Wednesday, November 25, 2020
Home मनोरंजन सुशांत केस में डिप्रेशन को मुद्दा बनाकर, केस भटकाना चाहता है एक...

सुशांत केस में डिप्रेशन को मुद्दा बनाकर, केस भटकाना चाहता है एक शीर्ष निर्देशक- राबिया

रबिया खान के अनुसार सुशांत सिंह केस को डिप्रेशन का एंगल देकर, इसे आत्महत्या साबित करने में लगा है एक बड़ा निर्देशक।

मुंबई पुलिस सुशांत सिंह राजपूत केस की जांच इस एंगल से रही है कि सम्भवत: वह डिप्रेस्ड थे और इसी कारण उन्होंने आत्महत्या जैसा कदम उठाया। मरहूम अदाकारा जिया खान की मां राबिया खान ने कहा है कि “सुशांत के मामले में डिप्रेशन की थिएरी को जानबूझकर डाला गया है, क्योंकि इससे सुशांत की मौत को आत्महत्या बताना बेहद आसान हो जाएगा।

राबिया खान ने यह भी कहा कि उन्हें रिया चक्रवर्ती पर भी शक है, क्योंकि उसे जितना चालाक बताया जा रहा है, असल में वह उतनी चालाक है नहीं।” राबिया खान ने जिया, सुशांत सिंह और उनकी पूर्व मैनेजर दिशा सालियान के केस से जुड़ा एक और चौंकाने वाला खुलासा किया है, राबिया खान के मुताबिक तीनों मामलों में डिप्रेशन का एंगल पैदा किया गया है, और ऐसा करने वाला फिल्म जगत का एक शीर्ष निर्देशक है।

राबिया ने कहा, ”महेश भट्ट भी मेरी बेटी के फ्यूनरल में पहुंचे थे और तब भी उन्होंने कहा था कि वह डिप्रेस्ड थी। अब महेश भट्ट ने सुशांत मामले में भी यही कहा कि वो डिप्रेस्ड था। मेरी बेटी डिप्रेस्ड नहीं थी और उसका मर्डर हुआ है, लेकिन सुशांत तो बेचारा फंस गया।”

जिया खान, दिवंगत अभिनेत्री (Image: Twitter)

राबिया ने कहा कि “सात साल पहले मेरी बेटी के फ्यूनरल में जब महेश भट्ट आए थे तब उन्होंने कहा था कि तुम्हारी बेटी डिप्रेस्ड थी। विरोध किया तो महेश भट्ट ने कहा कि चुप हो जाओ नहीं तो तुम्हे भी इंजेक्शन देकर सुला देंगे।”

राबिया बोलीं, ”महेश भट्ट और रजा मुराद मेरी बेटी के फ्यूनरल पर आए थे। इन दोनों से मैं कभी मिली तक नहीं थी। इसके बाद महेश भट्ट हमारे घर के अंदर आए, और हॉल में बैठ गए। मैं नीचे जमीन पर बैठी हुई थी, इसी दौरान मुझसे बोले.. डिप्रेस्ड। तो मैंने कहा कि सर वो डिप्रेस्ड नहीं थी। उस समय मैं कुछ और बोलना चाहती थी, लेकिन वो बोले कि चुप हो जाओ नहीं तो तुम्हे भी इंजेक्शन देकर सुला देंगे।”

यह भी पढ़ें- सुसाइड की थ्योरी को पूरी तरह खारिज करते हैं सुशांत सिंह की डायरी के पन्ने

राबिया ने आगे कहा, ”मैं झूठ नहीं बोलती। मैं सच बोलती हूं। मैं किसी पर आरोप नहीं लगाती। आप उस सच को चाहे जिस तरह से लीजिए। आप मुझे कोर्ट-कचहरी ले जाइए। मैं जाउंगी। इतने साल मैं चुप रही थी। इतने वक्त मैं चुप थी। क्योंकि मैं अपनी लड़ाई लड़ रही हूं।

diary of sushant singh discredit suicide theory
सुशांत सिंह राजपूत, दिवंगत अभिनेता (Image: Sushant Singh Rajput, Instagram)

आज जब सुशांत सिंह और दिशा सालियान के मामले में सब देख रही हूं तो मुझसे रहा नहीं गया। इसीलिए मैंने सब बता दिया, क्योंकि सुशांत के साथ भी डिप्रेशन की कहानी जोड़ी जा रही है। हू-ब-हू वही चीज देखने को मिली, जो मेरी बेटी के केस में था। जब वही चीज फिर से देख रही हूं, तो बोलना तो पड़ता है ना।”

राबिया के मुताबिक “मुंबई पुलिस पर जब सुशांत की संदिग्ध मौत की जांच को लेकर दबाव बढ़ा तो जानबूझकर डिप्रेशन की थिएरी तैयार कर ली गई। माया जाल तैयार कर मामले को पिछले दो महीने से खींचा जा रहा है। ये तो खेल है.. ये एक चाल है।”(IANS)

POST AUTHOR

न्यूज़ग्राम डेस्क
संवाददाता, न्यूज़ग्राम हिन्दी

जुड़े रहें

6,018FansLike
0FollowersFollow
173FollowersFollow

सबसे लोकप्रिय

धर्म निरपेक्षता के नाम पर हिन्दुओ को सालों से बेवकूफ़ बनाया गया है: मारिया वर्थ

यह आर्टिक्ल मारिया वर्थ के ब्लॉग पर छपे अंग्रेज़ी लेख के मुख्य अंशों का हिन्दी अनुवाद है।

विज्ञापनों पर पानी की तरह पैसे बहा रही केजरीवाल सरकार, कपिल मिश्रा ने लगाया आरोप

पिछले 3 महीनों से भारत, कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहा है। इन बीते तीन महीनों में, हम लगातार राज्य सरकारों की...

गाय के चमड़े को रक्षाबंधन से जोड़ने कि कोशिश में था PETA इंडिया, विरोध होने पर साँप से की लेखक शेफाली वैद्य कि तुलना

आज ट्वीटर पर मचे एक बवाल में PETA इंडिया का हिन्दू घृणा खुल कर सबके सामने आ गया है। ये बात...

भारत का इमरान को करारा जवाब, दिखाया आईना

भारत ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान द्वारा संयुक्त राष्ट्र महासभा में दिए गए भाषण पर आईना दिखाते हुए करारा जवाब दिया...

क्या अमनातुल्लाह खान द्वारा लिया गया ‘दान’, दंगों में खर्च हुए पैसों की रिकवरी थी? बड़ा सवाल!

फरवरी महीने में हुए दिल दहला देने वाले हिन्दू विरोधी दंगों को लेकर दिल्ली पुलिस आक्रमक रूप से लगातार कार्यवाही कर रही...

दिल्ली दंगा करवाने में ‘आप’ पार्षद ताहिर हुसैन ने खर्च किए 1.3 करोड़ रूपए: चार्जशीट

इस साल फरवरी में हुए हिन्दू विरोधी दिल्ली दंगों को लेकर आज दिल्ली पुलिस ने कड़कड़डूमा कोर्ट में चार्ज शीट दाखिल किया।...

जब इन्दिरा गांधी ने प्रोटोकॉल तोड़ मुग़ल आक्रमणकारी बाबर को दी थी श्रद्धांजलि

ये बात तब की है जब इन्दिरा गांधी भारत की प्रधानमंत्री हुआ करती थी। वर्ष 1969 में इन्दिरा गांधी काबुल, अफ़ग़ानिस्तान के...

रियाज़ नाइकू को ‘शिक्षक’ बताने वाले मीडिया संस्थानो के ‘आतंकी सोच’ का पूरा सच

कौन है रियाज़ नायकू? कश्मीर के आतंकवादी संगठन हिजबुल मुजाहिद्दीन का आतंकी कमांडर बुरहान वाणी 2016 में ...

हाल की टिप्पणी