Monday, January 25, 2021
Home ज़रूर पढ़ें सावधान! ठण्ड बढ़ा सकती है संक्रमण का खतरा

सावधान! ठण्ड बढ़ा सकती है संक्रमण का खतरा

ठंड धीरे धीरे हर तरफ दस्तक दे रही है और साथ ही साथ कुछ खतरों को भी आमंत्रण दे रही है और सबसे बड़ा खतरा है कोरोना संक्रमण का, जो कि ठंड में बढ़ सकता है।

एक अनुमान के अनुसार कोविड-19 का संक्रमण दर ठण्ड में बढ़ सकता है। अगर हाल की बात करें तब वैश्विक स्तर पर कोरोना के 330,000 लोग हर दिन इस संक्रमण की चपेट में आ रहे हैं।

केवल अमरीका में एक दिन का संक्रमण रिकॉर्ड स्तर पर पहुँच गया है, जो कि 64,000 है। चिंता की बात यह है कि अभी ठंड का शुरुआती दौर चल रहा है और संक्रमण पर काबू नहीं पाया जा सका है।

विश्व स्वास्थ संगठन के यूरोपीय निदेशक हंस क्लूज ने कहा है कि यूरोपीय महाद्वीप पर 1000 से ज्यादा लोग हर दिन कोरोना की वजह से जान गवा रहें हैं और पिछले 10 दिनों में 1 लाख से ज्यादा कोरोना संक्रमितों की पहचान की गई है। उन्होंने यह भी कहा कि इस महामारी के असर पर हम ठंड में भी काबू पा सकते हैं यदि हर नागरिक मास्क का पहनना मौजूदा 60 प्रतिशत से बढ़ाकर 95 प्रतिशत कर दे और सभी सोशल डिस्टैन्सिंग का पालन करे।

अमरीका के एक शीर्ष संक्रामक रोग विशेषज्ञ एंथनी फॉसी ने कहा कि अमरीकियों को दो से तीन बार अपनी योजनाओं पर सोचना होगा, जब नवम्बर के अंत में थैंक्सगिविंग के लिए वह अपने परिवार के साथ सार्वजनिक परिवाहनों में सफर करेंगे। यह खतरनाक भी हो सकता है।

यह भी पढ़ें: पीएम मोदी ने कोरोना से जुड़ी तैयारियों की समीक्षा की, जानिए क्या सब कहा?

एक मीडिया साक्षात्कार में फॉसी ने यह भी कहा कि जिन लोगों को पहले से अन्य बीमारियां हैं या जिनके घर पर वृद्ध हैं उन्हें ज़्यादा संभल कर रहने की ज़रूरत है और उन्हें इस महामारी के खत्म होने तक इंतज़ार करना चाहिए। आगे उन्होंने कहा कि इस समय हमें परिवार एवं अपने स्वास्थ के बारे में सोचने की ज़रूरत है।

भारत में हाल ही में त्योहारों का सीज़न शुरू हुआ है जिस वजह बाजार के काम, मेहमानों का आना-जाना बढ़ सकता है और अभी कोरोना महामारी पर नियंत्रण नहीं पाया जा सका है इसलिए हमे सतर्क और जागरूक रहने की जरूरत है और आस-पड़ोस के लोगों को भी जागरूक करने की आवश्यकता है। और तो और इस वक्त फेक और मनगढ़ंत खबरों का भरमार लगा हुआ है जिससे हमे बचने की आवश्यकता है और आगे फैलने से रोकने की जरूरत है।

आखिर में “हम सतर्क तो, देश सतर्क”

यह आर्टिक्ल VOA पर छपे एक अंग्रेज़ी लेख से प्रेरित है।

POST AUTHOR

Shantanoo Mishra
Poet, Writer, Hindi Sahitya Lover, Story Teller

जुड़े रहें

6,018FansLike
0FollowersFollow
177FollowersFollow

सबसे लोकप्रिय

धर्म निरपेक्षता के नाम पर हिन्दुओ को सालों से बेवकूफ़ बनाया गया है: मारिया वर्थ

यह आर्टिक्ल मारिया वर्थ के ब्लॉग पर छपे अंग्रेज़ी लेख के मुख्य अंशों का हिन्दी अनुवाद है।

विज्ञापनों पर पानी की तरह पैसे बहा रही केजरीवाल सरकार, कपिल मिश्रा ने लगाया आरोप

पिछले 3 महीनों से भारत, कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहा है। इन बीते तीन महीनों में, हम लगातार राज्य सरकारों की...

भारत का इमरान को करारा जवाब, दिखाया आईना

भारत ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान द्वारा संयुक्त राष्ट्र महासभा में दिए गए भाषण पर आईना दिखाते हुए करारा जवाब दिया...

जब इन्दिरा गांधी ने प्रोटोकॉल तोड़ मुग़ल आक्रमणकारी बाबर को दी थी श्रद्धांजलि

ये बात तब की है जब इन्दिरा गांधी भारत की प्रधानमंत्री हुआ करती थी। वर्ष 1969 में इन्दिरा गांधी काबुल, अफ़ग़ानिस्तान के...

गाय के चमड़े को रक्षाबंधन से जोड़ने कि कोशिश में था PETA इंडिया, विरोध होने पर साँप से की लेखक शेफाली वैद्य कि तुलना

आज ट्वीटर पर मचे एक बवाल में PETA इंडिया का हिन्दू घृणा खुल कर सबके सामने आ गया है। ये बात...

दिल्ली की कोशिश पूरे 40 ओवर शानदार खेल खेलने की : कैरी

 दिल्ली कैपिटल्स के विकेटकीपर एलेक्स कैरी ने कहा है कि टीम के लिए यह समय है टूर्नामेंट में दोबारा शुरुआत करने का।...

क्या अमनातुल्लाह खान द्वारा लिया गया ‘दान’, दंगों में खर्च हुए पैसों की रिकवरी थी? बड़ा सवाल!

फरवरी महीने में हुए दिल दहला देने वाले हिन्दू विरोधी दंगों को लेकर दिल्ली पुलिस आक्रमक रूप से लगातार कार्यवाही कर रही...

दिल्ली दंगा करवाने में ‘आप’ पार्षद ताहिर हुसैन ने खर्च किए 1.3 करोड़ रूपए: चार्जशीट

इस साल फरवरी में हुए हिन्दू विरोधी दिल्ली दंगों को लेकर आज दिल्ली पुलिस ने कड़कड़डूमा कोर्ट में चार्ज शीट दाखिल किया।...

हाल की टिप्पणी