Never miss a story

Get subscribed to our newsletter


×
देश

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले क्यों मची है कृष्ण जन्मभूमि में हलचल?

मथुरा में एक संगठन ने घोषणा की है कि वह 6 दिसंबर को शाही ईदगाह में भगवान कृष्ण की मूर्ति स्थापित करेगा जिसके बाद से वहां सुरक्षा बढ़ा दी गई है बता दे, मस्जिद कृष्ण जन्मस्थान मंदिर के पास में है।

मथुरा में श्री कृष्ण जन्मभूमि के बगल में स्थित है मस्जिद।(Twitter)

आप सभी को याद होगा लोकसभा चुनाव 2019(Lok Sabha Elections 2019) के पहले 6 दिसंबर को किस तरह माहौल तैयार किया जा रहा था, ऐसा लग रहा था कि सरकार साधु संतों के दबाव में मंदिर निर्माण के लिए कुछ कदम उठाने जा रही है इसी तरह अबकी बार तैयारी कृष्ण जन्म भूमि के लिए लग रही है। दरअसल, थुरा(Mathura) में एक संगठन ने घोषणा की है कि वह 6 दिसंबर को शाही ईदगाह में भगवान कृष्ण की मूर्ति स्थापित करेगा, इसलिए वहां सुरक्षा बढ़ा दी गई है। मस्जिद कृष्ण जन्मस्थान मंदिर के पास में है।

एसएसपी (Mathura) गौरव ग्रोवर ने कहा, "जिले में पहले से ही धारा 144 लागू है। अफवाह फैलाने वालों या शहर के शांतिपूर्ण माहौल को बाधित करने की कोशिश करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। हमें जानकारी मिली है कि कुछ संगठन 6 दिसंबर को एक कार्यक्रम या एक पैदल मार्च (ईदगाह तक) आयोजित करने की कोशिश कर रहे हैं।" प्रशासन ने उनमें विश्वास जगाने के लिए अल्पसंख्यक समुदाय के सदस्यों के साथ संवाद स्थापित किया है। एसएसपी ने लोगों से कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए पुलिस के साथ मिलकर काम करने की अपील की है।

मथुरा(Mathura) में अल्पसंख्यक समुदाय के नेताओं के साथ बातचीत करने वाले सर्कल अधिकारी (शहर) अभिषेक तिवारी ने उन्हें आश्वासन दिया कि प्रशासन ने सुरक्षा उपाय किए हैं और कहा, 'किसी को भी शरारत करने की अनुमति नहीं दी जाएगी। ईदगाह(Idgah) पर अनुष्ठान करने की धमकी ऐसे समय में आई है जब एक स्थानीय अदालत 17वीं सदी की मस्जिद को हटाने की मांग वाली याचिकाओं पर सुनवाई कर रही है। हालांकि पुलिस ने कहा कि किसी भी कार्यक्रम के लिए कोई अनुमति जारी नहीं की गई है और किसी को भी अनुमति नहीं दी जाएगी।


यह भी पढ़े - मस्जिद है तो सड़क पर नमाज क्यों?

इस बीच, मथुरा में कौमी एकता मंच(Quami Ekta Manch) के सदस्यों ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ(yogi Adityanath) से 6 दिसंबर को अतिरिक्त सुरक्षा प्रदान करने का अनुरोध किया है। मंच के संस्थापक मधुवन दत्त चतुवेर्दी ने कहा कि शाही ईदगाह और श्रीकृष्ण जन्मस्थान संस्थान के प्रबंधन के बीच यथास्थिति बनाए रखने के लिए एक समझौते पर हस्ताक्षर किए 53 साल हो चुके हैं। हाल ही में, अखिल भारतीय तीर्थ पुरोहित महासभा, भारत के 90 से ज्यादा मंदिर के पुजारियों के एक 60 वर्षीय निकाय ने कहा कि इस मुद्दे को अनावश्यक रूप से उठाया जा रहा है और सभी संबंधित दलों को और ज्यादा सावधान रहना चाहिए क्योंकि यूपी में विधानसभा चुनाव नजदीक हैं।

input : आईएएनएस ; Edited by Lakshya Gupta

न्यूज़ग्राम के साथ Facebook, Twitter और Instagram पर भी जुड़ें/


Popular

5 राज्यों के विधानसभा चुनावों की तारीख़ की घोषणा के बाद कार्यकर्तओं के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पहला सवांद कार्यक्रम (Wikimedia Commons)


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए अपने संसदीय क्षेत्र वारणशी के भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के बूथ स्तर के कार्यकर्ताओं से बातचीत की। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भाजपा कार्यकर्ताओं से बात करते हुए कहा कि "उन्हें किसानों को रसायन मुक्त उर्वरकों के उपयोग के बारे में जागरूक करना चाहिए।"

नमो ऐप के जरिए प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने भाजपा के बूथ स्तर के कार्यकर्ताओं से बातचीत के दौरान बताया कि नमो ऐप में 'कमल पुष्प" नाम से एक बहुत ही उपयोगी एवं दिलचस्प सेक्शन है जो आपको प्रेरक पार्टी कार्यकर्ताओं के बारे में जानने और अपने विचारों को साझा करने का अवसर देता है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने नमो ऐप के सेक्शन 'कमल पुष्प' में लोगों को योगदान देने के लिए आग्रह किया। उन्होंने बताया की इसकी कुछ विशेषतायें पार्टी सदस्यों को प्रेरित करती है।

Keep Reading Show less

हुदा मुथाना वर्ष 2014 में आतंकवादी समूह आईएस में शामिल हुई थी। घर वापसी की उसकी अपील पर यूएस कोर्ट ने सुनवाई से इनकार कर दिया (Wikimedia Commons )

2014 में अमेरिका के अपने घर से भाग कर सीरिया के अतंकवादी समूह इस्लामिक स्टेट (आईएस) में शामिल होने वाली 27 वर्षीय हुदा मुथाना वापस अपने घर लौटने की जद्दोजहद में लगी है। हुदा मुथाना वर्ष 2014 में आतंकवादी समूह इस्लामिक स्टेट के साथ शामिल हुई साथ ही आईएस के साथ मिल कर सोशल मीडिया पर पोस्ट कर आतंकवादी हमलों की सराहना की और अन्य अमेरिकियों को आईएस में शामिल होने के लिए प्रोत्साहित किया था। हुदा मुथाना को अपने किये पर गहरा अफसोस है।

वर्ष 2019 में हुदा मुथाना के पिता ने संयुक्त राज्य अमेरिका (यूएस) के सुप्रीम कोर्ट में अमेरिका वापस लौटने के मामले पर तत्कालीन ट्रंप प्रशासन के खिलाफ मुक़द्दमा दायर किया था। संयुक्त राज्य अमेरिका (यूएस) के सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को बिना किसी टिप्पणी के हुदा मुथाना के इस मामले पर सुनवाई से इनकार कर दिया।

Keep Reading Show less

गूगल लॉन्च कर सकता है नया फोल्डेबल फोन जिसको कह सकते है "पिक्सल नोटपैड" (Pixabay)

सर्च ईंजन गूगल अपने पहले फ़ोल्डबल फ़ोन 'पिक्सल फोल्ड' को लॉन्च करने की योजना बना रही है। गूगल ने एक रिपोर्ट में दावा किया है कि इस फोल्डेबल फोन को पिक्सल नोटपैड कहा जा सकता है।
गिज्मोचाइना के रिपोर्ट के अनुसार, सिम सेटअप स्क्रीन के एनिमेशन में एक स्मार्टफोन दिखाया गया है जिसमें एक साधारण सिंगल-स्क्रीन डिजाइन नही बल्कि एक बड़ा फोल्डेबल डिस्प्ले है।

नाइन टू फाइव गूगल के अनुसार, यह डिवाइस गैलेक्सी जेड फोल्ड 3 से कम कीमत की हो सकती है। इस फोल्डेबल डिवाइस की कीमत 1,799 डॉलर हो सकती है।

Keep reading... Show less