Saturday, June 12, 2021
Home व्यक्ति विशेष तपस्यानंद सरस्वती सन्यासी महासभा के प्रमुख वैदिक आचार्य चुने गए

तपस्यानंद सरस्वती सन्यासी महासभा के प्रमुख वैदिक आचार्य चुने गए

प्रसिद्ध धार्मिक व्यक्तित्व केरल के स्वामी तपस्यानंद सरस्वती, अहमदाबाद में स्थित सन्यासी महासभा के प्रमुख वैदिक आचार्य बनने वाले पहले दक्षिण भारतीय बन गए हैं।

प्रसिद्ध धार्मिक व्यक्तित्व केरल के स्वामी तपस्यानंद सरस्वती, अहमदाबाद में स्थित सन्यासी महासभा के प्रमुख वैदिक आचार्य बनने वाले पहले दक्षिण भारतीय बन गए हैं। मुंबई में उनके आधिकारिक प्रवक्ता ने कहा, स्वामी तपस्यानंद की प्रतिष्ठित पद पर नियुक्ति स्वामी जगदानंद सरस्वती द्वारा की गई थी, जो कि 6,000 संन्यासी महासभा के आध्यात्मिक प्रमुख थे।

स्वामी तपस्यानंद ने आईएएनएस को बताया, “मुख्य वैदिक आचार्य के रूप में मेरे कर्तव्य प्राचीन वैदिक ज्ञान और लोगों के बीच अन्य धर्मग्रंथों को बढ़ावा देने और प्रचार करने के लिए होंगे, मानव जाति के लाभ के लिए विशेष यज्ञों और अन्य धार्मिक समारोहों सहित विभिन्न अनुष्ठानों का प्रदर्शन करेंगे।”

केंद्रीय त्रावणकोर, केरल में एक समृद्ध परिवार से, स्वामी तापस्यानंद वेदशीला चैरिटेबल ट्रस्ट, मैसूर (कर्नाटक) के संस्थापक और धर्माधिकारी हैं।

Swami Tapsyananda Saraswati
स्वामी तपस्यानंद सरस्वती।(आईएएनएस)

उनके प्रवक्ता प्रदीप मेनन ने कहा कि स्वामीजी ने बचपन से ही जिज्ञासा की प्रबल भावना प्रदर्शित की, नियमित औपचारिक शिक्षा से संतुष्ट नहीं हुए और पूरे भारत में उच्च और आध्यात्मिक ज्ञान की खोज में सड़कों पर उतर गये।

उन्होंने वेदों और पुराणों के मूल सिद्धांतों में महारत हासिल करने के लिए स्वामी भोमानंद तीर्थ, त्रिचूर में अध्ययन किया और अपने गुरु सुदर्शन स्वरूप और अन्य योग्य सम्मानों से अपने ब्रह्मचर्य दिवस का अधिग्रहण किया।

मेनन ने कहा, “पूर्वजों के ज्ञान और करुणा को प्राप्त करने के लिए अपरंपरागत लेकिन व्यापक अध्ययन के वर्षों के बाद स्वामी तपस्यानंद अपने गृह-राज्य में लौट आए, उन्होंने सक्रिय रूप से भाग लिया और सामाजिक सुधारों, सभी-धार्मिक बैठकों, सामाजिक, शैक्षणिक और धर्मार्थ पहल में योगदान दिया।”

यह भी पढ़ें: Badrinath Dham: बद्रीनाथ धाम बनेगा स्मार्ट आध्यात्मिक शहर

अपने संन्यास के 12 वें वर्ष में स्वामी तपस्यानंद ने मोहिनीअट्टम में प्रवीण लेखक और कोरियोग्राफर उमा से शादी की। इस दंपति की एक बेटी वेदस्मृति है।

मैसूर में ट्रस्ट के अलावा, कन्याकुमारी, तमिलनाडु में, स्वामी तपस्यानंद ने मारुथवामाला में एक आश्रम, वृद्ध गायों के लिए एक आश्रम और साधकों को आध्यात्मिक और ज्योतिषीय मार्गदर्शन के लिए एक वेदशिला केंद्र स्थापित किया है।(आईएएनएस-SHM)

POST AUTHOR

न्यूज़ग्राम डेस्क
संवाददाता, न्यूज़ग्राम हिन्दी

जुड़े रहें

7,623FansLike
0FollowersFollow
177FollowersFollow

सबसे लोकप्रिय

धर्म निरपेक्षता के नाम पर हिन्दुओ को सालों से बेवकूफ़ बनाया गया है: मारिया वर्थ

यह आर्टिक्ल मारिया वर्थ के ब्लॉग पर छपे अंग्रेज़ी लेख के मुख्य अंशों का हिन्दी अनुवाद है।

विज्ञापनों पर पानी की तरह पैसे बहा रही केजरीवाल सरकार, कपिल मिश्रा ने लगाया आरोप

पिछले 3 महीनों से भारत, कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहा है। इन बीते तीन महीनों में, हम लगातार राज्य सरकारों की...

भारत का इमरान को करारा जवाब, दिखाया आईना

भारत ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान द्वारा संयुक्त राष्ट्र महासभा में दिए गए भाषण पर आईना दिखाते हुए करारा जवाब दिया...

जब इन्दिरा गांधी ने प्रोटोकॉल तोड़ मुग़ल आक्रमणकारी बाबर को दी थी श्रद्धांजलि

ये बात तब की है जब इन्दिरा गांधी भारत की प्रधानमंत्री हुआ करती थी। वर्ष 1969 में इन्दिरा गांधी काबुल, अफ़ग़ानिस्तान के...

दिल्ली की कोशिश पूरे 40 ओवर शानदार खेल खेलने की : कैरी

 दिल्ली कैपिटल्स के विकेटकीपर एलेक्स कैरी ने कहा है कि टीम के लिए यह समय है टूर्नामेंट में दोबारा शुरुआत करने का।...

गाय के चमड़े को रक्षाबंधन से जोड़ने कि कोशिश में था PETA इंडिया, विरोध होने पर साँप से की लेखक शेफाली वैद्य कि तुलना

आज ट्वीटर पर मचे एक बवाल में PETA इंडिया का हिन्दू घृणा खुल कर सबके सामने आ गया है। ये बात...

दिल्ली दंगा करवाने में ‘आप’ पार्षद ताहिर हुसैन ने खर्च किए 1.3 करोड़ रूपए: चार्जशीट

इस साल फरवरी में हुए हिन्दू विरोधी दिल्ली दंगों को लेकर आज दिल्ली पुलिस ने कड़कड़डूमा कोर्ट में चार्ज शीट दाखिल किया।...

क्या अमनातुल्लाह खान द्वारा लिया गया ‘दान’, दंगों में खर्च हुए पैसों की रिकवरी थी? बड़ा सवाल!

फरवरी महीने में हुए दिल दहला देने वाले हिन्दू विरोधी दंगों को लेकर दिल्ली पुलिस आक्रमक रूप से लगातार कार्यवाही कर रही...

हाल की टिप्पणी