पकड़ा गया क्रिप्टो करेंसी (Crypto Currency) के नाम पर ठगी करने वाला शख्स

पकड़े गए आरोपी की पहचान प्रशांत सिंह निवासी प्रयागराज के रूप में हुई है।
 क्रिप्टो करेंसी के एक शातिर बदमाश को गिरफ्तार किया
क्रिप्टो करेंसी के एक शातिर बदमाश को गिरफ्तार कियाIANS

बोगस कंपनियां (Bogus Company) खुलवाकर बैंक खातों में ट्रेडिंग के नाम पर करोड़ों रुपए की धोखाधड़ी करने वाले गैंग के एक शातिर बदमाश को नोएडा (Noida) के साइबर सेल (Cyber Cell) पुलिस ने गिरफ्तार किया है। ये लोग चीन के कुछ लोगों के साथ मिलकर क्रिप्टो (Crypto) करेंसी के जरिए बोगस बैंक खातों में जमा करा लिए करते थे। पकड़े गए आरोपी की पहचान प्रशांत सिंह निवासी प्रयागराज के रूप में हुई है। आरोपी 31 साल का है और कंपनी सेक्रेटरी का काम करता था। दरअसल, सेक्टर-93 पूर्वांचल सिल्वर सिटी अपार्टमेंट के नितीश लांबा ने साइबर क्राइम थाने में एक मुकदमा दर्ज कराया था। जिसमें उन्होंने बताया कि उनको बीटीसी एनालिसिस के नाम वॉट्सऐप ग्रुप पर जोड़कर क्रिप्टो करेंसी को दोगुना करने पर इन लोगों ने 13 लाख 73 हजार 300 रुपए जमा कराए लिए। पुलिस ने जब जांच की तब मामले का खुलासा हुआ।

 क्रिप्टो करेंसी के एक शातिर बदमाश को गिरफ्तार किया
देश के लिए परेशानी का कारण बन सकते हैं केजरीवाल : CR Patil

ये गैंग बोगस कंपनी खुलने के बाद उसका एक फर्जी प्रोफाइल तैयार करता था। जिसमे इको ग्रीन प्राइवेट लिमिटेड गुरुग्राम (Eco Green Private Limited Gurugram), हरियाणा के सीओओ गौरव जोशी और कंपनी सेक्रेटरी आकाश गर्ग जयपुर राजस्थान के साथ मिलकर एक नई कंपनी ग्रीन ट्रुथ टेक्नोलॉजी प्रालि. बनाई। जिसमें अक्षय और आशुतोष आदि को डायरेक्टर बनाया। इसी कंपनी में ये लोगों को क्रिप्टो करेंसी को दोगुना करने का लालच देते थे। प्रशांत के कई साथी पहले जेल जा चुके हैं। इसमें अक्षत डी कुशवाहा, आशुतोष तिवारी, मिलिंद सिंह यादव शामिल है। गैंग के और लोगों को भी जल्द गिरफ्तार किया जाएगा। बताया गया ये लोग अब तक करोड़ों रुपए को धोखाधड़ी कर चुके हैं।

आईएएनएस/PT

Related Stories

No stories found.
hindi.newsgram.com