Never miss a story

Get subscribed to our newsletter


×
टेक्नोलॉजी

विकिपीडिया के सह-संस्थापक ने कहा कि विकिपीडिया पर विश्वास न करें, यह वामपंथियों के हाथ में चला गया है

विकिपीडिया के सह-संस्थापक लैरी सेंगर ने यह कहा है कि विकिपीडिया पर अब निष्पक्ष स्रोत के रूप में भरोसा नहीं किया जा सकता है

(NewsGram Hindi)

विश्वभर में विकिपीडिया(Wikipedia) ने बच्चों और नवयुवकों में जानकारी के लिए प्रतिष्ठा प्राप्त की है, किन्तु विकिपीडिया(Wikipedia) के सह-संस्थापक लैरी सेंगर(Larry Sanger) ने यह कहा है कि विकिपीडिया(Wikipedia) पर अब निष्पक्ष स्रोत के रूप में भरोसा नहीं किया जा सकता है, वह इसलिए क्योंकि वामपंथी झुकाव वाले मानसिकताओं ने अपने एजेंडे में फिट नहीं होने वाली सभी खबर को विकिपीडिया से हटा दिया है।

Unherd से वार्ता करते हुए सेंगर(Larry Sanger) ने बात कही है जिसपर सभी ने ध्यान खींचा है। सेंगर(Larry Sanger) ने वामपंथी विचारों पर निशाना साधते हुए कहा कि “वह इस मूल्यांकन से सहमत हैं कि ‘डेमोक्रेटिक-झुकाव वाले लोगों की ‘टीम’ ऐसी सामग्री को विकिपीडिया(Wikipedia) से हटा देती हैं जो उनकी पसंद नहीं है, जिसमें अमेरिकी राष्ट्रपति ‘जो बिडेन’ और उनके बेटे हंटर बाइडन से जुड़े घोटालों की जानकारी शामिल भी है।”


सेंगर ने निष्पक्षता पर बात करते हुए विकिपीडिया पर निशाना साधा कि ” कई लोग ऐसे होंगे जो निष्पक्ष राजनीति के लेख विकिपीडिया पर लिखना चाहते हैं, किन्तु वह उन सभी को अनुमति नहीं देता है।” विकिपीडिया पर कटाक्ष करते हुए उन्होंने कहा कि “‘यह देखना काफी उल्लेखनीय है कि निष्पक्षता नीति अभी भी लागू है।” उन्होंने कहा कि “विकिपीडिया कई मीडिया संस्थाओं के समान है, जिसमें ‘ऐसा लगता है कि किसी भी विवादास्पद प्रश्न पर सच्चाई का केवल एक वैध बचाव योग्य संस्करण है। ‘बेशक, विकिपीडिया ऐसा नहीं हुआ करता था।”

विकिपीडिया वामपंथी विचारों के हाथ में चला गया है।(Canva)

लैरी सेंगर ने 2001 में जिमी वेल्स के साथ विकिपीडिया की स्थापना की, उन्होंने कहा कि क्राउडसोर्सिंग परियोजना ने ‘स्थापना’ के विचारों को प्रतिबिंबित करके अपने मूल मिशन को धोखा दिया है।

यह भी पढ़ें: रोल्स-रॉयस ऑल-इलेक्ट्रिक एयरक्राफ्ट पहली बार उड़ान भरने के लिए तैयार, वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाने में जगुआर लैंड रोवर कर रहा हैं मदद

लैरी सेंगर जिस बात को बता रहे हैं उससे तो यही ज्ञात हो रहा है कि विकिपीडिया पर वामपंथी विचारधाराओं ने कब्जा जमा लिया है। ऐसे कई मामले भारत में भी देखे गए हैं जिनसे लैरी सेंगर की चिंता वास्तविक दिखाई देती है। आपको याद होगा जब जाने-माने पत्रकार रोहित सरदाना के निधन के उपरांत उनके विकिपीडिया पेज पर इन्हीं वामपंथी मानसिकताओं ने अभद्र एवं झूठी जानकारी लिखी थी। हिंदुत्व के विषय में भी विकिपीडिया पर इसे एक संघ या पार्टी-विशेष की विचारधारा बताया गया है। हम देखना यह है कि लैरी की बात का यवाओं पर क्या असर होता है।(SHM)

Popular

नागरिक उड्डयन मंत्रालय की तरफ से चलाई जा रही है कृषि उड़ान 2.O योजना(Wikimedia commons)

नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया(Jyotiraditya Scindia) ने बुधवार को कृषि उड़ान 2.0' योजना का शुभारंभ करने के लिए आयोजित एक कार्यक्रम में भाग लिया। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए सिंधिया ने कहा कि 'कृषि उड़ान 2जेड.0' आपूर्ति श्रृंखला में बाधाओं को दूर कर किसानों की आय दोगुनी करने में मदद करेगी। यह योजना हवाई परिवहन द्वारा कृषि-उत्पाद की आवाजाही को सुविधाजनक बनाने और प्रोत्साहित करने का प्रस्ताव करती है।

सिंधिया(Jyotiraditya Scindia) ने कहा, "यह योजना कृषि क्षेत्र के लिए विकास के नए रास्ते खोलेगी और आपूर्ति श्रृंखला, रसद और कृषि उपज के परिवहन में बाधाओं को दूर करके किसानों की आय को दोगुना करने के लक्ष्य को प्राप्त करने में मदद करेगी। क्षेत्रों (कृषि और विमानन) के बीच अभिसरण तीन प्राथमिक कारणों से संभव है - भविष्य में विमान के लिए जैव ईंधन का विकासवादी संभावित उपयोग, कृषि क्षेत्र में ड्रोन का उपयोग और योजनाओं के माध्यम से कृषि उत्पादों का एकीकरण और मूल्य प्राप्ति।"

Keep Reading Show less

वन्य जीव अभयाण्य में अब हिरण, चीतल, तेंदुआ, लकड़बग्घा जैसे जानवरों का परिवार बढ़ गया है।(Pixabay)

कोरोना काल में जब सब कुछ बंद चल रहा था । झारखंड के पलामू टाइगर रिजर्व(Palamu Tiger Reserve) में कोरोना काल के दौरान सैलानियों और स्थानीय लोगों का प्रवेश रोका गया तो यहां जानवरों की आमद बढ़ गयी। इस वन्य जीव अभयाण्य में अब हिरण, चीतल, तेंदुआ, लकड़बग्घा जैसे जानवरों का परिवार बढ़ गया है। आप को बता दे कि लगभग एक दशक के बाद यहां हिरण की विलुप्तप्राय प्रजाति चौसिंगा की भी आमद हुई है। इसे लेकर परियोजना के पदाधिकारी उत्साहित हैं। पलामू टाइगर प्रोजेक्ट(Palamu Tiger Reserve) के फील्ड डायरेक्टर कुमार आशुतोष ने आईएएनएस से बातचीत में कहा कि लोगों का आवागमन कम होने जानवरों को ज्यादा सुरक्षित और अनुकूल स्पेस हासिल हुआ और इसी का नतीजा है कि अब इस परियोजना क्षेत्र में उनका परिवार पहले की तुलना में बड़ा हो गया है।

पिछले हफ्ते इस टाइगर रिजर्व(Palamu Tiger Reserve) के महुआडांड़ में हिरण की विलुप्तप्राय प्रजाति चौसिंगा के एक परिवार की आमद हुई है। फील्ड डायरेक्टर कुमार आशुतोष के मुताबिक एक जोड़ा नर-मादा चौसिंगा और उनका एक बच्चा ग्रामीण आबादी वाले इलाके में पहुंच गया था, जिसे हमारी टीम ने रेस्क्यू कर एक कैंप में रखा है। चार सिंगों वाला यह हिरण देश के सुरक्षित वन प्रक्षेत्रों में बहुत कम संख्या में है।

Palamu Tiger Reserve वन्य जीव अभयाण्य में अब हिरण, चीतल, तेंदुआ, लकड़बग्घा जैसे जानवरों का परिवार बढ़ गया है।(Unsplash)

Keep Reading Show less

एआईबीए विश्व मुक्केबाजी चैंपियनशिप में भारत की जीत(PIXABAY)

एआईबीए विश्व मुक्केबाजी चैंपियनशिप(AIBA World Boxing Championship) में भारत की जीत की लय को आगे बढ़ाते हुए दीपक भोरिया, सुमित और नरेंद्र ने सर्बिया के बेलग्रेड में चल रही चैंपियनशिप के दूसरे दिन शानदार जीत के साथ अपने अभियान को जारी रखा। खिताब के प्रबल दावेदारों में से एक, किर्गिस्तान के अजत उसेनालिव के खिलाफ, दीपक ने 51 किग्रा के शुरूआती दौर के मैच में एक शानदार प्रदर्शन किया। एशियाई चैंपियन उसेनलिव के कुछ प्रतिरोध के बावजूद, 24 वर्षीय दीपक अपनी जीत को सुनिश्चत करने में सफल रहे।

सुमित भी जमैका के मुक्केबाज(Boxing) ओनील डेमन के खिलाफ अपने 75 किग्रा के शुरूआती दौर के मैच के दौरान समान रूप से प्रभावी थे। उन्होंने अपने प्रतिद्वंद्वी के खिलाफ 5-0 से आसान जीत दर्ज की थी। दूसरी ओर, नरेंद्र को अपने पोलिश प्रतिद्वंद्वी ऑस्कर सफरियन से प्लस 92 किग्रा मुकाबले में कुछ कड़ी चुनौती का सामना करना पड़ा। हालांकि भारतीय खिलाड़ी ने 4-1 से अपनी जीत दर्ज की।

AIBA World Boxing Championship चैंपियनशिप के तीसरे दिन बुधवार को चार भारतीय मुक्केबाज अपनी चुनौती की शुरूआत करेंगे।(Pixabay)

Keep reading... Show less