Sunday, June 13, 2021
Home देश बिहार में 26 सभाओं से बीजेपी अध्यक्ष, जे पी नड्डा ने पलट...

बिहार में 26 सभाओं से बीजेपी अध्यक्ष, जे पी नड्डा ने पलट दी बाजी

बिहार में 125 सीटों के साथ बहुमत से एनडीए की जीत हो या गुजरात, कर्नाटक में क्लीन स्वीप और उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश से लेकर मणिपुर, तेलंगाना के उपचुनावों में पार्टी को मिली शानदार सफलता, हर जगह जेपी नड्डा की कुशल रणनीति देखने को मिली।

By : नवनीत मिश्रा

भाजपा का 11 वां राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने के दस महीने के अंदर जेपी नड्डा ने पार्टी को एक साथ कई राज्यों में बंपर सफलता दिलाकर अपनी नेतृत्व क्षमता साबित कर दी है। बिहार में 125 सीटों के साथ बहुमत से एनडीए की जीत हो या गुजरात, कर्नाटक में क्लीन स्वीप और उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश से लेकर मणिपुर, तेलंगाना के उपचुनावों में पार्टी को मिली शानदार सफलता, हर जगह जेपी नड्डा की कुशल रणनीति देखने को मिली। बिहार में सभाओं के जरिए भी नड्डा कमाल दिखाने में सफल रहे। जिन 26 विधानसभा क्षेत्रों में उन्होंने सभाएं कीं, उनमें 20 सीटों पर एनडीए उम्मीदवार जीतने में सफल रहे। बिहार के नतीजे जेपी नड्डा के लिए इसलिए भी खास हैं कि भले ही वह हिमाचल प्रदेश के निवासी हों, लेकिन वह पटना में पले-बढ़े हैं।

यह भी पढ़ें : भाजपा के टिकट पर जीत दर्ज करने वाले उम्मीदवारों की संपत्ति करोड़ों में !

‘ब्रांड मोदी’ को पार्टी ने भुनाया

पार्टी नेताओं का कहना है कि बिहार में एनडीए की जीत में प्रधानमंत्री मोदी की 12 रैलियों ने खास भूमिका निभाई। प्रधानमंत्री मोदी ने जिन मुद्दों को उठाया, उसे राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने जनता के बीच ले जाने की अचूक रणनीति बनाई। राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने ‘ब्रांड मोदी’ के जरिए जनता में पार्टी की पैठ को और मजबूत किया।

Narendra Modi
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी। (फाइल फोटो)

पार्टी नेताओं के मुताबिक, पोस्ट कोरोना के दौर में पार्टी को मिला यह जनादेश प्रधानमंत्री मोदी में जनता के विश्वास को दिखाता है। कोरोनाकाल के विपरीत हालात में हुए चुनावों में भाजपा को मिली जीत से पता चलता है कि देश में मोदी लहर कायम है।

4 हजार किमी का दौरा

भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने बिहार चुनाव में खुद को पूरी तरह झोंक दिया। वह चुनाव के दौरान बिहार के कोने-कोने तक पहुंचे। उन्होंने पूरे बिहार में करीब चार हजार किलोमीटर यात्रा कर पार्टी का माहौल बनाया। यात्राओं के जरिए वह जमीनी कार्यकर्ताओं से फीडबैक लेते रहे। जहां कुछ कमियां मिलीं तो उन्हें समय रहते सुधारने की उन्होंने रणनीति भी बनाई। दिल्ली से लगातार बिहार के कोने-कोने में जेपी नड्डा के जाने से आम कार्यकर्ताओं में भी उत्साह का संचार हुआ।

यह भी पढ़े : वनटांगिया समुदाय के लिए योगी आदित्यनाथ राम की भूमिका में, पर क्यों ?

जबर्दस्त रहा स्ट्राइक रेट

बिहार विधानसभा चुनाव में जेपी नड्डा का स्ट्राइक रेट शानदार रहा। उनकी 26 विधानसभा क्षेत्रों में हुई रैलियों, सभाओं और रोड शो का एनडीए प्रत्याशियों को खासा लाभ हुआ। यही वजह रही कि इनमें से 20 सीटें एनडीए जीतने में सफल रही। गया जिले की इमामगंज सीट से पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी जीतने में सफल रहे। गया में भी जेपी नड्डा ने रैली की थी। रैलियों के जरिए नड्डा ने राजद नेता तेजस्वी यादव के सनसनी फैलाने वाले दावों का काउंटर किया। तेजस्वी यादव के दस लाख नौकरियों के दावे को यह कहकर झुठला दिया, “आजाद भारत में किसी भी सरकार के कैबिनेट का नोट नौकरी देने को लेकर नहीं है।” इस तरह से जिन मुद्दों पर भाजपा फंसती दिखी, उन मुद्दों का नड्डा नैरेटिव बदलने में कामयाब रहे।

प्रदेश को फैसले लेने की पूरी छूट

भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता गोपाल कृष्ण अग्रवाल ने आईएएनएस से कहा कि, “राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने बिहार से लेकर अन्य सभी राज्यों के चुनावों में कार्यकर्ताओं की मानसिकता और जनता की आकांक्षा और अपेक्षाओं में समन्वय कायम किया। उन्होंने डिसेंट्रलाइज्ड डिसीजन मेकिंग पर जोर दिया। प्रदेशों को अपने हिसाब से कैंपेनिंग से लेकर अन्य तरह के फैसले लेने की पूरी आजादी दी। उम्मीदवारों के चयन में सावधानी बरती गई। जेपी नड्डा ने टीम वर्क पर जोर दिया। वह हमेशा कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों के लिए सुलभ रहे। जेपी नड्डा का ग्राउंड कनेक्ट बहुत अच्छा रहा। जिससे पार्टी को शानदार नतीजे हासिल हुए।” (आईएएनएस)

POST AUTHOR

न्यूज़ग्राम डेस्क
संवाददाता, न्यूज़ग्राम हिन्दी

जुड़े रहें

7,623FansLike
0FollowersFollow
177FollowersFollow

सबसे लोकप्रिय

धर्म निरपेक्षता के नाम पर हिन्दुओ को सालों से बेवकूफ़ बनाया गया है: मारिया वर्थ

यह आर्टिक्ल मारिया वर्थ के ब्लॉग पर छपे अंग्रेज़ी लेख के मुख्य अंशों का हिन्दी अनुवाद है।

विज्ञापनों पर पानी की तरह पैसे बहा रही केजरीवाल सरकार, कपिल मिश्रा ने लगाया आरोप

पिछले 3 महीनों से भारत, कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहा है। इन बीते तीन महीनों में, हम लगातार राज्य सरकारों की...

भारत का इमरान को करारा जवाब, दिखाया आईना

भारत ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान द्वारा संयुक्त राष्ट्र महासभा में दिए गए भाषण पर आईना दिखाते हुए करारा जवाब दिया...

जब इन्दिरा गांधी ने प्रोटोकॉल तोड़ मुग़ल आक्रमणकारी बाबर को दी थी श्रद्धांजलि

ये बात तब की है जब इन्दिरा गांधी भारत की प्रधानमंत्री हुआ करती थी। वर्ष 1969 में इन्दिरा गांधी काबुल, अफ़ग़ानिस्तान के...

दिल्ली की कोशिश पूरे 40 ओवर शानदार खेल खेलने की : कैरी

 दिल्ली कैपिटल्स के विकेटकीपर एलेक्स कैरी ने कहा है कि टीम के लिए यह समय है टूर्नामेंट में दोबारा शुरुआत करने का।...

गाय के चमड़े को रक्षाबंधन से जोड़ने कि कोशिश में था PETA इंडिया, विरोध होने पर साँप से की लेखक शेफाली वैद्य कि तुलना

आज ट्वीटर पर मचे एक बवाल में PETA इंडिया का हिन्दू घृणा खुल कर सबके सामने आ गया है। ये बात...

दिल्ली दंगा करवाने में ‘आप’ पार्षद ताहिर हुसैन ने खर्च किए 1.3 करोड़ रूपए: चार्जशीट

इस साल फरवरी में हुए हिन्दू विरोधी दिल्ली दंगों को लेकर आज दिल्ली पुलिस ने कड़कड़डूमा कोर्ट में चार्ज शीट दाखिल किया।...

क्या अमनातुल्लाह खान द्वारा लिया गया ‘दान’, दंगों में खर्च हुए पैसों की रिकवरी थी? बड़ा सवाल!

फरवरी महीने में हुए दिल दहला देने वाले हिन्दू विरोधी दंगों को लेकर दिल्ली पुलिस आक्रमक रूप से लगातार कार्यवाही कर रही...

हाल की टिप्पणी