Wednesday, September 23, 2020
Home मनोरंजन सुसाइड की थ्योरी को पूरी तरह खारिज करते हैं सुशांत सिंह की...

सुसाइड की थ्योरी को पूरी तरह खारिज करते हैं सुशांत सिंह की डायरी के पन्ने

डायरी के पन्नों के मुताबिक सुशांत सिर्फ बॉलीवुड नहीं बल्कि हॉलीवुड में भी पैर पसारना चाहते थे। और तो और वह अपना खुद का प्रोडक्शन हाउस भी शुरू करना चाहते थे।

By: जयंत के. सिंह

सुशांत सिंह राजपूत ने आत्महत्या की है या उनकी हत्या हुई है, यह अब जांच का विषय है लेकिन सुशांत की निजी डायरी के पन्ने कुछ और ही कहानी बयां कर रहे हैं। ये पन्ने चीख-चीख कर कह रहे हैं कि सुशांत ने 2020 के लिए जो प्लानिंग की थी, उसे देखते हुए वह सुसाइड कर ही नहीं सकते।

आईएएनएस के पास सुशांत की निजी डायरी के छह पन्ने हैं और हर पन्ना इस बात का सबूत देता है कि यह प्रतिभाशाली अभिनेता अपनी आगे की जिंदगी के लिए पूरी तरह तैयार था और इस लिहाज से उसके अवसाद में जाने और इस कारण आत्महत्या करने की थिओरी पूरी तरह खारिज होती दिख रही है।

डायरी के पन्नों के मुताबिक सुशांत सिर्फ बॉलीवुड नहीं बल्कि हॉलीवुड में भी पैर पसारना चाहते थे। और तो और वह अपना खुद का प्रोडक्शन हाउस भी शुरू करना चाहते थे। इसके अलावा सुशांत ने अपना खुद का व्यवसाय भी शुरू करने का प्लान बना रखा था।

Justice for sushant singh rajput case update
सुशांत सिंह राजपूत, दिवंगत अभिनेता (Image: Sushant Singh Rajput, Instagram)

सुशांत ने अपनी डायरी के एक पन्ने पर इंटरटेनमेंट टाइटिल दिया और उसके नीचे लिखा है कि 2020 में उनका प्लान हॉलीवुड और बॉलीवुड दोनों में धाक जमाने का है। इसी पन्ने पर उन्होंने स्टार्टअप का जिक्र किया है, जो इमेडेंट टेक्नोलॉजी पर आधारित होगा। इस पन्ने की मुख्य बात यह है कि सुशांत ने एक प्रोडक्शन हाउस शुरू करने का प्लान बनाया था, जिसमें शीर्ष राइटर्स के साथ आइडिया डेवलपमेंट करना था। साथ ही वह एक प्रोडक्शन हाउस शुरू करने चाहते थे, जिसके बार में उन्होंने लिखा है कि वह अनुभवी तथा नए कलाकारों को मौका देना चाहेंगे।

यही नहीं, सुशांत राइटर्स की एक टीम बनाना चाहते थे, जो उनके प्रोडक्शन हाउस के लिए नई-नई कहानियां लिखे। सुशांत की डायरी के एक अन्य पन्ने में क्रिएटिव टीम के गठन का जिक्र है। इस पन्ने पर सुशांत ने कई स्टेप्स का जिक्र किया है। पहले स्टेप में कम्पनी का क्रिएशन शामिल है। दूसरे स्टेप को उन्होंने एक्सप्लोर नाम दिया है, जिसमें एफटीआईआई जैसे अग्रणी संस्थान में जाकर प्रतिभाओं को तलाशना शामिल है। इसके बाद स्टेप-3 है, जिसमें पहली स्क्रीनिंग का आइडिया है।

यह भी पढ़ें: सुशांत के भाई ने संजय राउत को भेजा नोटिस, 48 घंटे में माफी मांगने को कहा

14 जून के बांद्रा के अपने फ्लैट में कथित रूप से आत्महत्या करने वाले इस प्रतिभाशाली अभिनेता की डायरी का अगला पन्ना काफी अहम है। सुशांत लिखते हैं कि उनका आगे का प्लान क्या है। वह एक लीगल टीम भी खड़ी करना चाहते थे। वह श्रेष्ठ फॉरेन फिल्म डायरेक्र्टस और राइटर्स से सम्पर्क करना चाहते थे। लीगल टीम के लिए सुशांत ने पहले किसी प्रियंका का नाम लिखा और फिर उसे काटकर वहां पीएस लिख दिया। फिर इसके आगे उन्होंने किसी श्रृद्धा का नाम लिखा और फिर उसे काटकर मेघा कर दिया।

ed interrogating rhea chakraborty
रिया चक्रवर्ती व सुशांत सिंह राजपूत (Image: Rhea Chakraborty, Instagram)

एक और पन्ना है, जो इस बात का सबूत है कि सुशांत यह सब अकेले करना चाहते थे। पूरी प्लानिंग में रिया चक्रवर्ती का कहीं कोई जिक्र नहीं है। इसका कारण यह है कि सुशांत ने एक पन्ने पर साफ लिखा है कि वह अपनी टीम अपने दम पर खड़ी करना चाहते हैं और इसके लिए वह पर्सनली इससे जुड़े लोगों से मिलना चाहेंगे।

यह भी पढ़ें: ‘जस्टिस फॉर सुशांत’ का बिहार चुनाव पर कैसे होगा असर, जानिए इसके राजनीतिक मायने

जहां पर लीगल टीम के गठन का जिक्र है और बार-बार प्रियंका और श्रृद्धा का नाम आ रहा है। यही एक बहुत महत्वपूर्ण बात लिखी है और वो यह है कि वह अपनी लीगल टीम 3 सप्ताह के अंदर गठित करना चाहते हैं। अब सबसे बड़ा सवाल यह है कि सुशांत एक लीगल टीम बनाने के लिए इतनी जल्दबाजी में क्यों थे। क्या वह रिया से छुटकारा पाना चाहते थे या फिर अपनी आगे की प्लानिंग को एक्जक्यूट करने को लेकर काफी संजीदा और जल्दी में थे। लीगल टीम बनाने के पीछे दोनों कारण हो सकते हैं, पर इन सब बातों से साफ है कि जो इंसान इतनी लम्बी प्लानिंग करके चल रहा हो उसका इस तरह अचानक दुनिया छोड़कर जाने का निश्चित तौर पर कोई प्लानिंग नहीं रहा होगा।(आईएएनएस)

POST AUTHOR

न्यूज़ग्राम डेस्क
संवाददाता, न्यूज़ग्राम हिन्दी

जुड़े रहें

6,023FansLike
0FollowersFollow
162FollowersFollow

सबसे लोकप्रिय

धर्म निरपेक्षता के नाम पर हिन्दुओ को सालों से बेवकूफ़ बनाया गया है: मारिया वर्थ

यह आर्टिक्ल मारिया वर्थ के ब्लॉग पर छपे अंग्रेज़ी लेख के मुख्य अंशों का हिन्दी अनुवाद है।

विज्ञापनों पर पानी की तरह पैसे बहा रही केजरीवाल सरकार, कपिल मिश्रा ने लगाया आरोप

पिछले 3 महीनों से भारत, कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहा है। इन बीते तीन महीनों में, हम लगातार राज्य सरकारों की...

क्या अमनातुल्लाह खान द्वारा लिया गया ‘दान’, दंगों में खर्च हुए पैसों की रिकवरी थी? बड़ा सवाल!

फरवरी महीने में हुए दिल दहला देने वाले हिन्दू विरोधी दंगों को लेकर दिल्ली पुलिस आक्रमक रूप से लगातार कार्यवाही कर रही...

दिल्ली दंगा करवाने में ‘आप’ पार्षद ताहिर हुसैन ने खर्च किए 1.3 करोड़ रूपए: चार्जशीट

इस साल फरवरी में हुए हिन्दू विरोधी दिल्ली दंगों को लेकर आज दिल्ली पुलिस ने कड़कड़डूमा कोर्ट में चार्ज शीट दाखिल किया।...

गाय के चमड़े को रक्षाबंधन से जोड़ने कि कोशिश में था PETA इंडिया, विरोध होने पर साँप से की लेखक शेफाली वैद्य कि तुलना

आज ट्वीटर पर मचे एक बवाल में PETA इंडिया का हिन्दू घृणा खुल कर सबके सामने आ गया है। ये बात...

रियाज़ नाइकू को ‘शिक्षक’ बताने वाले मीडिया संस्थानो के ‘आतंकी सोच’ का पूरा सच

कौन है रियाज़ नायकू? कश्मीर के आतंकवादी संगठन हिजबुल मुजाहिद्दीन का आतंकी कमांडर बुरहान वाणी 2016 में ...

जब इन्दिरा गांधी ने प्रोटोकॉल तोड़ मुग़ल आक्रमणकारी बाबर को दी थी श्रद्धांजलि

ये बात तब की है जब इन्दिरा गांधी भारत की प्रधानमंत्री हुआ करती थी। वर्ष 1969 में इन्दिरा गांधी काबुल, अफ़ग़ानिस्तान के...

“कौन दिशा में लेके चला रे बटोहिया..” के सदाबहार गायक जसपाल सिंह की कहानी

“कौन दिशा में लेके चला रे बटोहिया” इस गाने को किसने नहीं सुना होगा। अगर आप 80’ के दशक से हैं...

हाल की टिप्पणी