Sunday, May 16, 2021
Home देश घटती जा रही है ताजमहल की सुन्दरता, अधिकारियों ने जताई चिंता

घटती जा रही है ताजमहल की सुन्दरता, अधिकारियों ने जताई चिंता

यमुना में सीधे गिर रहे नालों और बढ़ती गंदगी से ताजमहल की सुंदरता पर असर पड़ रहा है। अधिकारियों के मुताबिक यमुना में स्वच्छ पानी रहना चाहिए, वहीं इस समस्या का स्थायी समाधान खोजना चाहिए।

यमुना में सीधे गिर रहे नालों और बढ़ती गंदगी से ताजमहल की सुंदरता पर असर पड़ रहा है। पर्यावरणविद अधिवक्ता एमसी मेहता और नेशनल इन्वायरमेंटल इंजीनियरिग रिसर्च इंस्टीट्यूट (नीरी) के चेयरमैन डॉ. एसके गोयल ने एएसआई के अधिकारियों के साथ शनिवार को ताजमहल का दौरा किया। इस दौरान ताज ईस्ट ड्रेन का बुरा हाल देखा गया। दरअसल यमुना में सीधे गंदगी जाने के कारण दरुगध जैसी समस्याएं तो आ ही रही हैं, इसके अलावा ताजमहल के पीछे यमुना में पनप रहे कीड़े ‘गोल्डीकाइरोनोमस’ भी ताजमहल के सुंदरता पर हमला कर रहे हैं।

सभी अधिकारी जब ताज टेनरी पहुंचे तो देखा कि ताज ईस्ट ड्रेन यमुना में गिरकर उसे प्रदूषित कर रही है। उन्होंने इसपर चिंता व्यक्त की। वहीं यमुना की गंदगी के कारण पनप रहे कीड़ो ने ताजमहल के मार्बल पर काफी गंदगी छोड़ दी है।

यमुना में पानी कम होने के कारण कीड़े और दरुगध जैसी समस्या पैदा हो रही है। साफ पानी की कमी भी ताजमहल की सुंदरता पर असर डाल रही है। अधिकारियों के मुताबिक यमुना में स्वच्छ पानी रहना चाहिए, वहीं इस समस्या का स्थायी समाधान खोजना चाहिए।

निरी के चेयरमैन डॉ. एसके गोयल ने आईएएनएस को बताया, “हमें यमुना का पानी बेहद कम लगा, उसमें ड्रेन्स गिर रहें है, इसमें काफी सुधार की जरूरत है। यमुना देखने मे भी गंदा लग रही है। गंदगी के कारण कीड़े भी मार्बल पर लग रहे हैं। हालांकि एएसआई की तरफ से समय समय पर उसे डिस्टिल्ड वॉटर से साफ किया जाता है। रेगुलर बेसिस पर ताजमहल के अंदर तो काम चल रहा है लेकिन ताजमहल के बाहर जो ड्रेन्स हैं उसमें काफी सुधार की जरूरत है। गंदा पानी होने के कारण दरुगध की समस्या भी आती है, नगर निगम द्वारा कुछ योजनाओं का प्रस्ताव सरकार को भेजा गया है। जैसे ही ये मंजूर होते है तो लगभग 1 से 2 साल में इसमें संभावित सुधार आ जाएगा।”

यमुना की गंदगी के कारण पनप रहे कीड़ो ने ताजमहल के मार्बल पर काफी गंदगी छोड़ दी है | (Pexel)

आगरा के मेयर नवीन जैन ने आईएएनएस से बात करते हुए कहा कि, “ताजमहल की सुरक्षा बनी रहे उसके लिए आवश्यक है कि ताजमहल के पास जो यमुना नदी है उसमें हर समय पानी भरा रहना चाहिए। पुरातत्व विभाग और अन्य लोगों का मानना है ताजमहल की नींव के लिए पानी की शील जरूरी है यानी साफ पानी रहे, ताकि उसकी मजबूती बनी रहे। यमुना में पानी न होने के कारण खतरा उत्पन्न हो रहा है।”

उन्होंने कहा, “शहर के नालों का पानी पहले सीधे यमुना में जाता था, लेकिन हमने काफी सुधार किया है। हमने सीवर ट्रीटमेंट प्लांट (एसटीपी) लगाए हैं। इसके जरिए गंदे पानी को फिल्टर कर छोड़ते हैं। लेकिन ये अभी और बनाने की आवश्यकता है, उसके लिए हमने प्रस्ताव भेजा हुआ है। सरकार से मंजूरी मिलते ही इसमें काफी सुधार होगा। इसके बाद ही हम शतप्रितश्त पानी शुद्ध करके यमुना में पहुंचा पाएंगे। 90 नालों में से करीब 60 नालों का पानी सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट के जरिये फिल्टर कर यमुना में छोड़ा जाता है। वहीं वैकल्पिक तौर पर विशेष रसायनों के जरिये नालों के पानी को फिल्टर भी किया जा रहा है।”

यह भी पढ़े :- दिल्ली Metro का लक्ष्य : सौर उर्जा का उत्पादन

ताजमहल में कार्यरत एक अधिकारी ने बताया कि, “कल कुछ अधिकारियों ने आकर ताजमहल विजिट किया था। दरअसल पहली समस्या जो की नालों का गंदा पानी यमुना में गिर रहा है, वो ठीक नहीं हो रहा है। यदि वो फिल्टर होकर जाए तो ठीक रहेगा। दूसरी समस्या ताजमहल में पानी की कमी है, वहीं ताजमहल के पीछे यमुना में पानी की कमी होने के कारण कीचड़ दिखाई देती है। तीसरी समस्या कीड़े हैं। गंदगी के कारण कीड़े पैदा हो रहे हैं, वो ताजमहल के पीछे लगे मार्बल पर बैठ उसे खराब कर रहे हैं।” ( आईएएनएस-SM)
 

POST AUTHOR

न्यूज़ग्राम डेस्क
संवाददाता, न्यूज़ग्राम हिन्दी

जुड़े रहें

7,635FansLike
0FollowersFollow
177FollowersFollow

सबसे लोकप्रिय

धर्म निरपेक्षता के नाम पर हिन्दुओ को सालों से बेवकूफ़ बनाया गया है: मारिया वर्थ

यह आर्टिक्ल मारिया वर्थ के ब्लॉग पर छपे अंग्रेज़ी लेख के मुख्य अंशों का हिन्दी अनुवाद है।

विज्ञापनों पर पानी की तरह पैसे बहा रही केजरीवाल सरकार, कपिल मिश्रा ने लगाया आरोप

पिछले 3 महीनों से भारत, कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहा है। इन बीते तीन महीनों में, हम लगातार राज्य सरकारों की...

भारत का इमरान को करारा जवाब, दिखाया आईना

भारत ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान द्वारा संयुक्त राष्ट्र महासभा में दिए गए भाषण पर आईना दिखाते हुए करारा जवाब दिया...

जब इन्दिरा गांधी ने प्रोटोकॉल तोड़ मुग़ल आक्रमणकारी बाबर को दी थी श्रद्धांजलि

ये बात तब की है जब इन्दिरा गांधी भारत की प्रधानमंत्री हुआ करती थी। वर्ष 1969 में इन्दिरा गांधी काबुल, अफ़ग़ानिस्तान के...

दिल्ली की कोशिश पूरे 40 ओवर शानदार खेल खेलने की : कैरी

 दिल्ली कैपिटल्स के विकेटकीपर एलेक्स कैरी ने कहा है कि टीम के लिए यह समय है टूर्नामेंट में दोबारा शुरुआत करने का।...

गाय के चमड़े को रक्षाबंधन से जोड़ने कि कोशिश में था PETA इंडिया, विरोध होने पर साँप से की लेखक शेफाली वैद्य कि तुलना

आज ट्वीटर पर मचे एक बवाल में PETA इंडिया का हिन्दू घृणा खुल कर सबके सामने आ गया है। ये बात...

दिल्ली दंगा करवाने में ‘आप’ पार्षद ताहिर हुसैन ने खर्च किए 1.3 करोड़ रूपए: चार्जशीट

इस साल फरवरी में हुए हिन्दू विरोधी दिल्ली दंगों को लेकर आज दिल्ली पुलिस ने कड़कड़डूमा कोर्ट में चार्ज शीट दाखिल किया।...

क्या अमनातुल्लाह खान द्वारा लिया गया ‘दान’, दंगों में खर्च हुए पैसों की रिकवरी थी? बड़ा सवाल!

फरवरी महीने में हुए दिल दहला देने वाले हिन्दू विरोधी दंगों को लेकर दिल्ली पुलिस आक्रमक रूप से लगातार कार्यवाही कर रही...

हाल की टिप्पणी