Friday, May 14, 2021
Home टेक्नोलॉजी भारत सरकार की ओर से Koo को बढ़ावा देने पर Whatsapp के...

भारत सरकार की ओर से Koo को बढ़ावा देने पर Whatsapp के CEO चिंतित

व्हाट्सएप के प्रमुख विल कैथार्ट न केवल केंद्र सरकार के एन्क्रिप्शन को तोड़ने के उद्देश्य को लेकर, बल्कि स्वदेशी माइक्रो-ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म कू को बढ़ावा देने को लेकर चिंतित हैं।


व्हाट्सएप ( Whatsapp ) के प्रमुख विल कैथार्ट न केवल केंद्र सरकार के एन्क्रिप्शन को तोड़ने के उद्देश्य को लेकर, बल्कि स्वदेशी माइक्रो-ब्लॉगिंग ( Microblogging ) प्लेटफॉर्म कू ( Koo )को बढ़ावा देने को लेकर चिंतित हैं। बिग टेक्नोलॉजी पॉडकास्ट के होस्ट एलेक्स कांट्रोविट्ज से बात करते हुए, कैथार्ट ने कहा कि जहां वैश्विक इंटरनेट होने की गैरमौजूदगी में आपके पास अपने स्वयं के नियमों वाले देश हैं, तो इसमें एक गहरा जोखिम है और यह बुरा होगा, अगर सरकारें अपने स्वयं के मिनी-एप के साथ अपने स्वयं के मिनी-इंटरनेट का निर्णय लें।

हाल के दिनों में भारत सरकार की ट्विटर के साथ तनातनी देखने को मिली है। सरकार ने गलत सूचनाओं और संदिग्ध अकाउंट्स को हटाने के लिए ट्विटर को निर्देश दिए थे और इसी समय से ही इनके बीच तकरार पैदा हुई, जिसके बाद स्वदेशी एप कू को काफी बढ़ावा मिला है। ट्विटर के साथ मतभेद के बाद सरकार ने भी स्वदेशी एप को बढ़ावा देने पर जोर दिया है और इसी दिशा में कई केंद्रीय मंत्रियों के अलावा बड़ी हस्तियों ने कू प्लेटफॉर्म को अपनाया है।

भारत सरकार कू को आगे बढ़ा रही है, जो एक ट्विटर प्रतियोगी है। इससे जुड़े एक सवाल पर कैथार्ट ने कहा, “मुझे लगता है कि हमें इसके बारे में चिंतित होना चाहिए। मेरा मतलब है, यकीनन हमारे पास पहले से ही मेनलैंड चीन और बाकी दुनिया के साथ एक स्प्लिन्टरनेट है।”

व्हाट्सएप ( Whatsapp )  के सीईओ ने पिछले सप्ताह पॉडकास्ट के दौरान होस्ट से कहा था, “मुझे लगता है कि इस संबंध में एक जोखिम है।”

माइक्रो-ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म कू ने थोड़े ही समय में काफी सफलता हासिल की है और इसने अपनी स्थापना के कुछ ही समय में 40 लाख यूजर्स की संख्या को पार कर लिया है।
 

कू ( Koo ) के सह-संस्थापक मयंक बिदावत ने पिछले महीने आईएएनएस को बताया था कि उनका लक्ष्य इस वर्ष के अंत तक 10 करोड़ यूजर्स को जोड़ना है।

कू  ( Koo )  ने अपनी सीरीज ए फंडिंग के हिस्से के रूप में 41 लाख डॉलर जुटाए हैं।

यह भी पढ़ें : कई वेबसाइट बेच रही हैं “फर्जी रिव्यू” !

बिदावत ने कहा, “हम चाहते हैं कि कू विश्व स्तरीय एप बने और भारत के माइक्रो ब्लॉग के रूप में जाना जाए।”

व्हाट्सएप ( Whatsapp ) की भारत में यूजर्स के साथ डेटा साझा करने या फिर 15 मई के बाद उनके अकाउंट्स बंद करने की योजना की खासी आलोचना हुई है। इसी कारण अब यह भारत में गहन जांच का सामना कर रहा है।

इस बीच, केंद्र सरकार ने सोशल मीडिया ( Social Media ) बिचौलियों के लिए नए नियमों को भी अधिसूचित किया है, जिसमें कहा गया है कि सरकारी निर्देश या कानूनी आदेश के बाद प्लेटफार्मों को 36 घंटे के भीतर अपमानजनक सामग्री को हटाना होगा।

कैथार्ट ने हालांकि यह भी कहा कि लोगों को वैश्विक रूप से अधिक विकल्प होने से लाभ होता है।
( AK आईएएनएस ) 
 

POST AUTHOR

न्यूज़ग्राम डेस्क
संवाददाता, न्यूज़ग्राम हिन्दी

जुड़े रहें

7,635FansLike
0FollowersFollow
177FollowersFollow

सबसे लोकप्रिय

धर्म निरपेक्षता के नाम पर हिन्दुओ को सालों से बेवकूफ़ बनाया गया है: मारिया वर्थ

यह आर्टिक्ल मारिया वर्थ के ब्लॉग पर छपे अंग्रेज़ी लेख के मुख्य अंशों का हिन्दी अनुवाद है।

विज्ञापनों पर पानी की तरह पैसे बहा रही केजरीवाल सरकार, कपिल मिश्रा ने लगाया आरोप

पिछले 3 महीनों से भारत, कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहा है। इन बीते तीन महीनों में, हम लगातार राज्य सरकारों की...

भारत का इमरान को करारा जवाब, दिखाया आईना

भारत ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान द्वारा संयुक्त राष्ट्र महासभा में दिए गए भाषण पर आईना दिखाते हुए करारा जवाब दिया...

जब इन्दिरा गांधी ने प्रोटोकॉल तोड़ मुग़ल आक्रमणकारी बाबर को दी थी श्रद्धांजलि

ये बात तब की है जब इन्दिरा गांधी भारत की प्रधानमंत्री हुआ करती थी। वर्ष 1969 में इन्दिरा गांधी काबुल, अफ़ग़ानिस्तान के...

दिल्ली की कोशिश पूरे 40 ओवर शानदार खेल खेलने की : कैरी

 दिल्ली कैपिटल्स के विकेटकीपर एलेक्स कैरी ने कहा है कि टीम के लिए यह समय है टूर्नामेंट में दोबारा शुरुआत करने का।...

गाय के चमड़े को रक्षाबंधन से जोड़ने कि कोशिश में था PETA इंडिया, विरोध होने पर साँप से की लेखक शेफाली वैद्य कि तुलना

आज ट्वीटर पर मचे एक बवाल में PETA इंडिया का हिन्दू घृणा खुल कर सबके सामने आ गया है। ये बात...

दिल्ली दंगा करवाने में ‘आप’ पार्षद ताहिर हुसैन ने खर्च किए 1.3 करोड़ रूपए: चार्जशीट

इस साल फरवरी में हुए हिन्दू विरोधी दिल्ली दंगों को लेकर आज दिल्ली पुलिस ने कड़कड़डूमा कोर्ट में चार्ज शीट दाखिल किया।...

क्या अमनातुल्लाह खान द्वारा लिया गया ‘दान’, दंगों में खर्च हुए पैसों की रिकवरी थी? बड़ा सवाल!

फरवरी महीने में हुए दिल दहला देने वाले हिन्दू विरोधी दंगों को लेकर दिल्ली पुलिस आक्रमक रूप से लगातार कार्यवाही कर रही...

हाल की टिप्पणी