Sunday, May 16, 2021
Home देश 'Secularism' शब्द भारत की परंपराओं को आगे बढ़ाने में सबसे बड़ा खतरा...

‘Secularism’ शब्द भारत की परंपराओं को आगे बढ़ाने में सबसे बड़ा खतरा : मुख्यमंत्री योगी

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि भारत की समृद्ध परंपराओं को आगे बढ़ाने में सेक्युलरिज्म शब्द ही सबसे बड़ा खतरा है।


उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि भारत की समृद्ध परंपराओं को आगे बढ़ाने में सेक्युलरिज्म शब्द ही सबसे बड़ा खतरा है। शनिवार को मुख्यमंत्री योगी रामायण विश्वमहाकोश के रूप में विमोचन किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि सेक्युलरिज्म ( Secularism )  शब्द भारत की इन समृद्ध परंपराओं को आगे बढ़ाने और वैश्विक मंच पर स्थान दिलाने में सबसे बड़ी बाधा और खतरा है। कहा कि हमें इससे उबर कर बहुत शुद्ध और सात्विक मन से प्रयास करने होंगे।

उन्होंने कहा कि छोटे छोटे जातीय झगड़ों में पड़ कर हमने अपना वैभव नष्ट कर दिया। हमें इन छोटी चीजों से निकल कर विराट रूप में खुद को विश्व के सामने रखना चाहिए।

संत गाडगे प्रेक्षा गृह में आयोजित समारोह में योगी ने कहा कि यह विश्वमहाकोश हमें अयोध्या जाने के लिए बाध्य करेगा। विज्ञान और आध्यात्म के अनछुए पहलुओं से परिचय करायेगा। इस दौरान मुख्यमंत्री भारत और भारतीय संस्कृति पर सवाल खड़े करने वालों पर हमलावर रहे।

अपनी कंबोडिया यात्रा के दौरान अंकोरवाट मंदिर में मिले एक बौद्ध गाइड का उदाहरण देते हुए सीएम ने हिन्दू संस्कृति पर सवाल उठाने वालों को करारा जवाब दिया। योगी ने कहा कि मंदिर का गाइड बौद्ध था, लेकिन उसको यह भी पता था कि बौद्ध धर्म की उत्पत्ति हिन्दू धर्म से हुई है। यह बात वह निश्चिंत होकर बोल सकता है। लेकिन भारत में यह बोलेंगे तो बहुत सारे लोगों के सेक्युलरिज्म ( Secularism ) को खतरा पैदा हो जाएगा ।

उन्होंने कहा कि कुंभ ने भारत की संस्कृति ,स्वच्छता, सुव्यवस्था और सुरक्षा का एक नया मानक प्रस्तुत किया। पूरी दुनिया और यूनेस्को को भी कहना पड़ा कि दुनिया की मानवता की अमूर्त धरोहर है कुंभ।

योगी ने कहा कि भारत की परम्परा पर कौन सा ऐसा देश है जो गौरव की अनुभूति न करता हो । इंडोनेशिया, थाईलैंड, लाओस, कंबोडिया ये सभी देश बहुत विश्वास के साथ उस परंपरा और संस्कृति के साथ जुड़े रहे हैं। रामायण और महाभारत की कहानियां हमें बहुत कुछ सिखाती हैं।

विपक्ष को आड़े हाथों लेते हुए योगी बोले कि कुछ लोगों ने तो राम के अस्तित्व और अयोध्या पर ही सवाल उठाने का प्रयास किया था। उस समय भी, जब श्रीराम जन्म भूमि के लिए आंदोलन चल रहा था कई इतिहासकार थे जो सवाल खड़े करने का प्रयास कर रहे थे। बहुत सारे लोगों ने तो यह कह दिया कि ये वो अयोध्या ही नहीं, जहां राम पैदा हुए थे। यही विकृत मानसिकता भारत को अपने गौरव से सदैव वंचित करती रही है।

यह भी पढ़े :-  वित्त वर्ष 2021-22 में चार लाख टन उड़द आयात का कोटा तय : केंद्र सरकार

मुख्यमंत्री ने कहा कि जो चंद लोग भारत के खिलाफ वातावरण खड़ा करते हैं उन्हें जूठन के रूप में चंद पैसे मिल जाते हैं। लेकिन दुनिया में इनकी कदर कुछ भी नहीं। लोग मानते हैं कि ये अपने देश में गद्दारी कर रहे हैं। ये लोग बिकाऊ हैं, ये चंद पैसों के लिए अपनी आत्मा बेच चुके होते हैं।

अयोध्या शोध संस्थान की तारीफ करते हुए योगी ने कहा कि 2 वर्ष पूर्व ही मेरे सामने यह प्रस्ताव रखा था। योगी ने कहा कि यह गौरव की बात है कि, भारत की सनातन हिंदू धर्म परंपरा में जो सात पवित्र नगरियां हैं उनमें से तीन अयोध्या,मथुरा और काशी उत्तर प्रदेश में हैं। सनातन हिन्दू धर्म की आत्मा यहां निवास करती है।
 

गौरतलब है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ के निर्देश पर संस्कृति विभाग की अगुआई में अयोध्या शोध संस्थान द्वारा तैयार रामायण विश्वमहाकोश के पहले संस्करण की ई बुक को भी लांच किया गया। रामायण विश्व महाकोश के पहले संस्करण का अग्रेजी भाषा में विमोचन किया गया। संस्कृति विभाग दुनिया के 205 देशों से रामायण की मूर्त व अमूर्त विरासत संजो कर रामायण विश्वमहाकोश परियोजना को साकार करने में जुटा है। विश्वमहाकोश के प्रथम संस्करण का डिजाइन भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, खड़गपुर ने तैयार किया है ।
( AK आईएएनएस ) 
 

POST AUTHOR

न्यूज़ग्राम डेस्क
संवाददाता, न्यूज़ग्राम हिन्दी

जुड़े रहें

7,635FansLike
0FollowersFollow
177FollowersFollow

सबसे लोकप्रिय

धर्म निरपेक्षता के नाम पर हिन्दुओ को सालों से बेवकूफ़ बनाया गया है: मारिया वर्थ

यह आर्टिक्ल मारिया वर्थ के ब्लॉग पर छपे अंग्रेज़ी लेख के मुख्य अंशों का हिन्दी अनुवाद है।

विज्ञापनों पर पानी की तरह पैसे बहा रही केजरीवाल सरकार, कपिल मिश्रा ने लगाया आरोप

पिछले 3 महीनों से भारत, कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहा है। इन बीते तीन महीनों में, हम लगातार राज्य सरकारों की...

भारत का इमरान को करारा जवाब, दिखाया आईना

भारत ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान द्वारा संयुक्त राष्ट्र महासभा में दिए गए भाषण पर आईना दिखाते हुए करारा जवाब दिया...

जब इन्दिरा गांधी ने प्रोटोकॉल तोड़ मुग़ल आक्रमणकारी बाबर को दी थी श्रद्धांजलि

ये बात तब की है जब इन्दिरा गांधी भारत की प्रधानमंत्री हुआ करती थी। वर्ष 1969 में इन्दिरा गांधी काबुल, अफ़ग़ानिस्तान के...

दिल्ली की कोशिश पूरे 40 ओवर शानदार खेल खेलने की : कैरी

 दिल्ली कैपिटल्स के विकेटकीपर एलेक्स कैरी ने कहा है कि टीम के लिए यह समय है टूर्नामेंट में दोबारा शुरुआत करने का।...

गाय के चमड़े को रक्षाबंधन से जोड़ने कि कोशिश में था PETA इंडिया, विरोध होने पर साँप से की लेखक शेफाली वैद्य कि तुलना

आज ट्वीटर पर मचे एक बवाल में PETA इंडिया का हिन्दू घृणा खुल कर सबके सामने आ गया है। ये बात...

दिल्ली दंगा करवाने में ‘आप’ पार्षद ताहिर हुसैन ने खर्च किए 1.3 करोड़ रूपए: चार्जशीट

इस साल फरवरी में हुए हिन्दू विरोधी दिल्ली दंगों को लेकर आज दिल्ली पुलिस ने कड़कड़डूमा कोर्ट में चार्ज शीट दाखिल किया।...

क्या अमनातुल्लाह खान द्वारा लिया गया ‘दान’, दंगों में खर्च हुए पैसों की रिकवरी थी? बड़ा सवाल!

फरवरी महीने में हुए दिल दहला देने वाले हिन्दू विरोधी दंगों को लेकर दिल्ली पुलिस आक्रमक रूप से लगातार कार्यवाही कर रही...

हाल की टिप्पणी