Saturday, June 12, 2021
Home दुनिया World Environment Day: प्रकृति के साथ अपने संबंधों को मजबूत बनाएं।

World Environment Day: प्रकृति के साथ अपने संबंधों को मजबूत बनाएं।

विश्व पर्यावरण दिवस, हमारे पर्यावरण की रक्षा के लिए दुनिया भर में जागरूकता और उचित कार्रवाई को प्रेरित करने के लिए मनाया जाता है।

विश्व पर्यावरण दिवस (World Environment Day 2021), हमारे पर्यावरण की रक्षा के लिए दुनिया भर में जागरूकता और उचित कार्रवाई को प्रेरित करने के लिए मनाया जाता है। 1972 में पहली बार संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 5 जून को “विश्व पर्यावरण दिवस” के रूप में नामित किया था। और पहली बार “केवल एक पृथ्वी” के नारे के साथ सन 1974 में विश्व पर्यावरण दिवस मनाया गया था। विश्व पर्यावरण दिवस (World Environment Day) पर्यावरण के सामने आने वाली समस्याएं, जैसे वायु प्रदूषण, प्लास्टिक प्रदूषण, पेड़ों की लगातार कटाई जैसे इन सभी कारणों को रोकने के लिए और जागरूकता बढ़ाने के इस मंच को तैयार किया गया था। 

विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर, वैश्विक आधिकारिक समारोह 4-5 जून को एक वर्चुअल लॉन्च गाला कार्यक्रम के माध्यम से आयोजित किया जाएगा। इस वर्ष इस कार्यक्रम की मेजबानी पाकिस्तान (Pakistan) कर रहा है। इस कार्यक्रम में विश्व भर के नेताओं, हस्तियों, सामाजिक कार्यकर्ताओं के प्रेरक संदेशों को भी शामिल किया जाएगा। 

COVID-19 का हमारे पर्यावरण पर प्रभाव।

हम सभी जानते हैं कि, हमारी दुनिया एक अभूतपूर्व महामारी से जूझ रही है। कोरोना वायरस (Corona Virus) की महामारी ने एक बात की तो पुष्टि कर दी है कि, मनुष्यों ने पारिस्थितिकी तंत्र को बहुत नुकसान पहुंचाया है। इसलिए कोरोना वायरस के वैश्विक संकट ने हमें प्राकृतिक पारिस्थितिक तंत्र और बदलती जैव विविधता पर पुनर्विचार करने के लिए मजबूर कर दिया है।

पहली बार “केवल एक पृथ्वी” के नारे के साथ सन 1974 में विश्व पर्यावरण दिवस मनाया गया था। (Pixabay)

विश्व पर्यावरण दिवस 2021 थीम : पारिस्थितिकी तंत्र की बहाली

पारिस्थितिकी तंत्र (Ecosystem) की बहाली का अर्थ होता है, प्रकृति के साथ हो रही क्षति को रोकना। ज्यादा से ज्यादा पेड़ लगाना, अपने शहर को हरा – भरा करना, नदियों – तटों को साफ रखना उसकी सफाई करना। इस विश्व पर्यावरण दिवस पर पारिस्थितिकी तंत्र की बहाली के साथ – साथ संयुक्त राष्ट्र अपने दशक की भी शुरुआत करेगा। 

संयुक्त राष्ट्र दशक 2021 से 2030 तक चलेगा। जो की सतत विकास लक्ष्यों की समय सीमा भी है और वैज्ञानिकों ने भी विनाशकारी जलवायु परिवर्तन को रोकने के लिए इसे अंतिम अवसर के रूप में पहचान की है। संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम (UNEP) और संयुक्त राष्ट्र के खाद्य और कृषि संगठन (FAO) के नेतृत्व में संयुक्त राष्ट्र दशक एक मजबूत वैश्विक आंदोलन का निर्माण कर रहा है। इसके अतिरिक्त पारिस्थितिकी तंत्र और जैव विविधता के बारे में युवाओं के दृष्टिकोण और भावनाओं को भी ध्यान में रखा जाएगा। यह विशेष रूप से 13 से 18 वर्ष के आयु के यूरोपीय और मध्य एशियाई लोगों के लिए होगा। इसका उद्देश्य यह पता लगाना है कि, उनके देश और क्षेत्र के पारिस्थितिकी तंत्र की बहाली के संबंध में उनका ज्ञान और अपेक्षाएं क्या हैं? वो इस बारे में क्या सोचते हैं? 

यह भी पढ़ें :- “विश्व पर्यावरण दिवस” के लिए राजधानी में अभियान शुरू!

जंगलों से लेकर खेतों तक, पहाड़ की चोटी से लेकर समुद्र की गहराइयों तक सभी को पुनर्जीवित करने का यह एक वैश्विक मिशन है। केवल एक स्वस्थ पारिस्थितिकी तंत्र के माध्यम से ही हम सभी लोगों, पशु पक्षियों और जानवरों की जिंदगियों को बचा सकते हैं। इस विश्व पर्यावरण दिवस हम यह सोचें और इस दिशा में कारगर कदम उठाए। हमें प्रकृति के साथ अपने संबंधों को मजबूत करना बेहद आवश्यक है। हमारे ग्रह के स्वस्थ के लिए तत्काल कार्रवाई कर, जलवायु परिवर्तन (Climate Change) का प्रतिकार कर। हम जैव विविधता के पतन को रोक सकते हैं। 

POST AUTHOR

जुड़े रहें

7,623FansLike
0FollowersFollow
177FollowersFollow

सबसे लोकप्रिय

धर्म निरपेक्षता के नाम पर हिन्दुओ को सालों से बेवकूफ़ बनाया गया है: मारिया वर्थ

यह आर्टिक्ल मारिया वर्थ के ब्लॉग पर छपे अंग्रेज़ी लेख के मुख्य अंशों का हिन्दी अनुवाद है।

विज्ञापनों पर पानी की तरह पैसे बहा रही केजरीवाल सरकार, कपिल मिश्रा ने लगाया आरोप

पिछले 3 महीनों से भारत, कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहा है। इन बीते तीन महीनों में, हम लगातार राज्य सरकारों की...

भारत का इमरान को करारा जवाब, दिखाया आईना

भारत ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान द्वारा संयुक्त राष्ट्र महासभा में दिए गए भाषण पर आईना दिखाते हुए करारा जवाब दिया...

जब इन्दिरा गांधी ने प्रोटोकॉल तोड़ मुग़ल आक्रमणकारी बाबर को दी थी श्रद्धांजलि

ये बात तब की है जब इन्दिरा गांधी भारत की प्रधानमंत्री हुआ करती थी। वर्ष 1969 में इन्दिरा गांधी काबुल, अफ़ग़ानिस्तान के...

दिल्ली की कोशिश पूरे 40 ओवर शानदार खेल खेलने की : कैरी

 दिल्ली कैपिटल्स के विकेटकीपर एलेक्स कैरी ने कहा है कि टीम के लिए यह समय है टूर्नामेंट में दोबारा शुरुआत करने का।...

गाय के चमड़े को रक्षाबंधन से जोड़ने कि कोशिश में था PETA इंडिया, विरोध होने पर साँप से की लेखक शेफाली वैद्य कि तुलना

आज ट्वीटर पर मचे एक बवाल में PETA इंडिया का हिन्दू घृणा खुल कर सबके सामने आ गया है। ये बात...

दिल्ली दंगा करवाने में ‘आप’ पार्षद ताहिर हुसैन ने खर्च किए 1.3 करोड़ रूपए: चार्जशीट

इस साल फरवरी में हुए हिन्दू विरोधी दिल्ली दंगों को लेकर आज दिल्ली पुलिस ने कड़कड़डूमा कोर्ट में चार्ज शीट दाखिल किया।...

क्या अमनातुल्लाह खान द्वारा लिया गया ‘दान’, दंगों में खर्च हुए पैसों की रिकवरी थी? बड़ा सवाल!

फरवरी महीने में हुए दिल दहला देने वाले हिन्दू विरोधी दंगों को लेकर दिल्ली पुलिस आक्रमक रूप से लगातार कार्यवाही कर रही...

हाल की टिप्पणी