Never miss a story

Get subscribed to our newsletter


×

कई वर्षों से टीम को सेवा दे रहे हैं श्रीधर(Wikimedia commons)

भारतीय टीम के फील्डिंग कोच रामाकृष्णन श्रीधर जिनका टीम के साथ टी20 विश्व कप आखिरी दौरा है, उन्होंने राष्ट्रीय टीम की सेवा करने का मौका देने के लिए भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) को धन्यवाद दिया। आपको बता दें श्रीधर का कार्यकाल टी20 विश्व कप के बाद खत्म हो रहा है। फील्डिंग कोच ने इंस्टाग्राम के जरिए अपने विचार प्रकट किए।





श्रीधर ने इंस्टाग्राम पर लिखा, "अब जब मैं भारतीय क्रिकेट टीम के फील्डिंग कोच के रूप में अपने अंतिम दौरे पर हूं तो मैं बीसीसीआई को 2014 से 2021 तक टीम की सेवा करने का अवसर देने के लिए धन्यवाद देता हूं। मुझे विश्वास है कि मैंने अपना काम जुनून, ईमानदारी, प्रतिबद्धता और अपनी सर्वश्रेष्ठ क्षमताओं के साथ पूरा किया है।"इसके अलावा श्रीधर ने कोच रवि शास्त्री को भी धन्यवाद देते हुए कहा ,"शास्त्री को विशेष रूप से धन्यवाद जो एक प्रेरणास्रोत्र लीडर हैं। मैं भाग्यशाली हूं जिसे प्रतिभाशाली क्रिकेटरों के साथ काम करने और इन्हें कोचिंग देने का मौका मिला। मैंने रिश्तों को बढ़ावा दिया और यादें बनाईं जिन्हें मैं जीवन भर संजो कर रखूंगा।"


यह भी पढ़े: सुनील छेत्री ने तोड़ा पेले का रिकॉर्ड

आपको बता दें मुख्य कोच रवि शास्त्री का भी कार्यकाल t20 विश्व कप के बाद खत्म हो जाएगा जिस कारण बीसीसीआई ने मुख्य कोच के पद के लिए आवेदन मंगाए हैं जिसकी डेडलाइन 26 अक्टूबर है।Input आईएएनएस

Popular

कट्टरपंथी इस्लामीक विचारधारा वाला मुस्लिम ब्रदरहुड सबसे पुरानी संगठनों में से एक है। (PEXELS)

मुस्लिम ब्रदरहुड सबसे पुराने इस्लामिक संगठनों में से एक है। कट्टरपंथी इस्लामीक विचारधारा वाला यह संगठन 1928 में मिस्र से निकला था। इसका आरंभ हसन अल बन्ना ने किया था। मिस्र समेत यह 27 देशों में यह संगठन सक्रिय है। इसे आतंकी संगठन भी माना जाता है। इस संगठन के 10 लाख से भी ज्यादा लोग इस संगठन से जुड़े हुए है। लगभग 6 देशों ने इस संगठन पर प्रतिबंध लगा रखा है। इस संगठन का मकसद इस्लाम पर आधारित समाज बनाना है। ब्रदर हुड का मोटो "इस्लाम ही समाधान है"

मुस्लिम ब्रदरहुड के मदद से कतर-तुर्की-पाकिस्तान (क्यू टीपीआई) गठजोड़ कर इस्लामवादियों के लिए एक नए केंद्र के रूप में उभर रहा है। डिसइन्फोलैब की एक नई रिपोर्ट में कहा गया है कि "फर्जी खबरों और दो मीडिया हथियारों, अल जज़ीरा और टीआरटी वर्ल्ड से लैस एमबी ने नई दिल्ली के आर्थिक हितों को लक्षित करने सहित भारत के खिलाफ एक मुहिम शुरू किया है।"

Keep Reading Show less

By : संदीप पौराणिक 

समाचार सामग्री की भाषा के स्तर में आ रही गिरावट को लेकर मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल स्थित माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर के.जी. सुरेश चिंतित हैं। उनका मानना है कि मीडिया जगत में ‘सिटीजन जर्नलिस्ट’ के दाखिले से भाषा में गिरावट आने के साथ विश्वसनीयता ही संकट में पड़ गई है। उन्होंने सवाल उठाया, “जब सिटीजन इंजीनियर या सिटीजन डाक्टर नहीं हो सकता तो फिर सिटीजन जर्नलिस्ट क्यों? हां, सिटीजन कम्युनिकेटर जरूर हो सकता है।”

Keep Reading Show less
नरेंद्र मोदी, प्रधानमंत्री। (PIB)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि आज जब हम आत्मनिर्भर भारत की बात कर रहे हैं, जब लोकल के लिए वोकल होने की बात कर रहे हैं, तब हमारा मीडिया इस संकल्प को एक बड़े अभियान की शक्ल दे रहा है। हमें आत्मनिर्भर भारत के विजन को और व्यापक करने की जरूरत है। प्रधानमंत्री मोदी ने मंगलवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग से जयपुर में पत्रिका गेट का लोकार्पण करते हुए कहा, भारत के लोकल प्रोडक्ट्स ग्लोबल हो रहे हैं। भारत की आवाज भी अब ज्यादा ग्लोबल हो रही है। दुनिया भारत को अब और ज्यादा ध्यान से सुनती है। भारत की हर अंतरराष्ट्रीय मंचों पर मजबूत उपस्थिति है। ऐसे में भारतीय मीडिया को भी ग्लोबल होने की जरूरत है।

नरेंद्र मोदी, प्रधानमंत्री (PIB)

Keep reading... Show less