Never miss a story

Get subscribed to our newsletter


×
टेक्नोलॉजी

'संभावित रूप से हानिकारक' कंटेंट की विजिबिलिटी को कम करेगा इंस्टाग्राम

मेटा के स्वामित्व वाला फोटो-शेयरिंग प्लेटफॉर्म इंस्टाग्राम अपने ऐप में 'संभावित रूप से हानिकारक' कंटेंट को कम दिखाई देने के लिए नए कदम उठा रहा है।

'संभावित रूप से हानिकारक' कंटेंट की विजिबिलिटी को कम करेगा इंस्टाग्राम (Wikimedia Commons)

मेटा(Meta) के स्वामित्व वाला फोटो-शेयरिंग प्लेटफॉर्म इंस्टाग्राम (Instagram) अपने ऐप में 'संभावित रूप से हानिकारक' कंटेंट को कम दिखाई देने के लिए नए कदम उठा रहा है। एनगैजेट की रिपोर्ट के अनुसार, कंपनी ने कहा कि यूजर्स के फीड और स्टोरीज में पोस्ट करने के तरीके को सशक्त करने वाला एल्गोरिदम अब ऐसे कंटेंट को प्राथमिकता देगा, जिसमें 'बदमाशी, अभद्र भाषा या हिंसा भड़काने वाली सामग्री हो सकती है।'

इंस्टाग्राम के नियम पहले से ही इस प्रकार की अधिकांश सामग्री को प्रतिबंधित करते हैं, जबकि परिवर्तन सीमा रेखा पोस्ट या कंटेंट को प्रभावित कर सकता है जो अभी तक ऐप के मॉडरेटर तक नहीं पहुंची है। कंपनी ने एक अपडेट में बताया, "यह समझने के लिए कि क्या कोई चीज हमारे नियमों को तोड़ सकती है, हम चीजों को देखेंगे जैसे कि कैप्शन एक कैप्शन के समान है जो पहले हमारे नियमों को तोड़ता था।"


Instagram, Meta, Social Media, \u0907\u0902\u0938\u094d\u091f\u093e\u0917\u094d\u0930\u093e\u092e, \u092e\u0947\u091f\u093e 'संभावित रूप से हानिकारक' कंटेंट की विजिबिलिटी को कम करेगा इंस्टाग्राम (Wikimedia Commons)


अब तक, इंस्टाग्राम ने ऐप के सार्वजनिक-सामना वाले हिस्सों से संभावित आपत्तिजनक कंटेंट को छिपाने की कोशिश की है, जैसे कि एक्सप्लोर लेकिन यह नहीं बदला है कि इस प्रकार की सामग्री पोस्ट करने वाले खातों का पालन करने वाले यूजर्स के लिए यह कैसा दिखता है। लेटेस्ट परिवर्तन का अर्थ है कि 'समान' वाली पोस्ट जिन्हें पहले हटा दिया गया है, वे विजिटर्स को भी बहुत कम दिखाई देंगी। मेटा के एक प्रवक्ता ने पुष्टि की कि 'संभावित रूप से हानिकारक' पोस्ट अभी भी अंतत: हटाए जा सकते हैं यदि पोस्ट अपने सामुदायिक दिशानिर्देशों को तोड़ती है।

यह भी पढ़ें - नेताजी के पास था भारत की वित्तीय और आर्थिक मजबूती का एक विजन : डॉ. अनीता बोस फाफ

अपडेट 2020 में इसी तरह के बदलाव का अनुसरण करता है जब इंस्टाग्राम ने डाउन-रैंकिंग अकाउंट शुरू किया, जिसमें गलत सूचना साझा की गई थी, जिसे फैक्ट-चेकर्स ने खारिज कर दिया था। इस बदलाव के विपरीत, हालांकि, इंस्टाग्राम ने कहा कि लेटेस्ट नीति केवल व्यक्तिगत पोस्ट को प्रभावित करेगी और 'कुल खातों को नहीं'। (आईएएनएस - AS)

Popular

पीएम नरेंद्र मोदी ने आज काशी विश्वनाथ कॉरिडोर का उद्घाटन किया। (Wikimedia Commons)

आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी(Narendra Modi) ने वाराणसी(Varanasi) में काशी विश्वनाथ कॉरिडोर(Kashi Vishwanath Corridor) का उद्घाटन किया। उद्घाटन से पहले काशी को दुल्हन की तरह सजाया गया था।

अपने दो दिवसीय काशी प्रवास के पहले दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने काशी पहुंचते ही माँ गंगा में डुबकी लगाईं और काल भैरव मंदिर(Kaal Bhairav Temple) में पूजा अर्चना की। मान्यता है की काशी में जो व्यक्ति आता है उसे सबसे पहले काशी के कोतवाल बाबा काल भैरव का दर्शन करना चाहिए।

Keep Reading Show less

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 13 दिसंबर को काशी विश्वनाथ कॉरिडोर का लोकार्पण करेंगे। (IANS)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी(Narendra Modi) 13 दिसंबर को काशी विश्वनाथ कॉरिडोर(Kashi Vishwanath Corridor) का लोकार्पण करेंगे। इस मौके पर वे बाबा बाबा विश्वनाथ का अभिषेक भी करेंगे। इससे पहले पिछले साल 30 नवंबर 2020 को जब वे देव-दीपावली के मौके पर जब काशी आए थे तो देव-दीपावली की विहंगम छटा को देखने के लिए वे घाट तक कार से आए थे। अब 13 दिसंबर को होने वाले लोकार्पण समारोह के लिए पूरी काशी(Kashi) को किसी दुल्हन की तरह सजाया जा रहा है। शहर का प्रशासन अब इस लोकार्पण समारोह(Inauguration Ceremony) को अकल्पनीय बनाने के लिए तैयारियों को मूर्त रूप देने में लगा है।

श्री काशी विश्वनाथ धाम(Shree Kashi Vishwanath Dham) में बाबा विश्वनाथ की आरती के समय घंटियों और डमरूओं की निनाद के साथ रोशनी का संयोजन किया गया है। धाम तक आने वाले रास्तों पर फ्लोर लाइटिंग लगाई गई है, जो श्रद्धालुओं को लाइटिंग के साथ बाबा के गर्भगृह तक लेकर जाएगी।

Keep Reading Show less

वाराणसी में काशी विश्वनाथ धाम कॉरिडोर परियोजना के उद्घाटन के बाद महीने भर चलने वाले समारोह का आयोजन किया जाएगा। (Pexels)

बाबा विश्वनाथ की नगरी काशी मैं वैसे तो हमेशा ही भक्तों का आना लगा रहता है इसलिए सभी दिन उत्सव के समान रहते हैं लेकिन अबकी बार काशी में एक ऐसा उत्साह होने जा रहा है जो कि लगभग 1 महीने तक चलने वाला है। यह उत्सव काशी विश्वनाथ धाम कॉरिडोर परियोजना के उद्घाटन के बाद शुरू होगी। माना जा रहा है कि 13 दिसंबर को संभावित रूप से यह उत्सव प्रारंभ हो जायेगा। उद्घाटन के साथ, 14 जनवरी, 2022 को मकर संक्रांति तक शहर में यह मेगा उत्सव मनाया जायेगा।

इस उत्सव में किसानों, उद्योगपतियों, पर्यटन क्षेत्र, राजनीतिक हस्तियों, जन प्रतिनिधियों, राज्य कैबिनेट सदस्यों और समाज के सभी वर्गों के लोगों के प्रतिनिधिमंडल देश काशी विश्वनाथ मंदिर और उसके आसपास के नए माहौल की एक झलक लेने के लिए यहां पहुंचेंगे। इसी अवधि के दौरान सभी राज्यों के तीर्थयात्री विशेष ट्रेनों और बसों से भी पहुंचेंगे।

Keep reading... Show less