Never miss a story

Get subscribed to our newsletter


×

कई वर्षों से टीम को सेवा दे रहे हैं श्रीधर(Wikimedia commons)

भारतीय टीम के फील्डिंग कोच रामाकृष्णन श्रीधर जिनका टीम के साथ टी20 विश्व कप आखिरी दौरा है, उन्होंने राष्ट्रीय टीम की सेवा करने का मौका देने के लिए भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) को धन्यवाद दिया। आपको बता दें श्रीधर का कार्यकाल टी20 विश्व कप के बाद खत्म हो रहा है। फील्डिंग कोच ने इंस्टाग्राम के जरिए अपने विचार प्रकट किए।





श्रीधर ने इंस्टाग्राम पर लिखा, "अब जब मैं भारतीय क्रिकेट टीम के फील्डिंग कोच के रूप में अपने अंतिम दौरे पर हूं तो मैं बीसीसीआई को 2014 से 2021 तक टीम की सेवा करने का अवसर देने के लिए धन्यवाद देता हूं। मुझे विश्वास है कि मैंने अपना काम जुनून, ईमानदारी, प्रतिबद्धता और अपनी सर्वश्रेष्ठ क्षमताओं के साथ पूरा किया है।"इसके अलावा श्रीधर ने कोच रवि शास्त्री को भी धन्यवाद देते हुए कहा ,"शास्त्री को विशेष रूप से धन्यवाद जो एक प्रेरणास्रोत्र लीडर हैं। मैं भाग्यशाली हूं जिसे प्रतिभाशाली क्रिकेटरों के साथ काम करने और इन्हें कोचिंग देने का मौका मिला। मैंने रिश्तों को बढ़ावा दिया और यादें बनाईं जिन्हें मैं जीवन भर संजो कर रखूंगा।"


यह भी पढ़े: सुनील छेत्री ने तोड़ा पेले का रिकॉर्ड

आपको बता दें मुख्य कोच रवि शास्त्री का भी कार्यकाल t20 विश्व कप के बाद खत्म हो जाएगा जिस कारण बीसीसीआई ने मुख्य कोच के पद के लिए आवेदन मंगाए हैं जिसकी डेडलाइन 26 अक्टूबर है।Input आईएएनएस

Popular

अधिक से अधिक युवा ई-सिगरेट का उपयोग कर रहे हैं (Pixabay )

दुनिया में धुम्रपान बढ़ता ही जा रहा हैं । आजतक अधिक से अधिक युवा ई-सिगरेट का उपयोग कर रहे हैं, जिन्हें पारंपरिक धूम्रपान की तुलना में सुरक्षित विकल्प के रूप में माना जाता है। यह पूरी तरह से भ्रामक हो सकता है क्योंकि वेपिंग एरोसोल में लगभग 2,000 रसायन होते हैं, जिनमें से अधिकांश औद्योगिक रसायनों और कैफीन सहित अज्ञात हैं , हाल ही में जॉन हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के एक शोध के अनुसार यह तथ्य हैं। भले ही ई-सिगरेट में सिगरेट के दूषित तत्व बहुत कम होते हैं और इसे सिगरेट के लिए एक सुरक्षित विकल्प के रूप में विपणन किया जाता है क्योंकि वे दहन के नीचे के तापमान पर काम करते हैं, यह सुझाव देने के लिए कोई स्पष्ट प्रमाण नहीं है कि वेपिंग सिगरेट पीना बेहतर है।वे एक ऐसे उत्पाद का जो लोग वेपिंग करते हैं उपयोग कर रहे हैं जिसका जोखिम अभी पूरी तरह से निर्धारित नहीं किया गया है और वे स्वास्थ्य पर प्रतिकूल प्रभाव वाले रसायनों के संपर्क में आ सकते हैं।

\u0938\u093f\u0917\u0930\u0947\u091f कैफीन पहले ई-सिगरेट में पाया गया है (Pixabay)

Keep Reading Show less
(wikimedia commons)

अवैध तंबाकू व्यापार सरकार अवैध तंबाकू व्यापार सरकार और कानून प्रवर्तन एजेंसियों के लिए चिंता का एक प्रमुख कारण है

भारत देश में एक गैर-लाभकारी उपभोक्ता अधिकार संगठन, उपभोक्ता ऑनलाइन फाउंडेशन (सीओएफ) ने उपभोक्ताओं के लिए नए कोटपा संशोधन विधेयक 2020 से उभरने वाली चुनौतियों और उनके अधिकारों पर एक विशेष रूप से तैयार की गई सर्व-समावेशी सर्वेक्षण रिपोर्ट पेश की है। भारत चीन के बाद दुनिया में दूसरी सबसे बड़ी तंबाकू का सेवन करने वाली आबादी का घर है
'तंबाकू नियंत्रण विनियमों पर सार्वजनिक राय' शीर्षक वाली इस सर्वेक्षण रिपोर्ट में 5116 उत्तरदाताओं को शामिल किया गया है, जिसमें उत्तर-पूर्वी राज्यों के लोग शामिल हैं। ये उपभोक्ताओं की जमीनी हकीकत, राय, चिंताओं और आवाज का विश्लेषण करने के लिए है, जो विधायी परिवर्तनों के अंतिम प्रभाव वाहक है।

अवैध तंबाकू व्यापार सरकार और कानून प्रवर्तन एजेंसियों के लिए चिंता का एक प्रमुख कारण है। इस व्यापार का एक महत्वपूर्ण हिस्सा 1,640 किलोमीटर की बिना बाड़ वाली सीमा के पास होता है, जो उत्तर-पूर्वी राज्यों जैसे असम, मिजोरम, मणिपुर, नागालैंड, अरुणाचल प्रदेश आदि चीन, म्यांमार, बांग्लादेश जैसे देशों के साथ साझा करते हैं। हालांकि इन राज्यों द्वारा अवैध तंबाकू व्यापार को नियंत्रित करने में सफलता की अलग-अलग डिग्री हासिल की गई है। इस वजह से उप-राष्ट्रीय स्तर पर तंबाकू नियंत्रण की गैर-प्राथमिकता और तंबाकू नियंत्रण नीतियों के अप्रभावी कार्यान्वयन भारत में तंबाकू नियंत्रण के लिए एक महत्वपूर्ण चुनौती बनी हुई है।

Keep Reading Show less