Thursday, May 13, 2021
Home देश उत्तरप्रदेश सरकार ने बढ़ाई सस्कृति और पर्यटन को बढ़ावा देने की रफ़्तार

उत्तरप्रदेश सरकार ने बढ़ाई सस्कृति और पर्यटन को बढ़ावा देने की रफ़्तार

By: विवेक त्रिपाठी

 उत्तर प्रदेश की योगी सरकार धार्मिक-सांस्कृतिक पर्यटन के माध्यम से अपने राष्ट्रवाद के एजेंडे को धार देती नजर आ रही है। पिछले बजट में इसकी झलक साफ देखने को मिली है। बजट में सरकार ने अयोध्या, वाराणसी में पर्यटन सुविधाओं के विकास और सुंदरीकरण के लिए 200 करोड़ की व्यवस्था की है। इसके अलावा चित्रकूट में पर्यटन विकास की योजनाओं के लिए 20 करोड़ तो विंध्याचल और नैमिषारण के लिए 30 करोड़ का बजट प्रस्तावित है।

योगी सरकार के बजट में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र पर खास मेहरबानी दिखी है, पर एजेंडे में अयोध्या भी है। इसके अलावा मुख्यमंत्री पर्यटन स्थल विकास योजना के लिए भी बजट में 200 करोड़ का प्रावधान किया गया है।

सरकार ने 450 करोड़ रूपये देकर धार्मिक पर्यटन स्थलों के लिए अपना खजाना खोल दिया है। सरकार का मकसद है कि पहले जैसा धार्मिक पर्यटनों का वैभव वापस लौटे इसके लिए तरह-तरह के आयोजन भी किए जा रहे हैं। चाहे वह अयोध्या में दीपोत्सव हो या फिर मथुरा में होली, चाहे चित्रकूट में मेले का आयोजन हो। इसके अलावा आजादी की लड़ाई में लड़ने वाले सेनानियों के सम्मान में पूरे वर्ष चलने वाले शताब्दी महोत्सव व शाहजहांपुर में स्वतंत्रता संग्राम संग्रहालय के लिए भी धन अवांटित किया गया है।

दीपोत्सव Deepotsav
भव्य दीपोत्स्व ने बढ़ाया उत्तरप्रदेश का गौरव।(फाइल फोटो)

महापुरूषों, शहीदों और काम के माध्यम से एक तरफ राष्ट्रवादी सरोकारों को बढ़ाते हुए समीकरणों को साधने का प्रयास किया है। वहीं धार्मिक पर्यटन बढ़ाने के साथ अयोध्या, मथुरा, काशी, चित्रकूट, विंध्याचल, प्रयागराज, नैमिषारण सहित अन्य धार्मिक स्थलों के विकास के लिए धन की व्यवस्था कर हिन्दुत्व के एजेंडे पर मजबूती से डटे रहने का साफ संदेश दिया है। वाराणसी में गोकुल ग्राम तथा गोवंश की सुरक्षा पर संरक्षण का संकल्प जताते स्वदेशी और राष्ट्रवाद के साथ समाजिक सरोकारों से जुड़े रहने का संदेश भी दिया है।

यह भी पढ़ें: खजुराहो के मंदिर प्रांगण में 44 साल बाद हो रहा है नृत्य समारोह

मालूम हो कि पिछले साल के बजट में भी कमोबेश योगी सरकार की प्राथमिकता में सर्वाधिक संभावनाओं वाला धार्मिक पर्यटन ही था। उस बजट में विश्वनाथ करीडोर के सुंदरीकरण और विस्तारीकरण के लिए 200 करोड़ रुपये, वहां सांस्कृतिक केंद्र की स्थापना के लिए 170 करोड़, काशी हिंदू विश्वविद्यालय में वैदिक विज्ञान केंद्र की स्थापना के लिए 18 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया था। उस बजट में अयोध्या में प्रस्तावित एयरपोर्ट के निर्माण के लिए 500 करोड़ रुपये के अलावा पर्यटकों के लिए बेहतरीन बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए 85 करोड़, तुलसी स्मारक भवन के लिए 10 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया था।(आईएएनएस- ShM)

POST AUTHOR

न्यूज़ग्राम डेस्क
संवाददाता, न्यूज़ग्राम हिन्दी

जुड़े रहें

7,638FansLike
0FollowersFollow
177FollowersFollow

सबसे लोकप्रिय

धर्म निरपेक्षता के नाम पर हिन्दुओ को सालों से बेवकूफ़ बनाया गया है: मारिया वर्थ

यह आर्टिक्ल मारिया वर्थ के ब्लॉग पर छपे अंग्रेज़ी लेख के मुख्य अंशों का हिन्दी अनुवाद है।

विज्ञापनों पर पानी की तरह पैसे बहा रही केजरीवाल सरकार, कपिल मिश्रा ने लगाया आरोप

पिछले 3 महीनों से भारत, कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहा है। इन बीते तीन महीनों में, हम लगातार राज्य सरकारों की...

भारत का इमरान को करारा जवाब, दिखाया आईना

भारत ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान द्वारा संयुक्त राष्ट्र महासभा में दिए गए भाषण पर आईना दिखाते हुए करारा जवाब दिया...

जब इन्दिरा गांधी ने प्रोटोकॉल तोड़ मुग़ल आक्रमणकारी बाबर को दी थी श्रद्धांजलि

ये बात तब की है जब इन्दिरा गांधी भारत की प्रधानमंत्री हुआ करती थी। वर्ष 1969 में इन्दिरा गांधी काबुल, अफ़ग़ानिस्तान के...

दिल्ली की कोशिश पूरे 40 ओवर शानदार खेल खेलने की : कैरी

 दिल्ली कैपिटल्स के विकेटकीपर एलेक्स कैरी ने कहा है कि टीम के लिए यह समय है टूर्नामेंट में दोबारा शुरुआत करने का।...

गाय के चमड़े को रक्षाबंधन से जोड़ने कि कोशिश में था PETA इंडिया, विरोध होने पर साँप से की लेखक शेफाली वैद्य कि तुलना

आज ट्वीटर पर मचे एक बवाल में PETA इंडिया का हिन्दू घृणा खुल कर सबके सामने आ गया है। ये बात...

दिल्ली दंगा करवाने में ‘आप’ पार्षद ताहिर हुसैन ने खर्च किए 1.3 करोड़ रूपए: चार्जशीट

इस साल फरवरी में हुए हिन्दू विरोधी दिल्ली दंगों को लेकर आज दिल्ली पुलिस ने कड़कड़डूमा कोर्ट में चार्ज शीट दाखिल किया।...

क्या अमनातुल्लाह खान द्वारा लिया गया ‘दान’, दंगों में खर्च हुए पैसों की रिकवरी थी? बड़ा सवाल!

फरवरी महीने में हुए दिल दहला देने वाले हिन्दू विरोधी दंगों को लेकर दिल्ली पुलिस आक्रमक रूप से लगातार कार्यवाही कर रही...

हाल की टिप्पणी