Saturday, April 17, 2021
Home ज़रूर पढ़ें चिड़ियाघर में जानवरों के बदलते व्यवहार को देखते हुए सुविधाएं और बढ़ा...

चिड़ियाघर में जानवरों के बदलते व्यवहार को देखते हुए सुविधाएं और बढ़ा दी गई है|

करीब एक साल से बंद दिल्ली चिड़ियाघर आम जनता के लिए 1 अप्रैल से खुलने जा रहा है। ऐसे में अब जो लोग चिड़ियाघर देखने आएंगे उन्हें जू परिसर में कई बदलाव देखने को मिलेंगे।

करीब एक साल से बंद दिल्ली (Delhi) चिड़ियाघर (Zoo) आम जनता के लिए 1 अप्रैल से खुलने जा रहा है। ऐसे में अब जो लोग चिड़ियाघर देखने आएंगे उन्हें जू परिसर में कई बदलाव देखने को मिलेंगे। जानवरों (Animals) की प्रजातियों में बढोतरी के साथ-साथ परिसर में भारी संख्या में कैमरे और जानवरों के लिए किए गए काम साफ नजर आएंगे। दरअसल कोरोना काल के दौरान जानवरों के व्यवहार में सकारात्मक बदलाव देखा गया, इसी दौरान चिड़ियाघर में कार्यरत लोगों ने जानवरों के बदलते व्यवहार को देखते हुए सुविधाएं और बढ़ा दी।

इस दौरान जानवर बेहद खुश रहने लगे है, जिससे उनके खाने की क्षमता भी बढ़ी है। इतना ही नहीं चिड़ियाघर (Zoo) परिसर को और सुंदर बनाने का प्रयास किया गया है। ताकि लोगों को प्रवेश द्वार से ही चिड़ियाघर पसंद आने लगे।

दिल्ली चिड़ियाघर के निदेशक रमेश कुमार पांडेय (Ramesh kumar pandya) ने आईएएनएस को बताया कि, मौजूदा समय में चिड़ियाघर के अंदर 88 प्रजातियां हैं, जो कि पिछले साल 83 थी। कोरोना काल के दौरान कुछ प्रजातियां बढ़ी हैं, वहीं इस साल कुल 100 प्रजातियां करने का प्रयास किया जा रहा है। सभी प्रजातियों को मिलाकर जानवरों की कुल संख्या 1200 हो गई है। वहीं मौतौं की बात करें तो पिछले साल 170 के करीब थी, लेकिन इस साल करीब 120 जताई जा रही है, जो कि काफी कम है।”

उन्होने आगे कहा, ”दिल्ली चिड़ियाघर में कुल 20 फीसदी बूढ़े जानवर हैं जिनका ध्यान ज्यादा रखना पड़ रहा है। साथ ही हमने जानवरों की नयी प्रजातियों को लाने के लिए बहुत से अन्य चिड़ियाघरों से सम्पर्क किया हुआ है। आने वाले दिनों में यहां लोगों को कई नए जानवर देखने को मिलेंगे। कोरोना काल के दौरान 400 से अधिक कैमरे लगाए गए हैं, पहले ये बस जरूरत के अनुसार ही लगे हुए थे।

दरअसल चिड़ियाघर में जो प्राजतियाँ (Species) बढाई गई है उनमें वाइल्ड बोर (जंगली सुअर), कॉम्ब डक (नक्टा), ब्लैक पार्टीज (काला तीतर), ग्रे पार्टीज (सफेद तीतर) शामिल हुए हैं। वहीं जानकारी के अनुसार अगले चरण में चिंकारा, ऑस्ट्रिच, गुर्गल बतख आदि जानवरों को शामिल करने की कवायद जारी है

लॉकडाउन के बाद जानवरों में गुस्सा कम है थोड़ा शांत रह रहे हैं| (सांकेतिक चित्र,Pixabay)

हालांकि चिड़ियाघर को कोरोना वायरस (Coronavirus) के डर के चलते मे बंद करना पड़ा था, लेकिन इसका असर जानवरों पर बेहद सकारात्मक हुआ है। लॉकडाउन के बाद जानवरों में गुस्सा कम है थोड़ा शांत रह रहे हैं जानवर ज्यादातर खेलते नजर आ रहे हैं।

जानकारी के अनुसार जानवर इतने खुश हैं कि उनके खाने की क्षमता भी बढ़ गई है। इतना ही नहीं बंदी के दौरान चिड़ियाघर परिसर में अधिकारियों ने जानवरों को जंगल जैसा एहसास देनी को कोशिश भी की है।

मांसाहारी जानवरों के बाड़ों में बड़े बड़े लकड़ी के तख्त रखे गए हैं ताकि जानवर जिस तरह अपने शरीर को जंगलों में खुजाते हैं उसी तरह बाड़ों में भी खुजा सकें।

उनके लिए लकड़ी के प्लेटफार्म तैयार किए गए हैं जिसपर जानवर सर्दियों के दौरान बैठे नजर आए। वहीं गर्मियों के दौरान ये प्लेटफार्म के नीचे बैठ सकेंगे।

यह भी पढ़ें :- जिम कार्बेट टाइगर रिजर्व में, पहली बार 50 महिलाएं नेचर गाइड|

पक्षियों को भी प्राकृतिक (Natural) एहसास देने की कोशिश की गई है जिसका असर दिख भी रहा है। चिड़ियाघर में हुए इस बदलाव के बाद जानवर व्यवस्थित नजर आते हैं।

चिड़ियाघर परिसर में वन्य जानवरों से जुड़े चित्र भी बनाए गए है, इसमें वॉल पेंटिग शामिल है तो वहीं पुराने रखे कूड़ेदानों पर भी चित्र बनाए गए हैं ताकि जब लोग घूमने आएं तो उन्हें परिसर सुंदर लगे। (आईएएनएस-SM)

POST AUTHOR

न्यूज़ग्राम डेस्क
संवाददाता, न्यूज़ग्राम हिन्दी

जुड़े रहें

7,646FansLike
0FollowersFollow
177FollowersFollow

सबसे लोकप्रिय

धर्म निरपेक्षता के नाम पर हिन्दुओ को सालों से बेवकूफ़ बनाया गया है: मारिया वर्थ

यह आर्टिक्ल मारिया वर्थ के ब्लॉग पर छपे अंग्रेज़ी लेख के मुख्य अंशों का हिन्दी अनुवाद है।

विज्ञापनों पर पानी की तरह पैसे बहा रही केजरीवाल सरकार, कपिल मिश्रा ने लगाया आरोप

पिछले 3 महीनों से भारत, कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहा है। इन बीते तीन महीनों में, हम लगातार राज्य सरकारों की...

भारत का इमरान को करारा जवाब, दिखाया आईना

भारत ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान द्वारा संयुक्त राष्ट्र महासभा में दिए गए भाषण पर आईना दिखाते हुए करारा जवाब दिया...

दिल्ली की कोशिश पूरे 40 ओवर शानदार खेल खेलने की : कैरी

 दिल्ली कैपिटल्स के विकेटकीपर एलेक्स कैरी ने कहा है कि टीम के लिए यह समय है टूर्नामेंट में दोबारा शुरुआत करने का।...

जब इन्दिरा गांधी ने प्रोटोकॉल तोड़ मुग़ल आक्रमणकारी बाबर को दी थी श्रद्धांजलि

ये बात तब की है जब इन्दिरा गांधी भारत की प्रधानमंत्री हुआ करती थी। वर्ष 1969 में इन्दिरा गांधी काबुल, अफ़ग़ानिस्तान के...

गाय के चमड़े को रक्षाबंधन से जोड़ने कि कोशिश में था PETA इंडिया, विरोध होने पर साँप से की लेखक शेफाली वैद्य कि तुलना

आज ट्वीटर पर मचे एक बवाल में PETA इंडिया का हिन्दू घृणा खुल कर सबके सामने आ गया है। ये बात...

क्या अमनातुल्लाह खान द्वारा लिया गया ‘दान’, दंगों में खर्च हुए पैसों की रिकवरी थी? बड़ा सवाल!

फरवरी महीने में हुए दिल दहला देने वाले हिन्दू विरोधी दंगों को लेकर दिल्ली पुलिस आक्रमक रूप से लगातार कार्यवाही कर रही...

दिल्ली दंगा करवाने में ‘आप’ पार्षद ताहिर हुसैन ने खर्च किए 1.3 करोड़ रूपए: चार्जशीट

इस साल फरवरी में हुए हिन्दू विरोधी दिल्ली दंगों को लेकर आज दिल्ली पुलिस ने कड़कड़डूमा कोर्ट में चार्ज शीट दाखिल किया।...

हाल की टिप्पणी