Never miss a story

Get subscribed to our newsletter


×
मनोरंजन

राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार जीतने पर खुश हूं : बी प्राक

बी प्राक ने 67वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों में अपने गीत 'तेरी मिट्टी' के लिए बेस्ट प्लेबैक सिंगर का खिताब जीता है।

गीत 'तेरी मिट्टी' के लिए बेस्ट प्लेबैक सिंगर का खिताब जीता है।(wikimedia commons)

67वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों में कई प्रतिभाशाली लोगों को पुरस्कारों से नवाजा गया एसे में बी प्राक ने 67वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों में अपने गीत 'तेरी मिट्टी' के लिए बेस्ट प्लेबैक सिंगर का खिताब जीता है। उन्होंने और भी विजेताओं के साथ इस पल को साझा किया है ये उनके लिए खास पल रहा। गायक ने अपनी बड़ी जीत के बारे में कहा, "यह साल बहुत अच्छा रहा है। लेकिन सबसे ज्यादा यह पुरस्कार जीतने का पल खास हैं। मैं बहुत खुश हूं। मुझे लगता है कि मैं बहुत खुशनसीब हूं कि हमने एक टीम के साथ ऐसा गीत बनाया जो हमारे राष्ट्र के लिए गौरव के साथ गूंजता है।"

साथ हि वह कहते हैं कि इस पल को वह कभी नहीं भूलेंगे। "आज का दिन मेरे करियर के लिए अनमोल दिन है उन्होंने कहा। हर कलाकार चाहता है कि उसकी सराहना की जाए और राष्ट्रीय पुरस्कार से बड़ा सम्मान कोई नहीं हो सकता।"

 \u092b\u093f\u0932\u094d\u092e \u0915\u0947\u0938\u0930\u0940 2019 की फिल्म केसरी का मुख्य आकर्षण था(wikimedia commons)




आप को बता दे कि तेरी मिट्टी बी प्राक के गीत को भारत के नागरिक बहुत उल्लास के साथ गाते हैं क्योंकि यह उन्हें देश की खातिर बलिदान हुए सैनिकों की याद दिलाता है। मनोज मुंतशिर द्वारा लिखा गया गाना और अरको द्वारा रचित 2019 की फिल्म केसरी का मुख्य आकर्षण था।

यह भी पढ़ें :परेश रावल : अश्लील कॉमेडी का समर्थन नहीं किया मैंने कभी भी

67वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों की घोषणा मार्च 2021 में की गई थी। हाल ही में उनका समापन किया गया क्योंकि उन्होंने हमारे सिनेमा में प्रतिभा को सम्मानित किया और उनका जश्न मनाया। आप को बता दे किबी प्राक के अलावा, मनोज बाजपेयी, रजनीकांत, धनुष, कंगना रनौत और विजय सेतुपति जैसे बड़े फिल्म कलाकारों को भारतीय सिनेमा में उनके काम के लिए सम्मानित किया गया है।(आईएएनएस-PS)

न्यूज़ग्राम के साथ Facebook, Twitter और Instagram पर भी जुड़ें!

Popular

अबु धाबी में धोनी और गेल दिखे साथ [ Wikimedia Commons ]

अबु धाबी में हो रहे इस साल के T20 विश्व कप में सोमवार को भारतीय टीम ने अपने पहले वार्मअप मैच में इंग्लैंड को सात विकेट से हराया। वहीं भारतीय टीम के मेंटर महेंद्र सिंह धोनी और वेस्टइंडीज के सलामी बल्लेबाज क्रिस गेल को अबु धाबी में साथ देखा गया।

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने मैच के बाद ट्विटर पर धोनी और गेल की साथ की तस्वीर को साझा करते हुए लिखा,'' दो महान खिलाड़ी एक साथ एक यादगार फोटो में।''

Keep Reading Show less

ट्विटर यूजर्स को गलत पोस्ट और गलत बातचीत करने से पहले चेतावनी देगा नया फीचर (Pixabay)

यूजर्स को गलत पोस्ट और गलत बातचीत करने से पहले चेतावनी देगा नया फीचर क्योंकि माइक्रो-ब्लॉगिंग साइट ट्विटर आईओएस और एंड्रॉइड पर नए फीचर पर टेस्ट कर रहा है । द वर्ज की रिपोर्ट के अनुसार, चल रही बातचीत में एक संकेत दिया गया है जो कहता है कि इस तरह की बातचीत तीव्र हो सकती है।
गहन बातचीत में से एक का उत्तर देने का उपयोगकर्ता प्रयास करते हैं, तो चलो एक दूसरे के लिए देखो और सहानुभूति और तथ्य-आधारित बातचीत को प्रोत्साहित करने के लिए तीन बुलेट बिंदु देगा।

" हम एंड्रॉइड और आईओएस पर संकेतों का परीक्षण कर रहे हैं जो आपको सूचित करते हैं कि आप जिस बातचीत में प्रवेश करने वाले हैं, वह गर्म या तीव्र हो सकता है।" माइक्रो-ब्लॉगिंग साइट के सपोर्ट पेज पर यह लिखा है ।यह एक कार्य प्रगति पर है क्योंकि हम सीखते हैं कि स्वस्थ बातचीत का बेहतर समर्थन कैसे करें। यूजर्स को कुछ ऐसा ट्वीट करने से पहले चेतावनी देता है जो आपत्तिजनक हो सकता है।

Keep Reading Show less

कट्टरपंथी इस्लामीक विचारधारा वाला मुस्लिम ब्रदरहुड सबसे पुरानी संगठनों में से एक है। (PEXELS)

मुस्लिम ब्रदरहुड सबसे पुराने इस्लामिक संगठनों में से एक है। कट्टरपंथी इस्लामीक विचारधारा वाला यह संगठन 1928 में मिस्र से निकला था। इसका आरंभ हसन अल बन्ना ने किया था। मिस्र समेत यह 27 देशों में यह संगठन सक्रिय है। इसे आतंकी संगठन भी माना जाता है। इस संगठन के 10 लाख से भी ज्यादा लोग इस संगठन से जुड़े हुए है। लगभग 6 देशों ने इस संगठन पर प्रतिबंध लगा रखा है। इस संगठन का मकसद इस्लाम पर आधारित समाज बनाना है। ब्रदर हुड का मोटो "इस्लाम ही समाधान है"

मुस्लिम ब्रदरहुड के मदद से कतर-तुर्की-पाकिस्तान (क्यू टीपीआई) गठजोड़ कर इस्लामवादियों के लिए एक नए केंद्र के रूप में उभर रहा है। डिसइन्फोलैब की एक नई रिपोर्ट में कहा गया है कि "फर्जी खबरों और दो मीडिया हथियारों, अल जज़ीरा और टीआरटी वर्ल्ड से लैस एमबी ने नई दिल्ली के आर्थिक हितों को लक्षित करने सहित भारत के खिलाफ एक मुहिम शुरू किया है।"

Keep reading... Show less