Saturday, June 12, 2021
Home देश ब्रिटेन ने पीरियड गरीबी खत्म करने के लिए टैम्पोन टैक्स को हटाया

ब्रिटेन ने पीरियड गरीबी खत्म करने के लिए टैम्पोन टैक्स को हटाया

ब्रिटेन की सरकार ने पीरियड गरीबी को समाप्त करने के लिए व्यापक कदम उठाते हुए घोषणा की है कि 1 जनवरी 2021 से मूल्य वर्धित कर (वैट) अब महिलाओं के सेनेटरी उत्पादों पर लागू नहीं होगा। समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने ट्रेजरी के शनिवार के बयान के हवाले से कहा, “इस कदम से वैट को कम

ब्रिटेन की सरकार ने पीरियड गरीबी को समाप्त करने के लिए व्यापक कदम उठाते हुए घोषणा की है कि 1 जनवरी 2021 से मूल्य वर्धित कर (वैट) अब महिलाओं के सेनेटरी उत्पादों पर लागू नहीं होगा। समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने ट्रेजरी के शनिवार के बयान के हवाले से कहा, “इस कदम से वैट को कम करने के लिए सरकार की प्रतिबद्धता का सम्मान किया गया है और स्कूलों, कॉलेजों और अस्पतालों में मुफ्त सैनिटरी उत्पादों के रोलआउट सहित सभी महिलाओं के लिए स्वच्छता उत्पादों को सस्ती कीमत पर उपलब्ध कराने के लिए एक व्यापक रणनीति का हिस्सा है।”

ट्रेजरी ने कहा, “गौरतलब है कि 31 दिसंबर, 2020 को ब्रेक्सिट ट्रांजिशन की अवधि समाप्त हो गई है, ब्रिटेन अब यूरोपीय संघ वैट निर्देश द्वारा बाध्य नहीं है, जो सभी सैनिटरी उत्पादों पर न्यूनतम 5 प्रतिशत कर को अनिवार्य करता है।”

सरकार के इस कदम की फॉसेट सोसायटी के मुख्य कार्यकारी फेलिशिया विलो ने प्रशंसा की है। यह सोसायटी लैंगिक समानता और महिलाओं के अधिकारों के लिए ब्रिटेन का चैरिटी अभियान है।

विलो ने कहा, “इस बिंदु तक पहुंचने के लिए अभी एक लंबा रास्ता तय करना है, लेकिन आखिरकार सेक्सिस्ट टैक्स, जिसमें सैनिटरी उत्पादों को गैर-जरूरी के रूप में वगीर्कृत किया गया था, को विलासिता की वस्तुओं को इतिहास की किताबों में संजोया जा सकता है।”

ब्रिटेन ने 31 जनवरी, 2020 को यूरोपीय संघ की सदस्यता को समाप्त कर दिया है।

यह भी पढ़ें: प्रख्यात ब्रेस्ट कैंसर सर्जन डॉ. रघुराम को ब्रिटिश महारानी करेंगी सम्मानित

यूरोपीय संघ और ब्रिटेन ने 24 दिसंबर, 2020 को घोषणा की कि वे एक समझौते पर पहुंच गए हैं जो ब्रेक्सिट ट्रांजिशन की अवधि की समाप्ति के बाद 1 जनवरी 2021 से शुरू होने वाले उनके व्यापार और सुरक्षा संबंधों को नियंत्रित करेगा।

यूके और ईयू के बीच नौ महीने की कठिन बातचीत के बाद हुआ यह सौदा दोनों पक्षों द्वारा हस्ताक्षरित सबसे बड़ा द्विपक्षीय व्यापार सौदा है, जिसमें लगभग 668 बिलियन पाउंड (913 बिलियन डॉलर) का व्यापार शामिल है।(आईएएनएस)

POST AUTHOR

न्यूज़ग्राम डेस्क
संवाददाता, न्यूज़ग्राम हिन्दी

जुड़े रहें

7,623FansLike
0FollowersFollow
177FollowersFollow

सबसे लोकप्रिय

धर्म निरपेक्षता के नाम पर हिन्दुओ को सालों से बेवकूफ़ बनाया गया है: मारिया वर्थ

यह आर्टिक्ल मारिया वर्थ के ब्लॉग पर छपे अंग्रेज़ी लेख के मुख्य अंशों का हिन्दी अनुवाद है।

विज्ञापनों पर पानी की तरह पैसे बहा रही केजरीवाल सरकार, कपिल मिश्रा ने लगाया आरोप

पिछले 3 महीनों से भारत, कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहा है। इन बीते तीन महीनों में, हम लगातार राज्य सरकारों की...

भारत का इमरान को करारा जवाब, दिखाया आईना

भारत ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान द्वारा संयुक्त राष्ट्र महासभा में दिए गए भाषण पर आईना दिखाते हुए करारा जवाब दिया...

जब इन्दिरा गांधी ने प्रोटोकॉल तोड़ मुग़ल आक्रमणकारी बाबर को दी थी श्रद्धांजलि

ये बात तब की है जब इन्दिरा गांधी भारत की प्रधानमंत्री हुआ करती थी। वर्ष 1969 में इन्दिरा गांधी काबुल, अफ़ग़ानिस्तान के...

दिल्ली की कोशिश पूरे 40 ओवर शानदार खेल खेलने की : कैरी

 दिल्ली कैपिटल्स के विकेटकीपर एलेक्स कैरी ने कहा है कि टीम के लिए यह समय है टूर्नामेंट में दोबारा शुरुआत करने का।...

गाय के चमड़े को रक्षाबंधन से जोड़ने कि कोशिश में था PETA इंडिया, विरोध होने पर साँप से की लेखक शेफाली वैद्य कि तुलना

आज ट्वीटर पर मचे एक बवाल में PETA इंडिया का हिन्दू घृणा खुल कर सबके सामने आ गया है। ये बात...

दिल्ली दंगा करवाने में ‘आप’ पार्षद ताहिर हुसैन ने खर्च किए 1.3 करोड़ रूपए: चार्जशीट

इस साल फरवरी में हुए हिन्दू विरोधी दिल्ली दंगों को लेकर आज दिल्ली पुलिस ने कड़कड़डूमा कोर्ट में चार्ज शीट दाखिल किया।...

क्या अमनातुल्लाह खान द्वारा लिया गया ‘दान’, दंगों में खर्च हुए पैसों की रिकवरी थी? बड़ा सवाल!

फरवरी महीने में हुए दिल दहला देने वाले हिन्दू विरोधी दंगों को लेकर दिल्ली पुलिस आक्रमक रूप से लगातार कार्यवाही कर रही...

हाल की टिप्पणी