Never miss a story

Get subscribed to our newsletter


×

कई वर्षों से टीम को सेवा दे रहे हैं श्रीधर(Wikimedia commons)

भारतीय टीम के फील्डिंग कोच रामाकृष्णन श्रीधर जिनका टीम के साथ टी20 विश्व कप आखिरी दौरा है, उन्होंने राष्ट्रीय टीम की सेवा करने का मौका देने के लिए भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) को धन्यवाद दिया। आपको बता दें श्रीधर का कार्यकाल टी20 विश्व कप के बाद खत्म हो रहा है। फील्डिंग कोच ने इंस्टाग्राम के जरिए अपने विचार प्रकट किए।





श्रीधर ने इंस्टाग्राम पर लिखा, "अब जब मैं भारतीय क्रिकेट टीम के फील्डिंग कोच के रूप में अपने अंतिम दौरे पर हूं तो मैं बीसीसीआई को 2014 से 2021 तक टीम की सेवा करने का अवसर देने के लिए धन्यवाद देता हूं। मुझे विश्वास है कि मैंने अपना काम जुनून, ईमानदारी, प्रतिबद्धता और अपनी सर्वश्रेष्ठ क्षमताओं के साथ पूरा किया है।"इसके अलावा श्रीधर ने कोच रवि शास्त्री को भी धन्यवाद देते हुए कहा ,"शास्त्री को विशेष रूप से धन्यवाद जो एक प्रेरणास्रोत्र लीडर हैं। मैं भाग्यशाली हूं जिसे प्रतिभाशाली क्रिकेटरों के साथ काम करने और इन्हें कोचिंग देने का मौका मिला। मैंने रिश्तों को बढ़ावा दिया और यादें बनाईं जिन्हें मैं जीवन भर संजो कर रखूंगा।"


यह भी पढ़े: सुनील छेत्री ने तोड़ा पेले का रिकॉर्ड

आपको बता दें मुख्य कोच रवि शास्त्री का भी कार्यकाल t20 विश्व कप के बाद खत्म हो जाएगा जिस कारण बीसीसीआई ने मुख्य कोच के पद के लिए आवेदन मंगाए हैं जिसकी डेडलाइन 26 अक्टूबर है।Input आईएएनएस

Popular

 विश्व हिंदू परिषद (वीएचपी) ने सोशल मीडिया पर एक वीडियो सर्कुलेट किया है, जिसमें ‘अयोध्या में राम मंदिर के लिए संघर्ष’ को दिखाया गया है। ‘श्री राम जन्मभूमि विजय गाथा’ शीर्षक वाला 13 मिनट का वीडियो अयोध्या में राम मंदिर के लिए संघर्ष की शुरुआत 1528 से शुरू होता है जब मंदिर को कथित रूप से मुगल शासक बाबर द्वारा गिरा दिया गया था, इसमें 1992 में बाबरी मस्जिद के विध्वंस को भी दिखाया गया है और राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवाद मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद 2020 में मंदिर के लिए निर्माण को भी दर्शाया गया है।

वीएचपी के प्रवक्ता विनोद बंसल ने कहा, “वृत्तचित्र का निर्माण अभिनेता और निर्देशक चंद्र प्रकाश द्विवेदी द्वारा किया गया है। लेकिन उन्होंने वृत्तचित्र की क्रेडिट में अपना नाम नहीं दिया है। उन्होंने इसे भगवान राम की सेवा के रूप में बनाया है।”

Keep Reading Show less