Never miss a story

Get subscribed to our newsletter


×

कई वर्षों से टीम को सेवा दे रहे हैं श्रीधर(Wikimedia commons)

भारतीय टीम के फील्डिंग कोच रामाकृष्णन श्रीधर जिनका टीम के साथ टी20 विश्व कप आखिरी दौरा है, उन्होंने राष्ट्रीय टीम की सेवा करने का मौका देने के लिए भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) को धन्यवाद दिया। आपको बता दें श्रीधर का कार्यकाल टी20 विश्व कप के बाद खत्म हो रहा है। फील्डिंग कोच ने इंस्टाग्राम के जरिए अपने विचार प्रकट किए।





श्रीधर ने इंस्टाग्राम पर लिखा, "अब जब मैं भारतीय क्रिकेट टीम के फील्डिंग कोच के रूप में अपने अंतिम दौरे पर हूं तो मैं बीसीसीआई को 2014 से 2021 तक टीम की सेवा करने का अवसर देने के लिए धन्यवाद देता हूं। मुझे विश्वास है कि मैंने अपना काम जुनून, ईमानदारी, प्रतिबद्धता और अपनी सर्वश्रेष्ठ क्षमताओं के साथ पूरा किया है।"इसके अलावा श्रीधर ने कोच रवि शास्त्री को भी धन्यवाद देते हुए कहा ,"शास्त्री को विशेष रूप से धन्यवाद जो एक प्रेरणास्रोत्र लीडर हैं। मैं भाग्यशाली हूं जिसे प्रतिभाशाली क्रिकेटरों के साथ काम करने और इन्हें कोचिंग देने का मौका मिला। मैंने रिश्तों को बढ़ावा दिया और यादें बनाईं जिन्हें मैं जीवन भर संजो कर रखूंगा।"


यह भी पढ़े: सुनील छेत्री ने तोड़ा पेले का रिकॉर्ड

आपको बता दें मुख्य कोच रवि शास्त्री का भी कार्यकाल t20 विश्व कप के बाद खत्म हो जाएगा जिस कारण बीसीसीआई ने मुख्य कोच के पद के लिए आवेदन मंगाए हैं जिसकी डेडलाइन 26 अक्टूबर है।Input आईएएनएस

Popular

छत्तीसगढ़ पश्चिम बंगाल के अलावा भाजपा शासित राज्य मध्यप्रदेश में भी घटित हुई घटना।

नवरात्रि का पर्व समाप्त हो चुका है देश ही नहीं अपितु विदेश में भी दुर्गा विसर्जन के कार्यक्रम जगह जगह चल रहे हैं। लेकिन किसी धर्म विशेष के कुछ लोगों को यह विसर्जन रास नहीं आ रहा है। सबसे पहले हमने अपने पड़ोसी देश बांग्लादेश में देखा था कि किस तरीके एक गलत अफवाह फैलाकर नवरात्रि के पर्व में हिंदुओं का कत्लेआम किया गया जो अभी भी चालू है। अब प्रश्न उठता है बांग्लादेश में यह घटना क्यों संभव हो पाई? क्योंकि बांग्लादेश में हिंदू अल्पसंख्यक हैं। वहां पर ना बांग्लादेश की सरकार और ना ही पुलिस प्रशासन हिंदुओ की सुनते हैं, जिस कारण ऐसी दर्दनाक घटना घटित होती है।

लेकिन जब अपने भारत देश में भी ऐसी कुछ घटनाएं सामने आ रही है, जहां पर हिंदू समाज बहुसंख्यक हैं तो प्रश्न उठना स्वाभाविक है। आपको भारत में हुई कुछ घटनाएं बताते हैं। सबसे पहले ऐसी घटना छत्तीसगढ़ में देखने को मिली जहां दुर्गा विसर्जन में जा रहे हैं भक्तों पर एक तेज स्पीड से आती हुई गाड़ी रौंद कर चली गई और जिसके बाद इसका वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस प्रशासन हरकत में आया। इस वीडियो को देखकर साफ पता चल रहा था कि यह घटना जानबूझकर करवाई गई है। इस घटना में 10 से ज्यादा लोग घायल और 1 लोग की मृत्यु होने की खबर है। इसके अलावा ऐसी घटना मध्य प्रदेश में भी देखने को मिली जहां पर बीजेपी की सरकार है। यह घटना भोपाल के बजरिया थाना क्षेत्र में हुआ जब दुर्गा विसर्जन के लिए भीड़ जमा थी इसी दौरान अचानक एक कार भीड़ में घुस गई और कार चालक ने कार को तेज रफ्तार से रिवर्स में चलाना शुरु कर दिया जिसके कारण भगदड़ मच गई और कई लोग घायल हो गए जिसमें एक बच्चा भी शामिल है।

Keep Reading Show less

जम्मू कश्मीर समेत 6 राज्यों में वही स्थिति कायम।(Wikimedia Commons)

देश की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए गृह मंत्रालय ने बुधवार को एक आधिकारिक आदेश निकाला। आदेश के अनुसार, सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) को अब भारत की सीमाओं से लगे पंजाब, पश्चिम बंगाल और असम में कार्रवाई करने का अधिकार 35 किलोमीटर बढ़ा दिया गया है। पहले इन राज्यों में केवल 15 किमी तक बीएसएफ का अधिकार क्षेत्र था अब इनमे बीएसएफ का अधिकार 50 किलोमीटर के दायरे तक आ जायेंगे। इसके अलावा गुजरात के अधिकार क्षेत्र, जो पहले 80 किलोमीटर था, अब घटाकर 50 किलोमीटर कर दिया गया है, जबकि राजस्थान के लिए कोई बदलाव नहीं किया गया है, जहां बीएसएफ का अधिकार क्षेत्र 50 किलोमीटर तक है।

इसके अलावा मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा, नगालैंड, मेघालय और जम्मू-कश्मीर के लिए पूरे राज्य में सीमा सुरक्षा बल का अधिकार क्षेत्र एक समान रहता है जो यथास्थिति रहेगा। आपको बता दें गृह मंत्रालय इन स्थितियों का परिवर्तन सीमा सुरक्षा बल अधिनियम, 1968 की धारा 139 के तहत करता है जिसके अंतर्गत केंद्र को समय-समय पर बीएसएफ के क्षेत्र और संचालन की सीमा को अधिसूचित करने का अधिकार है।

Keep Reading Show less
भारतीय इतिहास में चीला राय के नाम से विख्यात “शुक्लाध्वज” एक पराकर्मी सेनापती थे। (ट्विटर)

पश्चिम बंगाल में होने वाले विधानसभा चुनावों ने सियासत जगत में फिर एक बार गरमा – गर्मी पैदा कर दी है । जहां अभी से ही चुनावी संग्राम शुरू हो गए हैं। सभी पार्टियां अपनी पूरी ताकत से चुनावी दौड़ को जीतने के भरसक प्रयास में जुटी है । राजनीति के इस खेल के फ़िर से वही नियम और वही खिलाड़ी । जहां सत्ता में केवल कुर्सी हासिल करना ही इनका लक्ष्य है । इसी रण में तृणमूल कांग्रेस और भाजपा में चुनावी संग्राम अपनी चरम सीमा पर है। दोनों ही पार्टियां एक दूसरे को कमज़ोर दिखाने का कोई रास्ता नहीं छोड़ती । पांच साल में बेहतर नतीजों के वादों के साथ , सभी पार्टियां जनता का भरोसा फिर एक बार हासिल करने में लगी है ।

इसी बीच केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह जी ने हाल ही में बंगाल दौरा किया। वहां उन्होंने एक रैली में कॉलेज ग्राउंड से बंगाल को संबोधित करते हुए कहा की यहां “अर्धसैनिक बलों” की एक नई  “नारायणी सेना बटालियन” बनाई जाएगी । साथ ही उन्होंने कहा , ट्रेंनिग सेंटर का नाम वीर “चीला राय” के नाम पर रखा जाएगा।

Keep reading... Show less