Wednesday, November 25, 2020
Home दुनिया अमरीकी व्हाइट हाउस में कराया गया वैदिक शांति पाठ का उच्चारण

अमरीकी व्हाइट हाउस में कराया गया वैदिक शांति पाठ का उच्चारण

डोनाल्ड ट्रम्प द्वारा कराये गए इस कार्यक्र्म का मकसद कोरोना के कारण फैली अव्यवस्था से लड़ने के लिए देश के लोगों में हिम्मत और शांति को स्थापित करना था।

7 मई को मनाए जाने वाले राष्ट्रिय प्रार्थना दिवस के मौके पर अमरीकी व्हाइट हाउस स्थित रोज़ गार्डेन में वैदिक शांति पाठ का उच्चारण कराया गया। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के बुलावे पर आए हिन्दू पुजारी, कार्यक्रम को संबोधित करते हुए नज़र आए।

वैदिक पाठ कराने वाले हरीश ब्रहंभट्ट, BAPS स्वामीनारायण मंदिर, न्यू जर्सी के पुजारी हैं। राष्ट्रिय प्रार्थना दिवस के मौके पर पुजारी ब्रहंभट्ट के साथ और भी धर्मों के धर्म गुरु व्हाइट हाउस में मौजूद थे। डोनाल्ड ट्रम्प द्वारा कराये गए इस कार्यक्र्म का मकसद कोरोना के कारण फैली अव्यवस्था से लड़ने के लिए देश के लोगों में हिम्मत और शांति को स्थापित करना था।

पुजारी हरीश ब्रहंभट्ट अपने सम्बोधन मे कहते हैं की, कोरोना महामारी और लॉकडाउन के बीच लोगों का चिंतित होना और मन की शांति का भंग होना कोई असाधारण बात नहीं है। पुजारी ब्रहंभट्ट आगे बताते है की ये शांति प्रार्थना, पैसा, नाम, शान-ओ-शौकत या जन्नत जैसी चीजों को पाने के लिए नहीं, बल्कि मन की शांति के लिए है।

आपको बता दें की जिस वैदिक शांति पाठ का उच्चारण व्हाइट हाउस मे किया गया, उसके श्लोक हिन्दू धर्म ग्रंथ यजुर वेद से लिए गए हैं। इन श्लोकों मे इंसान, स्वर्ग, ज़मीन, पानी, और पेड़ पौधे मे शांति स्थापित किए जाने की बात कही जा रही है।

इस मौके पर राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने देश को संबोधित करते हुए कहा की, ” इतिहास में, चुनौती के समय हमारे लोगों ने हमेशा, प्रार्थना की शक्ति और भगवान की अनंत महिमा का आह्वान किया है।” देश वासियों से अपील करते हुए डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा की वे भी इस संकट से लड़ने के लिए ईश्वर से हिम्मत और साहस का आशीर्वाद मांगें।

POST AUTHOR

Kumar Sarthak
•लेखक •घोर राजनीतिज्ञ• विश्लेषक• बकैत

जुड़े रहें

6,018FansLike
0FollowersFollow
173FollowersFollow

सबसे लोकप्रिय

धर्म निरपेक्षता के नाम पर हिन्दुओ को सालों से बेवकूफ़ बनाया गया है: मारिया वर्थ

यह आर्टिक्ल मारिया वर्थ के ब्लॉग पर छपे अंग्रेज़ी लेख के मुख्य अंशों का हिन्दी अनुवाद है।

विज्ञापनों पर पानी की तरह पैसे बहा रही केजरीवाल सरकार, कपिल मिश्रा ने लगाया आरोप

पिछले 3 महीनों से भारत, कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहा है। इन बीते तीन महीनों में, हम लगातार राज्य सरकारों की...

गाय के चमड़े को रक्षाबंधन से जोड़ने कि कोशिश में था PETA इंडिया, विरोध होने पर साँप से की लेखक शेफाली वैद्य कि तुलना

आज ट्वीटर पर मचे एक बवाल में PETA इंडिया का हिन्दू घृणा खुल कर सबके सामने आ गया है। ये बात...

भारत का इमरान को करारा जवाब, दिखाया आईना

भारत ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान द्वारा संयुक्त राष्ट्र महासभा में दिए गए भाषण पर आईना दिखाते हुए करारा जवाब दिया...

क्या अमनातुल्लाह खान द्वारा लिया गया ‘दान’, दंगों में खर्च हुए पैसों की रिकवरी थी? बड़ा सवाल!

फरवरी महीने में हुए दिल दहला देने वाले हिन्दू विरोधी दंगों को लेकर दिल्ली पुलिस आक्रमक रूप से लगातार कार्यवाही कर रही...

दिल्ली दंगा करवाने में ‘आप’ पार्षद ताहिर हुसैन ने खर्च किए 1.3 करोड़ रूपए: चार्जशीट

इस साल फरवरी में हुए हिन्दू विरोधी दिल्ली दंगों को लेकर आज दिल्ली पुलिस ने कड़कड़डूमा कोर्ट में चार्ज शीट दाखिल किया।...

जब इन्दिरा गांधी ने प्रोटोकॉल तोड़ मुग़ल आक्रमणकारी बाबर को दी थी श्रद्धांजलि

ये बात तब की है जब इन्दिरा गांधी भारत की प्रधानमंत्री हुआ करती थी। वर्ष 1969 में इन्दिरा गांधी काबुल, अफ़ग़ानिस्तान के...

रियाज़ नाइकू को ‘शिक्षक’ बताने वाले मीडिया संस्थानो के ‘आतंकी सोच’ का पूरा सच

कौन है रियाज़ नायकू? कश्मीर के आतंकवादी संगठन हिजबुल मुजाहिद्दीन का आतंकी कमांडर बुरहान वाणी 2016 में ...

हाल की टिप्पणी