हैकर्स महज 1,160 रुपये के लिए आपके एसएमएस तक पहुंच सकते हैं

टेक्स्ट-मैसेजिंग मैनेजमेंट सर्विस का दुरुपयोग हो रहा है, जो स्मार्टफोन यूजर्स को एक नई गोपनीयता और सुरक्षा जोखिम में डाल सकता है।
 | 
चंद रुपयों में हैकर्स कर सकते हैं टेक्स्ट-मैसेजिंग से दुरूपयोग।(Pixabay)


टेक्स्ट-मैसेजिंग मैनेजमेंट सर्विस का दुरुपयोग हो रहा है, जो स्मार्टफोन यूजर्स को एक नई गोपनीयता और सुरक्षा जोखिम में डाल सकता है। अब महज 1,160 रुपये (लगभग 16 डॉलर) के लिए टेक्स्ट-मैसेजिंग प्रबंधन सेवाओं का दुरुपयोग किया जा रहा है और यह यूजर्स से हैकर्स को टेक्स्ट मैसेज को पुनर्निर्देशित करने के साथ साइबर अपराधियों को दो-फैक्टर कोड्स/लॉगिन एसएमएस तक पहुंच प्रदान करता है।

मदरबोर्ड की रिपोर्ट में कहा गया है कि एसएमएस पुनर्निर्देशन सेवाएं प्रदान करने वाली कंपनियों पर अदृश्य साइबर हमला कथित तौर पर दूरसंचार कंपनियों के वर्कर्स के साथ मिलकर किया जा रहा है। रिपोर्ट में सोमवार देर रात कहा गया कि हमले की विधि या तरीका ऐसा रहा, जिसे पहले रिपोर्ट नहीं किया गया है या विस्तार से नहीं देखा गया है, साइबर क्राइम के लिए निहितार्थ हैं, जहां अपराधी अक्सर उन्हें परेशान करने के लिए, उनके बैंक खाते से निकासी कर ली जाती है।

hackers
हैकर्स, टेक्स्ट संदेशों को बाधित करने में सक्षम हैं।(Pixabay)

इन सेवाओं का उपयोग करते हुए, हमलावर न केवल आने वाले टेक्स्ट संदेशों को बाधित करने में सक्षम हैं, बल्कि वे इसका जवाब भी दे सकते हैं। अमेरिकी सीनेटर रॉन विडेन ने एक बयान में इस तरह के खतरे को लेकर चिंता जाहिर की है। उन्होंने माना कि इस तरह के हमले को लेकर सुरक्षा के मामले में भारी खतरा लाजिमी है। एसएमएस सेवाओं के दोहन के लिए कई अन्य तरीके हैं और उनमें से सिम स्वैपिंग एक है।

यह भी पढ़ें: "फेसबुक" वैक्सीन को लेकर गलत सूचनाओं से निपटने का विस्तार कर रही है।

लेकिन सिम स्वैपिंग के साथ, यह पता लगाना आसान है कि आप पर हमला हो रहा है, क्योंकि आपका डिवाइस सेलुलर नेटवर्क से पूरी तरह से डिस्कनेक्ट हो जाएगा। हालांकि, एसएमएस पुनर्निर्देशन के साथ, आप साइबर हमले को बहुत बाद में नोटिस कर पाते हैं और उस समय तक हैकर्स आपके खाते और व्यक्तिगत-वित्तीय डेटा में सेंधमारी करने में सक्षम होते हैं। रिपोर्ट में हिदायत देते हुए कहा गया है कि गूगल प्रमाणक एप का उपयोग करना ही बेहतर है।(आईएएनएस-SHM)