Never miss a story

Get subscribed to our newsletter


×

कई वर्षों से टीम को सेवा दे रहे हैं श्रीधर(Wikimedia commons)

भारतीय टीम के फील्डिंग कोच रामाकृष्णन श्रीधर जिनका टीम के साथ टी20 विश्व कप आखिरी दौरा है, उन्होंने राष्ट्रीय टीम की सेवा करने का मौका देने के लिए भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) को धन्यवाद दिया। आपको बता दें श्रीधर का कार्यकाल टी20 विश्व कप के बाद खत्म हो रहा है। फील्डिंग कोच ने इंस्टाग्राम के जरिए अपने विचार प्रकट किए।





श्रीधर ने इंस्टाग्राम पर लिखा, "अब जब मैं भारतीय क्रिकेट टीम के फील्डिंग कोच के रूप में अपने अंतिम दौरे पर हूं तो मैं बीसीसीआई को 2014 से 2021 तक टीम की सेवा करने का अवसर देने के लिए धन्यवाद देता हूं। मुझे विश्वास है कि मैंने अपना काम जुनून, ईमानदारी, प्रतिबद्धता और अपनी सर्वश्रेष्ठ क्षमताओं के साथ पूरा किया है।"इसके अलावा श्रीधर ने कोच रवि शास्त्री को भी धन्यवाद देते हुए कहा ,"शास्त्री को विशेष रूप से धन्यवाद जो एक प्रेरणास्रोत्र लीडर हैं। मैं भाग्यशाली हूं जिसे प्रतिभाशाली क्रिकेटरों के साथ काम करने और इन्हें कोचिंग देने का मौका मिला। मैंने रिश्तों को बढ़ावा दिया और यादें बनाईं जिन्हें मैं जीवन भर संजो कर रखूंगा।"


यह भी पढ़े: सुनील छेत्री ने तोड़ा पेले का रिकॉर्ड

आपको बता दें मुख्य कोच रवि शास्त्री का भी कार्यकाल t20 विश्व कप के बाद खत्म हो जाएगा जिस कारण बीसीसीआई ने मुख्य कोच के पद के लिए आवेदन मंगाए हैं जिसकी डेडलाइन 26 अक्टूबर है।Input आईएएनएस

Popular

आज भारत में भी बहुत से लोग उम्र बढ़ने के साथ होने वाली समस्याओं से जूझ रहे हैं। (pixabay)

हाँ, यह बात सत्य है कि ध्यान के माध्यम से हम उम्र बढ़ने के प्रभाव को रोक तो नहीं, लेकिन कम जरूर कर सकते हैं। आज की इस आधुनिक दुनिया में लोग तकनीकी से भरे हुए है। लोग अपने कामों में इतने व्यस्त हो गए हैं कि उन्हें अपने स्वास्थ और उम्र का भी ध्यान नहीं। यह समस्या भारत की ही नहीं बल्कि दुनिया भर के लोगों की है। आज भारत में भी बहुत से लोग उम्र बढ़ने के साथ होने वाली समस्याओं से जूझ रहे हैं। इस तकनीकी दुनिया में मनुष्य खो सा गया है। उसके पास अपने आप पर ध्यान देने के लिए 2 मिनट का समय भी नहीं है। उदाहरण के तौर पर: मनुष्य अपने कार्य में इतना व्यस्त हो गया है कि वह समय बचाने के लिए घर का खाना छोड़ बाहर बने उच्च वसा वाले आहार को खाना पसंद करता है।आमतौर पर, उच्च वसा वाले आहार का प्रभाव मुख्य रूप से त्वचा की उम्र बढ़ने का कारण होता है, जिससे त्वचा में ऑक्सीडेटिव तनाव होता है जिससे सूजन संबंधी क्षति होती है।

Stress, Panic, Negative effect on mind, Serious Health Problem, Lack of concentration नकारात्मक सोच हमरी सोचने और समझने की क्षमता को कम कर देती है। (wikimedia commons)

Keep Reading Show less
‘स्वस्थ शरीर, स्वस्थ दिमाग’ कार्यक्रम यूट्यूब चैनल पर।(Pixabay)

दिल्ली सरकार ने सरकारी स्कूलों के बच्चों के लिए एक और बड़ा प्रयोग किया है। कोरोना महामारी के कारण स्कूल बंद हैं। लेकिन बच्चों की शारीरिक गतिविधियां जरूरी हैं। इसके लिए दिल्ली सरकार के शिक्षा निदेशालय ने ‘स्वस्थ शरीर, स्वस्थ दिमाग’ कार्यक्रम प्रारंभ किया है। इसके तहत एक खास यूट्यूब चैनल पर हर बुधवार को एक नया वीडियो डाला जाएगा। इसके आधार पर बच्चों को घर पर ही रहकर शारीरिक गतिविधियां करनी है। इसकी पहली और दूसरी कड़ी यूट्यूब में अपलोड हो चुकी है। दोनों कड़ियों को स्टूडेंट्स, पेरेंट्स और टीचर्स ने काफी पसंद किया है।

यह भी पढ़ें- दुनिया को कोरोना वायरस का पता कब लगा?

Keep Reading Show less