Saturday, April 17, 2021
Home थोड़ा हट के रोमांचक है अंतर्राष्ट्रीय अपराधी शोभराज उर्फ 'द सर्पेट' की गिरफ्तारी की कहानी

रोमांचक है अंतर्राष्ट्रीय अपराधी शोभराज उर्फ ‘द सर्पेट’ की गिरफ्तारी की कहानी

शोभराज की आपराधिक दुनिया काफी बड़ी थी और विशेष रूप से दक्षिण पूर्व एशिया में उसने कई अपराध किए थे। उसने करीब 10 से अधिक हत्याएं की थीं, जिनमें अधिकतर विदेश लोग शामिल होते थे।

 गोवा की राजधानी पणजी के पोरवोरिम में 6 अप्रैल, 1986 तक हाईवे पर स्थित ओ’कोक्वेरो रेस्तरां को अपने खास चिकन आइटम के लिए जाना जाता था। इसके आलावा यहां की एक और खासियत थी कि यहां पर उस समय एक फोन की भी सुविधा थी, जिससे लोग लंबी दूरी पर बैठे किसी व्यक्ति या अंतर्राष्ट्रीय कॉल करने के लिए इसका उपयोग कर सकते थे। उन दिनों में लैंडलाइन फोन भी एक दुर्लभ चीज ही मानी जाती थी और इसकी सुविधा कुछ घरों और अन्य महत्वपूर्ण जगहों तक ही सीमित थी।

यह सब छह अप्रैल 1986 को बदल गया, जब पुलिस निरीक्षक मधुकर जेंडे के नेतृत्व में मुंबई पुलिस के अधिकारियों की एक टीम ने एक दुबले-पतले दाढ़ी वाले आदमी को पकड़ा, जो काली टोपी पहने हुए था। वह अपनी लग्जरी पद्मिनी कार से उतरकर रेस्टोरेंट गया था और अपनी पसंदीदा मेज के सामने एक सीट पर बैठा था।

उसके बैठने के कुछ मिनट बाद ही जेंडे ने इस व्यक्ति को पकड़ लिया, जो हतचंद भाओनानी गुरुमुख चार्ल्स शोभराज उर्फ चार्ल्स शोभराज, उर्फ बिकिनी किलर, उर्फ सर्पेट के रूप में जाना जाता है। इसी शख्स के जीवन पर आधारित नेटफ्लिक्स की प्रतीक्षित वेब सीरीज ‘द सर्पेट’ का निर्माण किया गया है। गोवा में अपनी गिरफ्तारी से पहले, शोभराज एक महीने पहले ही नई दिल्ली की तिहाड़ जेल से भाग गया था। भारी सुरक्षा वाली इस जेल परिसर में शोभराज ने सुरक्षाकर्मी को नशीला पदार्थ खिलाया और रफू चक्कर हो गया। जेंडे की ओर से शोभराज की गिरफ्तारी जब अगले दिन अखबार की सुर्खियां बनी और टीवी की स्क्रीन पर खबर दिखाई गई तो गोवा का यह रेस्टोरेंट सुर्खियों में आ गया और चहुंओर सनसनी फैल गई।

सनसनीखेज गिरफ्तारी की विदेशों के विख्यात अखबारों में भी सुर्खियां बनी थी। एशिया के सबसे वांछित अपराधियों में से एक बिकिनी किलर की गिरफ्तारी बहुत बड़ी खबर थी और इसे ब्रिटेन के शीर्ष दैनिक समाचार पत्रों में से एक द टाइम्स के साथ अन्य ने भी प्रमुखता से साथ छापा था। गोवा में रहने के दौरान शोभराज ने अपनी लुक पूरी तरह से बदल लिया था, मगर उसकी पहचान छिपाने की योजना लंबे समय तक नहीं टिक पाई और जेंडे ने उसे पहचानने में कोई गलती नहीं की। क्राइम ब्रांच ने शोभराज को मुंबई में इससे पहले भी एक मामले में गिरफ्तार किया था।

The Serpent netflix movie
शोभराज पर बनी फिल्म The Serpent नेटफ्लिक्स पर हाल ही में रिलीज़ हुई है।(सोशल मीडिया)

चूंकि मामला काफी संवेदनशील था, इसलिए पुलिस गिरफ्तारी के बाद बिना कोई देर किए उसे जल्दी से वहां से ले गई।

डीडी न्यूज के गोवा और सिंधुदुर्ग के पूर्व संवाददाता सुनील नाइक ने कहा, हमने तब सुना कि ओ’कोक्वेरो में किसी प्रमुख अपराधी को गिरफ्तार किया गया है। हम यह देखने के लिए दौड़ पड़े कि वह कौन है। लेकिन मुंबई पुलिस के अधिकारी उसे चुपके से ले जा चुके थे। हमने फिर अन्य मेहमानों और रेस्तरां के मालिक से पूछताछ की। उसकी पसंदीदा मेज को देखा और इसके ²श्य दूरदर्शन को ²श्य भेज दिए।

एक पुर्तगाली शब्द, ओ’कोक्वेरो का अगर अंग्रेजी में अनुवाद करेंगे तो यह द नारियल ट्री कहलाता है। यानी एक नारियल का पेड़। शोभराज की गिरफ्तारी से कुछ समय पहले इस रेस्टोरेंट में अकाउंटेंट के तौर पर काम करने वाले ट्रेजानो डी’मेलो ने आईएएनएस को बताया कि उस समय ओ’कोक्वेरो एक छोटा सा रेस्टोरेंट होता था, मगर यह अपने खास चिकन आइटम और अपने फोन के लिए बहुत प्रसिद्ध था। उन्होंने बताया कि गोवाभर से लोग, विशेष रूप से यात्री और विदेशी रेस्तरां में कॉल करने और कॉल रिसीव के लिए फोन का उपयोग करते थे।

यह भी पढ़ें: उड़ान का रहस्य : पैन एम उड़ान 914 का जिज्ञासु मामला

वियतनामी मां और एक भारतीय मूल के पिता की औलाद शोभराज को फोन की जरूरत थी, क्योंकि दुनिया के संपर्क में रहने के लिए यह आवश्यक था। उसकी आपराधिक दुनिया काफी बड़ी थी और विशेष रूप से दक्षिण पूर्व एशिया में उसने कई अपराध किए थे। उसने करीब 10 से अधिक हत्याएं की थीं, जिनमें अधिकतर विदेश लोग शामिल होते थे। शोभराज काफी तेज और चालाक होने के साथ ही पढ़ा-लिखा भी था और उसे कानून के दांव-पेंच भी खूब आते थे। हत्या के अलावा उस पर चोरी, ठगी और कार चोरी के आरोप भी थे।

the serpent shobhraj statue
गोवा के रेस्टोरेंट में शोभराज की हथकड़ी लगे एक मूर्ति भी है।(साभार: आईएएनएस)

बताया जाता है कि उसे बिकिनी किलर नाम इसलिए दिया गया, क्योंकि उसके द्वारा की गई हत्याओं में कई लड़कियों की लाश बिकिनी में मिली थी।

लगभग एक दशक तक जेल में रहने के बाद, शोभराज को 1997 में रिहा कर दिया गया, जिसके बाद वह फ्रांस चला गया। उसे 2003 में नेपाल में एक बार फिर से गिरफ्तार किया गया। उसे इस बार उत्तरी अमेरिकी पर्यटकों लॉरेंट कैरिरे और कोनी ब्रोंकिच की दोहरी हत्याओं के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। शोभराज फिलहाल नेपाल की जेल में बंद है, जहां उस पर अन्य हत्याओं के आरोप भी लगे हैं।

गोवा के इस रेस्टोरेंट ने अब नए प्रबंधन के तहत शोभराज की पसंदीदा कुर्सी पर एक टोपी के साथ बैठे मास्टरमाइंड अपराधी की एक प्रतिमा बनाई है (शोभराज को जब गिरफ्तार किया गया था, तब वह टोपी पहने हुए था)।(आईएएनएस-SHM)

POST AUTHOR

न्यूज़ग्राम डेस्क
संवाददाता, न्यूज़ग्राम हिन्दी

जुड़े रहें

7,646FansLike
0FollowersFollow
177FollowersFollow

सबसे लोकप्रिय

धर्म निरपेक्षता के नाम पर हिन्दुओ को सालों से बेवकूफ़ बनाया गया है: मारिया वर्थ

यह आर्टिक्ल मारिया वर्थ के ब्लॉग पर छपे अंग्रेज़ी लेख के मुख्य अंशों का हिन्दी अनुवाद है।

विज्ञापनों पर पानी की तरह पैसे बहा रही केजरीवाल सरकार, कपिल मिश्रा ने लगाया आरोप

पिछले 3 महीनों से भारत, कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहा है। इन बीते तीन महीनों में, हम लगातार राज्य सरकारों की...

भारत का इमरान को करारा जवाब, दिखाया आईना

भारत ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान द्वारा संयुक्त राष्ट्र महासभा में दिए गए भाषण पर आईना दिखाते हुए करारा जवाब दिया...

दिल्ली की कोशिश पूरे 40 ओवर शानदार खेल खेलने की : कैरी

 दिल्ली कैपिटल्स के विकेटकीपर एलेक्स कैरी ने कहा है कि टीम के लिए यह समय है टूर्नामेंट में दोबारा शुरुआत करने का।...

जब इन्दिरा गांधी ने प्रोटोकॉल तोड़ मुग़ल आक्रमणकारी बाबर को दी थी श्रद्धांजलि

ये बात तब की है जब इन्दिरा गांधी भारत की प्रधानमंत्री हुआ करती थी। वर्ष 1969 में इन्दिरा गांधी काबुल, अफ़ग़ानिस्तान के...

गाय के चमड़े को रक्षाबंधन से जोड़ने कि कोशिश में था PETA इंडिया, विरोध होने पर साँप से की लेखक शेफाली वैद्य कि तुलना

आज ट्वीटर पर मचे एक बवाल में PETA इंडिया का हिन्दू घृणा खुल कर सबके सामने आ गया है। ये बात...

क्या अमनातुल्लाह खान द्वारा लिया गया ‘दान’, दंगों में खर्च हुए पैसों की रिकवरी थी? बड़ा सवाल!

फरवरी महीने में हुए दिल दहला देने वाले हिन्दू विरोधी दंगों को लेकर दिल्ली पुलिस आक्रमक रूप से लगातार कार्यवाही कर रही...

दिल्ली दंगा करवाने में ‘आप’ पार्षद ताहिर हुसैन ने खर्च किए 1.3 करोड़ रूपए: चार्जशीट

इस साल फरवरी में हुए हिन्दू विरोधी दिल्ली दंगों को लेकर आज दिल्ली पुलिस ने कड़कड़डूमा कोर्ट में चार्ज शीट दाखिल किया।...

हाल की टिप्पणी