Never miss a story

Get subscribed to our newsletter


×
देश

दुनियाभर की आधुनिक फिल्म तकनीक से युक्त होगी यूपी की फिल्म सिटी

एक हजार एकड़ भूमि पर बनाई जाने वाली इंटरनेशनल फिल्म सिटी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का ड्रीम प्रोजेक्ट है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ । (Social media )

हॉलीवुड की तर्ज पर नोएडा में बनायी जाने वाली इंटरनेशनल फिल्म सिटी के निर्माण की तैयारियों ने तेजी पकड़ ली है। सब कुछ योजना के अनुसार हुआ तो इस वर्ष के अंत यानी दिसंबर में नोएडा के यमुना प्राधिकरण क्षेत्र में इंटरनेशनल फिल्म सिटी (International Film City) के निर्माण का शुरू हो जाएगा। एक हजार एकड़ भूमि पर बनाई जाने वाली इंटरनेशनल फिल्म सिटी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Chief Minister Yogi Adityanath) का ड्रीम प्रोजेक्ट है। यहीं वजह से अब यह चर्चा है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ नोएडा जा अपने इस ड्रीम प्रोजेक्ट के निर्माण कार्य की शुरूआत करेंगे। इस परियोजना के निर्माण का कार्य शुरू करने को लेकर यमुना औद्योगिक विकास प्राधिकरण द्वारा सरकार को सौंप गई डीपीआर के बाद से यह कहा जा रहा है। अब जल्दी ही तय होगा कि इस विश्वस्तरीय परियोजना के निर्माण का कार्य दिसंबर में कब से शुरू किया जाए। इस बारे में जल्दी ही सरकार अपना फैसला लेगी।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बीते साल दिसंबर में एक विश्वस्तरीय फिल्म सिटी का निर्माण राज्य में करने का फैसला किया था। जिसके तहत नोएडा (Noida) में यमुना प्राधिकरण के सेक्टर 21 में 1,000 एकड़ भूमि इंटरनेशनल फिल्म सिटी के लिए चिन्हित की गई है। करीब पांच हजार करोड़ रुपए का निवेश आने की संभावना इस फिल्म सिटी के निर्माण से जताई जा रही है। नोएडा में बनायी जाने वाली इस फिल्म सिटी में विश्वस्तरीय आधुनिक तकनीकों को शामिल किया जाना है।


राज्य सरकार से मिली जानकारी के अनुसार इस फिल्म सिटी का एक बड़ा हिस्सा डिजिटल टेक्नोलॉजी से जुड़ा होगा। फिल्मों में डिजिटल माध्यमों के बढ़ते चलन के कारण नोएडा में बनायी जाने वाली इस फिल्म सिटी को इन्फोटेनमेंट सिटी कहा जाएगा। राज्य की इस पहली फिल्म सिटी में सीरियल व फिल्मों की शूटिंग के विशेष स्टूडियो, एनिमेशन, वेब सीरीज, कार्टून फिल्म, डॉक्यूमेंट्री, डिजिटल मीडिया आदि के लिए सभी जरूरी सुविधाएं दी जाएंगी। फिल्म प्रोडक्शन स्टूडियो, आउटडोर लोकेशन, स्पेशल इफेक्ट स्टूडियो, होटल, क्लब हाउस, गांव, वर्कशॉप, टूरिस्ट ऐंड एंटरटेनमेंट, शॉपिंग कांप्लेक्स, फूड कोर्ट, एम्यूजमेंट पार्क, कन्वेंशन सेंटर व पार्किं ग भी फिल्म सिटी में बनेंगे। फिल्म सिटी के निर्माण को लेकर डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट (डीपीआर) तैयार करने के लिए सरकार ने एक विख्यात सलाहकार एजेंसी के रूप में चयन किया है।

नोएडा में बनायी जाने वाली फिल्म सिटी के निर्माण संबंधी डीपीआर तैयार कर प्राधिकरण को बीते माह दे दी है। (सांकेतिक चित्र, Pixabay)

इस एजेंसी ने दुनिया की विख्यात फिल्म सिटी का सर्वे कर और बड़े फिल्मकारों के प्रस्ताव तथा प्रदेश सरकार की फिल्म नीति को ध्यान में रखते हुए नोएडा में बनायी जाने वाली फिल्म सिटी के निर्माण संबंधी डीपीआर तैयार कर प्राधिकरण को बीते माह दे दी है। जिसका अध्ययन करने के बाद प्राधिकरण ने सलाहकार कंपनी से मिली डीपीआर बीते दिनों सरकार को सौंपी है। इस डीपीआर में इस बात का उल्लेख किया किया गया है कि किस वित्तीय माडल पर फिल्म सिटी को बनाया जाए। इसके लिए फंड की व्यवस्था का फामूर्ला क्या होगा फिल्म सिटी के प्रथम चरण, दूसरे चरण व तीसरे के निर्माण पर आने वाले खर्च का फाइनल ब्यौरा व निर्माण समय सीमा का विस्तृत ब्यौरा भी इस डीपीआर में किया गया। साथ ही और इसके संचालन, रखरखाव व फिल्म सिटी से आमदनी व रोजगार का हिसाब भी डीपीआर में बताया गया है। फिल्म सिटी को पर्यटन स्थल की रूप में भी विकसित किया जाएगा। नोएडा में बनायी जाने वाले फिल्म सिटी को प्रदेश सरकार तथा निजी डेवलपर मिल कर यानी पीपीपी मॉडल पर बनाएंगे। यमुना औद्योगिक विकास प्राधिकरण के अधिकारियों के अनुसार फिल्म सिटी के निर्माण को लेकर मिली डीपीआर का अध्ययन कर शासन तय करेगा कि परियोजना को किस रूप में आगे बढ़ाया जाएगा।

यह भी पढ़ें :- क्यों हो रहा है सोशल मीडिया पर #ARRESTKEJRIWAL ट्रेंडिंग?

नोएडा (Noida) की फिल्म सिटी में कदम -कदम पर दिखेगा डिजिटल टेक्नोलॉजी का जलवा। यहां थ्री डी स्टूडियो होंगे। 360 डिग्री पर घूमने वाले सेट होंगे। साउंड रिकॉडिर्ंग, एडिटिंग व एनिमेशन स्टूडियो भी होंगे।

फिल्म सिटी में एक फिल्म विश्वविद्यालय भी बनेगा जहां स्टूडेंट फिल्म निर्माण की आधुनिक तकनीकों की शिक्षा पा सकेंगे। यहां पर फिल्मों से जुड़े विषयों पर शोध भी होगा। विज्ञापन फिल्मों को बनाने की तकनीक का बतायी जाएगी।

फिल्म सिटी में फिल्म टूरिज्म को बढ़ावा देने के लिए विशेष स्टूडियो बनाए जाएंगे। फिल्म शूटिंग के लिए बनाए जाने वाले इन्फ्रास्ट्रक्च र को इस तरह से बनाया जाएगा, ताकि लोग इसे देखने आ सकें। यहां पर कॉमन फैसिलिटी सेंटर भी बनेगा जहां फिल्म से जुड़ी हुई सारी सुविधाएं मिलेंगी। फिल्म से जुड़े लोग एक छत के नीचे जरूरत की सभी सुविधाएं पा सकेंगे। (आईएएनएस-SM)

(धर्म, संस्कृति, देश और दुनिया से जुड़े महत्वपूर्ण खबरों के लिए न्यूज़ग्राम हिंदी को फेसबुक, ट्विटर और इंस्टाग्राम पर फॉलो करें।)

Popular

नवजात के लिए माँ के दूध से कोविड संक्रमण का नही है कोई खतरा ( Pixabay )

Keep Reading Show less

5 राज्यों के विधानसभा चुनावों की तारीख़ की घोषणा के बाद कार्यकर्तओं के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पहला सवांद कार्यक्रम (Wikimedia Commons)


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए अपने संसदीय क्षेत्र वारणशी के भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के बूथ स्तर के कार्यकर्ताओं से बातचीत की। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भाजपा कार्यकर्ताओं से बात करते हुए कहा कि "उन्हें किसानों को रसायन मुक्त उर्वरकों के उपयोग के बारे में जागरूक करना चाहिए।"

नमो ऐप के जरिए प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने भाजपा के बूथ स्तर के कार्यकर्ताओं से बातचीत के दौरान बताया कि नमो ऐप में 'कमल पुष्प" नाम से एक बहुत ही उपयोगी एवं दिलचस्प सेक्शन है जो आपको प्रेरक पार्टी कार्यकर्ताओं के बारे में जानने और अपने विचारों को साझा करने का अवसर देता है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने नमो ऐप के सेक्शन 'कमल पुष्प' में लोगों को योगदान देने के लिए आग्रह किया। उन्होंने बताया की इसकी कुछ विशेषतायें पार्टी सदस्यों को प्रेरित करती है।

Keep Reading Show less

हुदा मुथाना वर्ष 2014 में आतंकवादी समूह आईएस में शामिल हुई थी। घर वापसी की उसकी अपील पर यूएस कोर्ट ने सुनवाई से इनकार कर दिया (Wikimedia Commons )

2014 में अमेरिका के अपने घर से भाग कर सीरिया के अतंकवादी समूह इस्लामिक स्टेट (आईएस) में शामिल होने वाली 27 वर्षीय हुदा मुथाना वापस अपने घर लौटने की जद्दोजहद में लगी है। हुदा मुथाना वर्ष 2014 में आतंकवादी समूह इस्लामिक स्टेट के साथ शामिल हुई साथ ही आईएस के साथ मिल कर सोशल मीडिया पर पोस्ट कर आतंकवादी हमलों की सराहना की और अन्य अमेरिकियों को आईएस में शामिल होने के लिए प्रोत्साहित किया था। हुदा मुथाना को अपने किये पर गहरा अफसोस है।

वर्ष 2019 में हुदा मुथाना के पिता ने संयुक्त राज्य अमेरिका (यूएस) के सुप्रीम कोर्ट में अमेरिका वापस लौटने के मामले पर तत्कालीन ट्रंप प्रशासन के खिलाफ मुक़द्दमा दायर किया था। संयुक्त राज्य अमेरिका (यूएस) के सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को बिना किसी टिप्पणी के हुदा मुथाना के इस मामले पर सुनवाई से इनकार कर दिया।

Keep reading... Show less