Monday, May 17, 2021
Home राजनीति सॉफ्ट हिन्दुत्व के सहारे कांग्रेस मिशन 2022 फतह करने की फिराक में...

सॉफ्ट हिन्दुत्व के सहारे कांग्रेस मिशन 2022 फतह करने की फिराक में जुटी

वरिष्ठ राजनीतिक विश्लेषक रतनमणि लाल कहते है कि अब राजनीतिक दलों के मुस्लिम वोट बैंक नहीं रह गयी है। इसके पहले मुस्लिम वोट बैंक की तरह प्रयोग होता है। भाजपा ने इस राह को खत्म कर दिया है।

By: विवेक त्रिपाठी

उत्तर प्रदेश में करीब तीन दशक से सत्ता से विमुख कांग्रेस अब हिन्दुओं के बीच में जगह बनाने के प्रयास में लग गयी है। उसे लगता है कि साफ्ट हिन्दुत्व के सहारे 2022 का रण जीतना आसान होगा। इसीलिए वह अब इस कार्य में तेजी से लग गयी है।

बुधवार को किसान पंचायत में हिस्सा लेने सहारनपुर पहुंचीं कांग्रेस की यूपी प्रभारी प्रियंका वाड्रा को देखकर तो ऐसा ही लगा कि पार्टी हिन्दुत्व के लिए भी एक सॉफ्ट कोना तैयार कर रही है। सहारनपुर पहुंचीं प्रियंका के हाथों में रुद्राक्ष की माला और मंदिरों के दर्शन-पूजन यही संकेत दे रहे थे।

किसान पंचायत से पहले प्रियंका गांधी ने बाबा भूरा देव के दर्शन किए। इसके बाद शाकंभरी देवी मंदिर पहुंचीं। यहां पूजा अर्चना की और करीब 25 मिनट तक फर्श पर ध्यान में बैठी रहीं। इस दौरान भी उनके गले में रूद्राक्ष की माला देखी गई। शाकंभरी देवी मंदिर से प्रियंका खानकाह भी पहुंचीं।

उत्तर प्रदेश में लगातार ठोकरें खाती जा रही कांग्रेस अब सधे कदमों के साथ आगे बढ़ना चाहती है। उसी क्रम में गुरुवार को अचानक प्रियंका का कार्यक्रम प्रयागराज का बना है। मौनी अमावस्या के पर्व पर संगम में आस्था की डुबकी लगाएंगी। प्रियंका गांधी ने डीएम प्रयागराज को पत्र लिखकर इसकी जानकारी दी है। प्रियंका गांधी बगैर वीआईपी प्रोटोकॉल सामान्य स्नानार्थी की तरह संगम में गंगा स्नान करेंगी।

congress party in uttar pradesh
उत्तर प्रदेश में कांग्रेस अब हिन्दुओं के बीच में जगह बनाने के प्रयास में लग गयी है।(फाइल फोटो)

वरिष्ठ राजनीतिक विश्लेषक रतनमणि लाल कहते है कि अब राजनीतिक दलों के मुस्लिम वोट बैंक नहीं रह गयी है। इसके पहले मुस्लिम वोट बैंक की तरह प्रयोग होता है। भाजपा ने इस राह को खत्म कर दिया है। मुस्लिम समाज भी एक पार्टी के ऊपर विश्वास नहीं करता है। धीरे-धीरे वह पार्टी से अलग होकर अपना वोट देता है। ऐसे में मुस्लिम समाज को अपनी ओर आकर्षित करना लाभप्रद नहीं लग रहा है। इसीलिए पार्टियां बहुसंख्यक हिन्दू समाज में अपना कोना तलाश रही हैं। सपा मुखिया अखिलेश यादव भी मंदिर-मंदिर जा रहे हैं। वह अयोध्या को मॉडल सिटी बनाने की बात कर रहे हैं। कृष्ण और परशुराम पूजा करना शुरू कर दिया है।

उन्होंने कहा बसपा प्रमुख मायावती ने भी मुस्लिम लीडरशिप से किनारा कर लिया है। अब कांग्रेस ने स्पष्ट रूप से हिन्दू समाज के साथ जोड़ने का कार्यक्रम शुरू किया है। जो कि इस बात को दर्शाता है कि भाजपा को काउंटर करने के लिए हिन्दूवाद ज्यादा मुफीद होगा। कांग्रेस को लगता है कि अगर हमने मुस्लिम समाज से जोड़ा तो फिर एक बार हिन्दू भाजपा की ओर लामबंद हो जाएंगे। इससे अच्छा हिन्दुत्व को लेकर चलना ठीक है। जो हिन्दू भाजपा को किसी कारण पसंद नहीं करते हैं तो वह इन पार्टियों का रूख कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें: कांग्रेस का एक और विवादित बयान!

कांग्रेस के पूर्व प्रवक्ता किशोर वाष्र्णेय कहते हैं हिन्दुत्व किसी पार्टी की जागीर तो नहीं है। कांग्रेस पार्टी महात्मा गांधी वाले राम की भक्त है। हम राम के नाम को बेचते नहीं है। हम लोग भगवान के नाम को बेचते नहीं है। कांग्रेस ने हमेशा पूजा-पाठ में विश्वास रखा है। इसीलिए राजीव गांधी ने मंदिर का ताला खुलवाया था। उन्होंने बताया कि 1975 में इंदिरा भी संगम पहुंची थी। 2001 में सोनिया गांधी संगम आयी थी। उन्होंने संगम स्नान किया था। 18 मार्च 2019 को प्रिंयका गांधी संगम पहुंची थी। उन्होंने लेटे हनुमान जी के दर्शन किये थे। संगम में गंगाजल का आचमन किया था।

स्वाती हरि चैतन्य ब्रम्हचारी महाराज ने कहा कि गांधी नेहरू परिवार सनातनी धर्मी रहे हैं। नेहरू, इंदिरा जी कई बार संगम स्नान करने आए है। गांधी नेहरू परिवार शुरू से पूजा-पाठ करता चला आ रहा है। भावी पीढ़ी इस परिपाटी को और अच्छे से निभाएगी।(आईएएनएस)

POST AUTHOR

न्यूज़ग्राम डेस्क
संवाददाता, न्यूज़ग्राम हिन्दी

जुड़े रहें

7,635FansLike
0FollowersFollow
177FollowersFollow

सबसे लोकप्रिय

धर्म निरपेक्षता के नाम पर हिन्दुओ को सालों से बेवकूफ़ बनाया गया है: मारिया वर्थ

यह आर्टिक्ल मारिया वर्थ के ब्लॉग पर छपे अंग्रेज़ी लेख के मुख्य अंशों का हिन्दी अनुवाद है।

विज्ञापनों पर पानी की तरह पैसे बहा रही केजरीवाल सरकार, कपिल मिश्रा ने लगाया आरोप

पिछले 3 महीनों से भारत, कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहा है। इन बीते तीन महीनों में, हम लगातार राज्य सरकारों की...

भारत का इमरान को करारा जवाब, दिखाया आईना

भारत ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान द्वारा संयुक्त राष्ट्र महासभा में दिए गए भाषण पर आईना दिखाते हुए करारा जवाब दिया...

जब इन्दिरा गांधी ने प्रोटोकॉल तोड़ मुग़ल आक्रमणकारी बाबर को दी थी श्रद्धांजलि

ये बात तब की है जब इन्दिरा गांधी भारत की प्रधानमंत्री हुआ करती थी। वर्ष 1969 में इन्दिरा गांधी काबुल, अफ़ग़ानिस्तान के...

दिल्ली की कोशिश पूरे 40 ओवर शानदार खेल खेलने की : कैरी

 दिल्ली कैपिटल्स के विकेटकीपर एलेक्स कैरी ने कहा है कि टीम के लिए यह समय है टूर्नामेंट में दोबारा शुरुआत करने का।...

गाय के चमड़े को रक्षाबंधन से जोड़ने कि कोशिश में था PETA इंडिया, विरोध होने पर साँप से की लेखक शेफाली वैद्य कि तुलना

आज ट्वीटर पर मचे एक बवाल में PETA इंडिया का हिन्दू घृणा खुल कर सबके सामने आ गया है। ये बात...

दिल्ली दंगा करवाने में ‘आप’ पार्षद ताहिर हुसैन ने खर्च किए 1.3 करोड़ रूपए: चार्जशीट

इस साल फरवरी में हुए हिन्दू विरोधी दिल्ली दंगों को लेकर आज दिल्ली पुलिस ने कड़कड़डूमा कोर्ट में चार्ज शीट दाखिल किया।...

क्या अमनातुल्लाह खान द्वारा लिया गया ‘दान’, दंगों में खर्च हुए पैसों की रिकवरी थी? बड़ा सवाल!

फरवरी महीने में हुए दिल दहला देने वाले हिन्दू विरोधी दंगों को लेकर दिल्ली पुलिस आक्रमक रूप से लगातार कार्यवाही कर रही...

हाल की टिप्पणी