बरेली की जेलों में तैयार किए जा रहे तिरंगे

स्वयं सहायता समूह और जेलों में बंद कैदी, बंदी आजादी के अमृत महोत्सव के लिए तिरंगे तैयार कर रहे हैं।
बरेली की जेलों में तैयार किए जा रहे तिरंगे
बरेली की जेलों में तैयार किए जा रहे तिरंगेNational Flag (IANS)

आजादी के 'अमृत महोत्सव' को प्रदेश में महाभियान बनाने में मुख्यमंत्री योगी जोर शोर से जुटे हुए हैं। इसके एक हिस्से के तौर पर चलाए जा रहे हर घर तिरंगा अभियान को लेकर भी राज्य में तैयारियां पूरी होने के कगार पर है। इस कड़ी में बरेली मंडल के स्वयं सहायता समूह और जेलों में बंद कैदी, बंदी आजादी के अमृत महोत्सव के लिए तिरंगे तैयार कर रहे हैं। हर घर तिरंगा अभियान एक तरफ जहां लोगों में देशभक्ति का जज्बा और जुनून का संचार कर रहा है। वहीं लोगों को बड़ी संख्या में रोजगार भी उपलब्ध करा रहा है। बरेली में नौ लाख तिरंगों के साथ आजादी का अमृत महोत्सव मनाया जाएगा।

बरेली मंडल कमिश्नर जे सेल्वा कुमारी के निर्देश पर बिथरी ब्लॉक के स्वयं सहायता समूह ने अब तक करीब डेढ़ लाख तिरंगे तैयार कर लिए हैं। स्वयं सहायता समूह में जुटी महिलाएं तेजी से तिरंगों को बनाने की तैयारी में लगी हैं। तैयार तिरंगों को सभी विभागों में बांटा जाएगा। बरेली जिले के 100 से ज्यादा स्वयं सहायता समूह तिरंगा तैयार कर रहे हैं। मुख्यमंत्री के निर्देश पर हर घर और हर हाथ में तिरंगा लहराने के लिए सभी को जिम्मेदारी दी गई है।

कमिश्नर ने बताया कि 13 से 15 अगस्त तक हर घर में तिरंगा लगाने का अभियान चलेगा। इसको लेकर स्वयं सहायता समूह तिरंगा तैयार कर रहे हैं। नौ लाख तिरंगा सभी विभागों में बांटे जाएंगे। इसके अलावा स्वयंसेवी संगठनों और स्वयं सहायता समूहों के जरिए इन्हें हर घर में लगाया जाएगा।

बरेली की जेलों में तैयार किए जा रहे तिरंगे
PM मोदी के 'हर घर तिरंगा' को चुनौती देते हुए कांग्रेस ने लगाई नेहरू की डीपी

कमिश्नर ने बताया कि तिरंगा तैयार करने के लिए जिले में सबसे ज्यादा स्वयं सहायता समूह लगे हैं। खासकर इन समूहों में महिलाओं को इससे काम मिला है। एक महिला तिरंगा तैयार कर प्रतिदिन 600 से 700 रुपए कमा रही है। इससे उन्हें रोजगार भी मिला है।

बरेली, बदायूं, पीलीभीत और शाहजहांपुर समेत चारों जिलों में तिरंगा के लिए डाक विभाग आगे आया है। उप डाकघरों में भी तिरंगा बेचने की व्यवस्था की गई है। इसे जन-जन तक पहुंचाने के लिए गांव देहात के उप डाकघरों में भी काउंटर खोले गए हैं। जिनके जरिए 25 रुपये में तिरंगा मुहैया कराया जाएगा।

(आईएएनएस/AV)

Related Stories

No stories found.
hindi.newsgram.com