Friday, May 7, 2021
Home देश संकट के समय मंदिरों ने बढ़ाया मदद का हाथ!

संकट के समय मंदिरों ने बढ़ाया मदद का हाथ!

देश में ऐसे कई मंदिर एवं अन्य धार्मिक संस्थान है जिन्होंने कोविड-19 महामारी में सहायता प्रदान करने का जिम्मा अपने कंधे पर लिया है और कई मदद दे भी रहे हैं।

कोरोना महामारी देश-भर में विकराल रूप ले रहा है। हस्पतालों में दी जा रहीं महत्वपूर्ण व्यवस्थाएं इस महामारी के सामने कम पड़ती दिखाई दे रहीं हैं। हर दिन संक्रमण दर नए रिकॉर्ड बना रहा है। किन्तु, इस मुश्किल की घड़ी में कुछ ऐसी सस्थाएं हैं जो कोरोना मरीजों को निःस्वार्थ भाव से मदद देने के लिए सामने आए हैं। कोई घर तक ऑक्सीजन को पहुँचाने का काम कर रहा है तो कोई कोरोना मरीजों के घर तक मुफ्त खाना और दवा पहुँचाने का काम कर रहा है। इनमें शामिल हैं देश के मंदिर एवं अन्य धार्मिक संस्थान जिन्होंने COVID-19 महामारी में सहायता प्रदान करने का जिम्मा अपने कंधे पर लिया है।

देश के मंदिर हर संभव प्रयास कर रहे हैं कि कोरोना मरीजों को किसी न किसी प्रकार से मदद मिले। किसी ने मंदिर में कोरोना सेंटर शुरू कर इस पहल की शुरुआत की है तो किसी ने ऑक्सीजन के लिए आर्थिक मदद प्रदान की है। आइए कुछ ऐसे ही मुख्य मंदिरों की सूचि देखते हैं जिन्होंने मुश्किल समय में मदद के लिए महत्वपूर्ण कदम उठाया है:

श्री राम मंदिर(अयोध्या): देश में ऑक्सीजन की कमी को देखते हुए अयोध्या राम मंदिर ट्रस्ट ने ऑक्सीजन प्लांट स्थापित करने का निर्णय लिया है। इस प्लांट को दशरथ मेडिकल कॉलेज में स्थापित किया जाएगा।

काशी विश्वनाथ मंदिर(वाराणसी): काशी विश्वनाथ मंदिर ने यह ऐलान किया है कि वह कम आय वाले कोरोना मरीजों को जरूरत की सभी दवाएं मुफ्त में देगा।

Kashi Vishwanath Temple
भगवान शिव के 12 ज्योतिर्लिंगों में एक ज्योतिर्लिंग यहां काशी विश्वनाथ मंदिर में स्तिथ है।(Wikimedia Commons)

श्री जगन्नाथ मंदिर(पूरी): जगन्नाथ मंदिर ने नीलाचल भक्त निवास को 120 बेड वाले कोविड सेंटर में बदलने का फैसला किया है। यह उन कोरोना मरीजों के लिए एक केंद्र के रूप में भी काम करेगा जो मंदिर से जुड़े हुए हैं।

पावनधाम जैन मंदिर(मुंबई): पावन धाम जैन मंदिर ने अपने 5 मंजिला इमारत को 100 बेड वाले कोविड सेंटर में बदलने का काम किया है।

स्वामी नारायण मंदिर(वडोदरा): स्वामी नारायण मंदिर ने अपने परिसर में 500 बेड वाले कोविड सेंटर की शुरुआत की है, जिसमें लगभग सभी बेड भरे हुए हैं।

यह भी पढ़ें: Free Hindu Temples: क्या मंदिर भी सरकारी संपत्ति है?

इस्कॉन मंदिर: इस्कॉन मंदिर उन सभी लोगों तक मुफ्त में खाना पहुंचाएगा जो या तो कोरोना संक्रमण से पीड़ित हैं, या जिस घर में गर्भवती महिलाएं हैं या बड़े बुजुर्ग या बच्चे हैं। उन सभी तक पौष्टिक खाना पहुंचे ऐसा जिम्मा इस्कॉन मंदिर ने उठाया है।

ऐसे कई मंदिर मौजूद हैं जिन्होंने इस वर्ष एवं पिछले वर्ष करोड़ों रुपयों का दान किया था वह भी केवल कोरोना महामारी के खिलाफ सहायता हेतु। किन्तु देश में एक ऐसा भी लिब्रलधारी तबका है जिसे सिर्फ यह दिखाई देता है कि मंदिरों में पहनावे के लिए क्यों कहा गया? या मुस्लिमों का मंदिर प्रवेश क्यों वर्जित है? उन्हें इन मंदिरों द्वारा दिए जा रहे सहायता की कोई सुध नहीं है।(SHM)

POST AUTHOR

न्यूज़ग्राम डेस्क
संवाददाता, न्यूज़ग्राम हिन्दी

जुड़े रहें

7,639FansLike
0FollowersFollow
177FollowersFollow

सबसे लोकप्रिय

धर्म निरपेक्षता के नाम पर हिन्दुओ को सालों से बेवकूफ़ बनाया गया है: मारिया वर्थ

यह आर्टिक्ल मारिया वर्थ के ब्लॉग पर छपे अंग्रेज़ी लेख के मुख्य अंशों का हिन्दी अनुवाद है।

विज्ञापनों पर पानी की तरह पैसे बहा रही केजरीवाल सरकार, कपिल मिश्रा ने लगाया आरोप

पिछले 3 महीनों से भारत, कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहा है। इन बीते तीन महीनों में, हम लगातार राज्य सरकारों की...

भारत का इमरान को करारा जवाब, दिखाया आईना

भारत ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान द्वारा संयुक्त राष्ट्र महासभा में दिए गए भाषण पर आईना दिखाते हुए करारा जवाब दिया...

दिल्ली की कोशिश पूरे 40 ओवर शानदार खेल खेलने की : कैरी

 दिल्ली कैपिटल्स के विकेटकीपर एलेक्स कैरी ने कहा है कि टीम के लिए यह समय है टूर्नामेंट में दोबारा शुरुआत करने का।...

जब इन्दिरा गांधी ने प्रोटोकॉल तोड़ मुग़ल आक्रमणकारी बाबर को दी थी श्रद्धांजलि

ये बात तब की है जब इन्दिरा गांधी भारत की प्रधानमंत्री हुआ करती थी। वर्ष 1969 में इन्दिरा गांधी काबुल, अफ़ग़ानिस्तान के...

गाय के चमड़े को रक्षाबंधन से जोड़ने कि कोशिश में था PETA इंडिया, विरोध होने पर साँप से की लेखक शेफाली वैद्य कि तुलना

आज ट्वीटर पर मचे एक बवाल में PETA इंडिया का हिन्दू घृणा खुल कर सबके सामने आ गया है। ये बात...

दिल्ली दंगा करवाने में ‘आप’ पार्षद ताहिर हुसैन ने खर्च किए 1.3 करोड़ रूपए: चार्जशीट

इस साल फरवरी में हुए हिन्दू विरोधी दिल्ली दंगों को लेकर आज दिल्ली पुलिस ने कड़कड़डूमा कोर्ट में चार्ज शीट दाखिल किया।...

क्या अमनातुल्लाह खान द्वारा लिया गया ‘दान’, दंगों में खर्च हुए पैसों की रिकवरी थी? बड़ा सवाल!

फरवरी महीने में हुए दिल दहला देने वाले हिन्दू विरोधी दंगों को लेकर दिल्ली पुलिस आक्रमक रूप से लगातार कार्यवाही कर रही...

हाल की टिप्पणी