संघ की अखिल भारतीय बैठक में पारित हो सकता है बांग्लादेश हिंदू नरसंहार के खिलाफ प्रस्ताव

यूपी सहित पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनावों के लिए भी महत्वपूर्ण है यह बैठक(Wikimedia commons)
यूपी सहित पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनावों के लिए भी महत्वपूर्ण है यह बैठक(Wikimedia commons)

कर्नाटक के धारवाड़ में 28 अक्टूबर से लेकर 30 अक्टूबर तक होने वाले राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ(Rashtriya Swayamsevak Sangh) के अखिल भारतीय कार्यकारी मंडल की बैठक होनी है। लेकिन बैठक से पूर्व अखिल भारतीय प्रचार प्रमुख सुनील आंबेकर ने कहा है कि कोरोना से निपटने के लिए देशभर में 1.5 लाख से अधिक स्थानों पर प्रशिक्षण कार्यक्रम हो चुका है, जिसमें 10 लाख से ज्यादा कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षित किया जा चुका है। जानकारी देते हुए सुनील आंबेकर ने कहा कि जुलाई महीने की बैठक में कार्यकतार्ओं के विशेष प्रशिक्षण को लेकर विचार विमर्श हुआ था। उन्होंने उम्मीद जताते हुए कहा कि आशा है कि तीसरी लहर न हो, लेकिन फिर भी परिस्थिति की समीक्षा के साथ तैयारी को लेकर इस 3 दिवसीय बैठक में चर्चा होगी।

आपको बता दें कि संघ(Rashtriya Swayamsevak Sangh) की इस अखिल भारतीय कार्यकारी मंडल की बैठक में भाजपा सहित संघ के सभी अनुषांगिक संगठन के प्रतिनिधि भी शामिल होंगे। इस बैठक में आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत, संघ के वरिष्ठ नेता, सभी प्रांतों व क्षेत्रों के संघचालक, कार्यवाह एवं प्रचारक तथा अखिल भारतीय कार्यकारिणी के सदस्य भी शामिल होंगे। इसके अलावा यह भी माना जा रहा है कि अगले साल होने वाले विधानसभा चुनावों के लिए या अखिल भारतीय बैठक महत्वपूर्ण साबित हो सकती है।

संघ के अखिल भारतीय कार्यकारी मंडल के बैठक स्थल ( राष्ट्रोत्थान विद्या केंद्र , धारवाड़) पर मीडिया से बात करते हुए सुनील आंबेकर ने कहा कि पिछले कुछ समय से बांग्लादेश में हिन्दुओं पर निरंतर हमले हुए हैं, हिंसा की घटनाएं हो रही हैं। इन घटनाओं की विश्व भर में निंदा हुई है। कार्यकारी मंडल की बैठक में हिन्दुओं के खिलाफ हिंसा की घटनाओं को लेकर चर्चा होगी, सर्वसम्मत निर्णय होने पर प्रस्ताव भी पारित होने की संभावना है। उन्होंने बताया कि बैठक में देश की स्वाधीनता के 75 वर्ष होने पर मनाए जा रहे अमृत महोत्सव, 2025 में संघ के 100 वर्ष पूरे होने पर होने वाले कार्यक्रमों, श्री गुरु तेगबहादुर जी के 400वें प्रकाश वर्ष पर होने वाले कार्यक्रमों के साथ-साथ संघ के कार्य विस्तार और अगले 3 वर्ष की योजना पर भी विस्तार से चर्चा होगी।

संघ(Rashtriya Swayamsevak Sangh) के अखिल भारतीय प्रचार प्रमुख सुनील आंबेकर ने बताया कि पिछले वर्ष से लेकर अभी जुलाई तक सारी बैठकें ऑनलाइन माध्यम के साथ ही कम संख्या में प्रत्यक्ष उपस्थिति के साथ संपन्न हुईं थीं। अब पहली बार पूर्ण उपस्थिति में कार्यकारी मंडल की बैठक हो रही है। उन्होंने बताया कि इससे पहले प्रतिनिधि सभा की बैठक में कार्य विस्तार की दृष्टि से जो योजना बनाई गई थी, उसके प्रगति की समीक्षा इस बैठक में की जाएगी। आंबेकर ने कहा कि 28 अक्टूबर को सुबह 9 बजे शुरू होने और 30 अक्टूबर को समाप्त होने वाले इस 3 दिवसीय बैठक के दौरान कोरोना प्रोटोकॉल का पूरी तरह से पालन किया जाएगा।

Input: आईएएनएस; Edited By: Lakshya Gupta

न्यूज़ग्राम के साथ Facebook, Twitter और Instagram पर भी जुड़ें!

Related Stories

No stories found.
hindi.newsgram.com