Sunday, May 16, 2021
Home टेक्नोलॉजी 'व्हाट्सप' के बाद अब 'टेलीग्राम' बना रहा है यूजर्स के दिल में...

‘व्हाट्सप’ के बाद अब ‘टेलीग्राम’ बना रहा है यूजर्स के दिल में जगह!

भारत में कई मैसेजिंग एप के इस्तेमाल का चलन बढ़ रहा है और पिछले तीन साल में व्हाट्सएप के 42.9 फीसदी नए यूजर्स को लुभाने के बाद, टेलीग्राम अब सबसे आगे है। बुधवार को एक नए सर्वेक्षण में यह खुलासा हुआ है। मार्केट रिसर्च फर्म टेकआर्क के अनुसार, हालांकि, व्हाट्सएप वर्तमान में अपने प्लेटफॉर्म का उपयोग करने वाले देश में 53 प्रतिशत से अधिक यूजर्स के साथ मैसेजिंग लीडर बना हुआ है, टेलीग्राम ने इसके अधिकांश यूजर्स को लुभाया है, इसके बाद सिग्नल है जिसने पिछले एक साल में 47 प्रतिशत व्हाट्सएप यूजर्स को अपने अतिरिक्त सुरक्षा पेशकश के साथ लुभाया है।

15 मई से आगामी व्हाट्सएप डेटा गोपनीयता नीति के मामले में, केंद्रीय इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी मंत्रालय ने मैसेजिंग प्लेटफॉर्म को नई नीति वापस लेने के लिए कहा। व्हाट्सएप के सीईओ विल कैथर्ट को लिखे अपने पत्र में, मंत्रालय ने प्लेटफॉर्म के ‘सभी या कुछ भी नहीं’ के दृष्टिकोण की आलोचना की है।

फेसबुक के स्वामित्व वाले प्लेटफॉर्म के देश में 40 करोड़ से अधिक यूजर्स हैं। टेलीग्राम ने वैश्विक स्तर पर 60 करोड़ यूजर्स के आंकड़े को पार कर लिया है, जो हाल के महीनों में ज्यादातर भारत से हैं।

टेकआर्क के संस्थापक और चीफ एनालिस्ट फैजल कावूसा ने कहा, “हालांकि व्हाट्सएप के लिए एक फर्स्ट-मूवर एडवांटेज है, यूजर्स अपनी अनूठी विशेषताओं और बेहतर सुरक्षा के लिए टेलीग्राम और सिग्नल जैसे अन्य प्लेटफॉर्मो का तेजी से रुख कर रहे हैं। इसके साथ ही भारत में मैसेजिंग एप्स का भविष्य प्रकृति में बहुलतावादी होने जा रहा है।”

पांच उत्तरदाताओं में से कम से कम एक विभिन्न कारणों से व्हाट्सएप के बजाय टेलीग्राम पसंद करते हैं, जिसमें सुरक्षा और गोपनीयता का सम्मान करना, चैनल जैसी सुविधाएं आदि शामिल हैं।

‘व्हाट्सप’ के बाद अब ‘टेलीग्राम’ आगे। (Unsplash)

देशभर से 2,000 उत्तरदाताओं के एक नमूना आकार के साथ किए गए सर्वेक्षण में कहा गया है कि उत्तरदाताओं में से लगभग 44 प्रतिशत टेलीग्राम पर किसी न किसी सरकारी चैनल या समूह का हिस्सा थे। इंगेजमेंट के संदर्भ में, यह समान 34.4 प्रतिशत यूजर्स के साथ व्हाट्सएप के बराबर है।

32 प्रतिशत से अधिक उत्तरदाताओं ने कहा कि वे टेलीग्राम पर महत्वपूर्ण और गुप्त संदेश भेजते हैं।

45 प्रतिशत से अधिक यूजर्स मीडिया रिपोर्टो के आधार पर व्हाट्सएप गोपनीयता के बारे में आशंकित हैं।

निष्कर्षो ने दिखाया कि हालांकि, उनमें से सभी सुरक्षा के बारे में अनिश्चित नहीं हैं, क्योंकि 81 प्रतिशत यूजर्स अभी भी व्हाट्सएप द्वारा दी गई गोपनीयता और सुरक्षा के बारे में आश्वस्त हैं।

यह भी पढ़े : स्ट्रीट फूड की होम डिलीवरी के लिए केंद्र और जोमैटो ने मिलाया हाथ

सर्वेक्षण में कहा गया कि अगर व्हाट्सएप किसी और प्लेटफॉर्म से अपना यूजर्स बेस खो देता है तो भी 70 प्रतिशत से अधिक उत्तरदाताओं ने कहा कि वे व्हाट्सएप और टेलीग्राम दोनों का इस्तेमाल करना जारी रखेंगे।(आईएएनएस)
 

POST AUTHOR

न्यूज़ग्राम डेस्क
संवाददाता, न्यूज़ग्राम हिन्दी

जुड़े रहें

7,635FansLike
0FollowersFollow
177FollowersFollow

सबसे लोकप्रिय

धर्म निरपेक्षता के नाम पर हिन्दुओ को सालों से बेवकूफ़ बनाया गया है: मारिया वर्थ

यह आर्टिक्ल मारिया वर्थ के ब्लॉग पर छपे अंग्रेज़ी लेख के मुख्य अंशों का हिन्दी अनुवाद है।

विज्ञापनों पर पानी की तरह पैसे बहा रही केजरीवाल सरकार, कपिल मिश्रा ने लगाया आरोप

पिछले 3 महीनों से भारत, कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहा है। इन बीते तीन महीनों में, हम लगातार राज्य सरकारों की...

भारत का इमरान को करारा जवाब, दिखाया आईना

भारत ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान द्वारा संयुक्त राष्ट्र महासभा में दिए गए भाषण पर आईना दिखाते हुए करारा जवाब दिया...

जब इन्दिरा गांधी ने प्रोटोकॉल तोड़ मुग़ल आक्रमणकारी बाबर को दी थी श्रद्धांजलि

ये बात तब की है जब इन्दिरा गांधी भारत की प्रधानमंत्री हुआ करती थी। वर्ष 1969 में इन्दिरा गांधी काबुल, अफ़ग़ानिस्तान के...

दिल्ली की कोशिश पूरे 40 ओवर शानदार खेल खेलने की : कैरी

 दिल्ली कैपिटल्स के विकेटकीपर एलेक्स कैरी ने कहा है कि टीम के लिए यह समय है टूर्नामेंट में दोबारा शुरुआत करने का।...

गाय के चमड़े को रक्षाबंधन से जोड़ने कि कोशिश में था PETA इंडिया, विरोध होने पर साँप से की लेखक शेफाली वैद्य कि तुलना

आज ट्वीटर पर मचे एक बवाल में PETA इंडिया का हिन्दू घृणा खुल कर सबके सामने आ गया है। ये बात...

दिल्ली दंगा करवाने में ‘आप’ पार्षद ताहिर हुसैन ने खर्च किए 1.3 करोड़ रूपए: चार्जशीट

इस साल फरवरी में हुए हिन्दू विरोधी दिल्ली दंगों को लेकर आज दिल्ली पुलिस ने कड़कड़डूमा कोर्ट में चार्ज शीट दाखिल किया।...

क्या अमनातुल्लाह खान द्वारा लिया गया ‘दान’, दंगों में खर्च हुए पैसों की रिकवरी थी? बड़ा सवाल!

फरवरी महीने में हुए दिल दहला देने वाले हिन्दू विरोधी दंगों को लेकर दिल्ली पुलिस आक्रमक रूप से लगातार कार्यवाही कर रही...

हाल की टिप्पणी