कुछ राहत मिलने की उम्मीद है। 51 मीटर से 200 मीटर के बीच ‘घना कोहरा’, 201 मीटर से 500 मीटर के बीच ‘मध्यम कोहरा’ और 501 से 1,000 मीटर के बीच रहने पर ‘हल्का कोहरा’ माना जाता है।

IANS/AD

Related Stories

No stories found.
hindi.newsgram.com