Never miss a story

Get subscribed to our newsletter


×

कई वर्षों से टीम को सेवा दे रहे हैं श्रीधर(Wikimedia commons)

भारतीय टीम के फील्डिंग कोच रामाकृष्णन श्रीधर जिनका टीम के साथ टी20 विश्व कप आखिरी दौरा है, उन्होंने राष्ट्रीय टीम की सेवा करने का मौका देने के लिए भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) को धन्यवाद दिया। आपको बता दें श्रीधर का कार्यकाल टी20 विश्व कप के बाद खत्म हो रहा है। फील्डिंग कोच ने इंस्टाग्राम के जरिए अपने विचार प्रकट किए।





श्रीधर ने इंस्टाग्राम पर लिखा, "अब जब मैं भारतीय क्रिकेट टीम के फील्डिंग कोच के रूप में अपने अंतिम दौरे पर हूं तो मैं बीसीसीआई को 2014 से 2021 तक टीम की सेवा करने का अवसर देने के लिए धन्यवाद देता हूं। मुझे विश्वास है कि मैंने अपना काम जुनून, ईमानदारी, प्रतिबद्धता और अपनी सर्वश्रेष्ठ क्षमताओं के साथ पूरा किया है।"इसके अलावा श्रीधर ने कोच रवि शास्त्री को भी धन्यवाद देते हुए कहा ,"शास्त्री को विशेष रूप से धन्यवाद जो एक प्रेरणास्रोत्र लीडर हैं। मैं भाग्यशाली हूं जिसे प्रतिभाशाली क्रिकेटरों के साथ काम करने और इन्हें कोचिंग देने का मौका मिला। मैंने रिश्तों को बढ़ावा दिया और यादें बनाईं जिन्हें मैं जीवन भर संजो कर रखूंगा।"


यह भी पढ़े: सुनील छेत्री ने तोड़ा पेले का रिकॉर्ड

आपको बता दें मुख्य कोच रवि शास्त्री का भी कार्यकाल t20 विश्व कप के बाद खत्म हो जाएगा जिस कारण बीसीसीआई ने मुख्य कोच के पद के लिए आवेदन मंगाए हैं जिसकी डेडलाइन 26 अक्टूबर है।Input आईएएनएस

Popular

भूमि का पराली जलाना। (WIKIMEDIA COMMONS)

मॉनसून की वापसी की आधिकारिक तौर पर उलटी गिनती शुरू होने के साथ ही खराब वायु गुणवत्ता वाले दिनों की आशंका शुरू हो गई है। मॉनसून की वापसी होते ही, उल्टी गिनती शुरू होने के साथ खराब वायु गुणवत्ता वाले दिनों की चिंता भी शुरू हो गई है। पंजाब और हरियाणा के किसानों द्वारा 'पराली' (पराली जलाना) प्रदूषण का मूल कारण है। परंतु अब यही किसान ना केवल कृषि कचरे से कमाई , बल्कि हाइड्रोजन के उत्पादन में भी सहायता कर सकते हैं।

पुणे के शोधकर्ताओं द्वारा कृषि अवषेशों से हाइड्रोजन के सीधे उत्पादन के लिए एक अनोखी तकनीक विकसित की है। यह नवाचार हाइड्रोजन उपलब्धता की चुनौती पर काबू पाकर पर्यावरण के अनुकूल हाइड्रोजन ईंधन-सेल इलेक्ट्रिक वाहनों को बढ़ावा दे सकता है। भारत ने अपने राष्ट्रीय स्तर पर निर्धारित योगदान (एनडीसी) के हिस्से के रूप में विश्व समुदाय से कई कदमों का वादा किया है, भारत ग्लोबल वार्मिंग को सीमित करने के लिए कार्बन उत्सर्जन को सीमित करने के लिए कार्रवाई करेगा। इसने 2030 तक 450 गीगावॉट नवीकरणीय ऊर्जा का लक्ष्य रखा है।

Keep Reading Show less

ओला इलेक्ट्रिक के स्कूटर।(IANS)

ओला इलेक्ट्रिक ने घोषणा की है कि कंपनी ने 600 करोड़ रुपये से अधिक मूल्य के ओला एस1 स्कूटर बेचे हैं। ओला इलेक्ट्रिक का दावा है कि उसने पहले 24 घंटों में हर सेकेंड में 4 स्कूटर बेचने में कामयाबी हासिल की है। बेचे गए स्कूटरों का मूल्य पूरे 2डब्ल्यू उद्योग द्वारा एक दिन में बेचे जाने वाले मूल्य से अधिक होने का दावा किया जाता है।

कंपनी ने जुलाई में घोषणा की थी कि उसके इलेक्ट्रिक स्कूटर को पहले 24 घंटों के भीतर 100,000 बुकिंग प्राप्त हुए हैं, जो कि एक बहुत बड़ी सफलता है। 24 घंटे में इतनी ज्यादा बुकिंग मिलना चमत्कार से कम नहीं है। इसकी डिलीवरी अक्टूबर 2021 से शुरू होगी और खरीदारों को खरीद के 72 घंटों के भीतर अनुमानित डिलीवरी की तारीखों के बारे में सूचित किया जाएगा।

Keep Reading Show less

इलेक्ट्रिक वाहन निर्माता कंपनी टेस्ला की कार।(Wikimedia Commons)

एक नई रिपोर्ट आई है , जिसके अनुसार दुनिया की सबसे बड़ी , इलेक्ट्रिक वाहन निर्माता कंपनी टेस्ला के ऑटोपायलट के सक्रिय होने पर चालक के ध्यान में कमी आती है। इस बात का जिक्र एमआईटी एडवांस्ड व्हीकल टेक्नोलॉजी डेटा के आधार पर हुआ जहा एक नइ रिपोर्ट आई इसके अनुसार, गाड़ी चलाते हुए ड्राइवर ऑटोपायलट के सक्रिय होने पर अधिक बार और अधिक समय तक ड्राइविंग से संबंधित चीजों को देखते हैं।
सर्वे में पाया गया , कि मॉडल सभी ड्राइवरों में देखे गए नजर पैटर्न को दोहराता है। मॉडल के घटकों से पता चलता है कि ऑफ-रोड झलकियां बिना ऑटोपायलट के सक्रिय थीं और उनकी आवृत्ति विशेषताओं में बदलाव आया था।
ड्राइविंग से संबंधित ऑफ-रोड मैनुअल ड्राइविंग की तुलना में ऑटोपायलट के सक्रिय होने के साथ कम होती है, जबकि डाउन/सेंटर-स्टैक क्षेत्रों में गैर-ड्राइविंग संबंधित झलक सबसे अधिक बार और सबसे लंबी थी ।

\u091f\u0947\u0938\u094d\u0932\u093e टेस्ला के ऑटोपायलट के सक्रिय होने पर चालक के ध्यान में कमी आती है। (wikimedia commons)

Keep reading... Show less